News Nation Logo
Banner

स्वच्छता रैंकिंग में 428 से बढ़कर 39वीं रैंक पर पहुंचा मथुरा-वृंदावन : श्रीकान्त शर्मा

 ऊर्जा मंत्री ने हरेकृष्ण मूवमेंट वृंदावन के स्वच्छता अभियान का चीर घाट पर शुभारंभ भी किया. उन्होंने कहा कि देश के प्रमुख धार्मिक-आध्यात्मिक- सांस्कृतिक शहर मथुरा-वृंदावन की वर्ष 2020 में स्वच्छता रैंकिंग 39 वीं रही. इसे जनसहयोग से नंबर वन बनाना है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 18 Jan 2021, 04:50:55 PM
Shrikant Sharma

श्रीकान्त शर्मा (Photo Credit: न्यूज नेशन )

नई दिल्ली:

ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री पं. श्रीकान्त शर्मा शनिवार को संतों और अधिकारियों के साथ वृंदावन में आयोजित होने जा रहे 'भव्य-दिव्य और सुरक्षित' कुंभ के लिए चल रहे विकास कार्यों का शनिवार को निरीक्षण किया. उन्होंने शेष कार्य दो हफ्तों में पूरा करने के निर्देश दिये.  उन्होंने कहा कि इन कार्यों की गुणवत्ता की निगरानी मंडलायुक्त लगातार करें. ऊर्जा मंत्री ने जुगल घाट से देवरहा बाबा घाट तक चल रहे कार्यों का पैदल निरीक्षण किया. कुंभ क्षेत्र से अतिक्रमण हटाने के साथ ही आगे के लिए विकसित और संरक्षित करने के निर्देश दिये. ऊर्जा मंत्री अयोध्या जी में भव्य व दिव्य श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए श्रीराम मंदिर धन संग्रह कार्यक्रम में मथुरा के राधापुरम और वृंदावन में सम्मिलित हुए और समर्पण निधि देने के लिए रामभक्तों से अपील की.

यह भी पढ़ें : मदुरै के परिवार ने शादी निमंत्रण पत्र पर छपवाया क्यूआर कोड

ऊर्जा मंत्री ने हरेकृष्ण मूवमेंट वृंदावन के स्वच्छता अभियान का चीर घाट पर शुभारंभ भी किया. उन्होंने कहा कि देश के प्रमुख धार्मिक-आध्यात्मिक- सांस्कृतिक शहर मथुरा-वृंदावन की वर्ष 2020 में स्वच्छता रैंकिंग 39 वीं रही. इसे जनसहयोग से नंबर वन बनाना है. ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मथुरा-वृंदावन के सर्वांगीण विकास के लिये भाजपा सरकार ने नगर निगम का गठन किया.

यह भी पढ़ें : कॉलगर्ल के साथ मिलकर चला रहे थे सेक्स रैकेट, यूपी पुलिस के 2 कॉन्स्टेबल निलंबित

मथुरा-वृंदावन नगर निगम क्षेत्र स्वच्छ सर्वेक्षण प्रतिस्पर्धा में वर्ष 2018 में 428 वीं रैंक पर था. यहां विशेष प्रयासों की आवश्यकता थी. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में चल रहे स्वच्छ भारत अभियान के तहत जनसहयोग और विभागीय प्रयासों से वर्ष 2019 में 1 से 10 लाख आबादी की श्रेणी के शहरों में यह फास्टेस्ट मूविंग सिटी बना और इसकी रैंक 133 हुई. लगातार उत्साह वर्धक नतीजे आये और अब यह 39 वें पायदान पर है.

यह भी पढ़ें : बुलंदशहर एसएसपी ने प्रेमी जोड़े की कराई शादी, प्रेमी था सिपाही

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि कान्हा की जन्मस्थली और लीलास्थली मथुरा जिले के सभी पवित्र तीर्थ स्थलों में एक अनुमान के मुताबिक साल में पांच करोड़ श्रद्धालु आते हैं. उन्होंने प्रमुख मंदिरों के नजदीक रात्रि में स्वच्छता कार्य करने के आदेश दिये और रात्रि निरीक्षण के दौरान इसका मुआयना भी किया. सरकार की मंशा है कि जब श्रद्धालु सुबह मंदिर आएं तो उनका गंदगी से सामना न हो.

यह भी पढ़ें : VIDEO: बलिया के सरकारी अस्पताल दिखी डॉक्टर की लापरवाही, इमरजेंसी लाइट से लगाए टांके

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि मथुरा-वृंदावन के हर कोने में सड़क बन रही है. सीवर लाइन बिछ रही है. यमुना में गिरने वाले गंदे नाले बंद किये जा रहे हैं. हर घर तक नल से पानी पहुंचाने का कार्य हो रहा है लेकिन यह सभी प्रयास तभी सार्थक होंगे जब बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को स्वच्छ मथुरा-वृन्दावन मिले और स्थानीय लोगों को गंदगी व इससे होने वाली बीमारियों से पूरी तरह निजात मिले. स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए मथुरा-वृंदावन में तीन साल में 121 करोड़ की निधि से सड़क, नाली, नाले, शौचालय, पार्क का कार्य निगम ने करवाया है.

ऊर्जा मंत्री ने ब्रजवासियों से आह्वान किया कि 'मेरो मथुरा-वृंदावन, स्वच्छ मथुरा-वृंदावन' का संकल्प पूरा करने में सहयोग करें. ऊर्जा मंत्री ने स्कूली छात्रों से अपील की कि उनकी भूमिका इसमें बेहद अहम है, वो खुद भी गंदगी न फैलायें और बड़ों को भी ऐसा करने पर टोकें. ऊर्जा मंत्री ने कहा कि यमुना के जल को आचमन योग्य बनाने में वर्ष 2021 बेहद महत्वपूर्ण है. इस वर्ष मथुरा-वृंदावन से गिरने वाले सभी 35 नालों की टैपिंग का कार्य पूर्ण होगा. उन्होंने आह्वान किया कि ब्रजवासी घाटों को स्वच्छ रखने में योगदान दें.

First Published : 18 Jan 2021, 04:46:51 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.