News Nation Logo
Breaking
Banner

मैकाले की मानसिकता वाले लोग कर रहे उच्च शिक्षण संस्थानों में नारेबाजी : योगी

योगी ने यहां 23वें राष्ट्रीय युवा उत्सव का उद्घाटन करने के बाद अपने सम्बोधन में किसी का नाम लिये बगैर कहा, ''देश 1947 में आजाद हुआ लेकिन उस वक्त बहुत से लोगों को गलतफहमी थी कि यह देश 1947 में बना.

Bhasha | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 13 Jan 2020, 12:23:08 AM
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

लखनऊ:  

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि लॉर्ड मैकाले की मानसिकता वाले लोग आजादी के वक्त अपने अतीत के प्रति अज्ञानतावश भारत को एक पूर्ण राष्ट्र मानने से इनकार करते रहे और यही लोग उच्च शिक्षण संस्थानों में भारत विरोधी नारेबाजी कर रहे हैं. योगी ने यहां 23वें राष्ट्रीय युवा उत्सव का उद्घाटन करने के बाद अपने सम्बोधन में किसी का नाम लिये बगैर कहा, ''देश 1947 में आजाद हुआ लेकिन उस वक्त बहुत से लोगों को गलतफहमी थी कि यह देश 1947 में बना. इसीलिये मैकाले की मानसिकता वाले लोगों ने उस बात को बढ़ाचढ़ाकर पेश किया कि हम राष्ट्र बनने की प्रक्रिया में हैं. कुछ लोगों ने उससे भी आगे जाकर कह दिया कि आई एम हिन्दू बाई एक्सीडेंट.''

मुख्यमंत्री ने हाल में जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हुई हिंसा की तरफ इशारा करते हुए कहा, ''जिन लोगों को भारत के अतीत की जानकारी ही नहीं वे भारत को एक राष्ट्र मानने से इनकार करते रहे. वे भारत के बारे में आज भी इस प्रकार की टिप्पणियां करते हैं. देश के कुछ चुनिन्दा उच्च शिक्षण संस्थानों में लगने वाले नारे इस बात के बारे में हम सबको निरन्तर कचोटते हैं. हम सबको सचेत भी करते हैं कि इस देश के खिलाफ षड्यंत्र के अड्डे कहां पर हैं.'' योगी ने केरल के पूर्व मुख्यमंत्री सी. अचुता मेनन ने 80 के दशक में लिखे एक लेख का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘ भारत एक राष्ट्र नहीं मानने वाले मेनन ने जब इस देश को गहराई से देखा तो पाया कि पूरे देश की भावनाएं एक जैसी हैं. अगर टुकड़े—टुकड़े गैंग के लोग इसी बात को सोच लेते हुए उनकी ऐसी मानसिकता नहीं होती.’’

मुख्यमंत्री ने युवा उत्सव में आये भी प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कहा कि इस दौरान आपको यहां पर पूरे देश से आये हुए इन युवा साथियों के जीवन के अनुभव को जानने और उनसे सीखने का मौका मिलेगा. कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री किरेन रिजीजू ने कहा कि लखनऊ में आयोजित 23वां राष्ट्रीय युवा उत्सव अब तक का सबसे बड़ा और भव्य उत्सव है. युवाओं का यह सम्मेलन अत्यन्त ऊर्जादायी है. उन्होंने कहा कि अभी तक भारत की पूरी शक्ति दुनिया को देखने को नहीं मिली है, लेकिन जल्द ही यह सबको दिखायी देगी. भविष्य में उत्तर प्रदेश खेलों की नई शक्ति बनकर उभरेगा. उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया के 20 प्रतिशत युवा मौजूद हैं इसलिए अब हमें ओलंपिक में ज्यादा पदक हासिल करने के लिए कार्य करना होगा. 

First Published : 13 Jan 2020, 12:23:08 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.