News Nation Logo
Banner

अयोध्या के विवादित ढांचा विध्वंस मामले में CBI कोर्ट में आज साध्वी ऋतम्भरा की पेशी

अयोध्या के विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में आज साध्वी ऋतम्भरा की पेशी होगी. बाबरी विध्वंस मामले में कल उमा भारती का बयान दर्ज हो सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 29 Jun 2020, 10:19:52 AM
sadhvi

साध्वी ऋतम्भरा (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

अयोध्या के विवादित ढांचा विध्वंस मामले में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में आज साध्वी ऋतम्भरा की पेशी होगी. बाबरी विध्वंस मामले में कल उमा भारती का बयान दर्ज हो सकता है. कल यानि मंगलवार को सीबीआई की विशेष अदालत अयोध्या प्रकरण में पेश होकर उमा भारती बयान दर्ज करा सकती है. अभी तक कई आरोपियों के बयान दर्ज हो चुके हैं. पहले कोर्ट की तरफ से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बयान दर्ज होने की तारीख दी गयी थी. अब इस मामले में कोई भी बयान वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये दर्ज नही होंगे. फिलहाल सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश होना पड़ेगा.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने अयोध्या विवाद (Ayodhya Dispute) पर फैसला सुनाते हुए मुस्लिम पक्ष को 5 एकड़ जमीन मस्जिद (Mosque) निर्माण के लिए दिए जाने का आदेश दिया था. प्रदेश सरकार की ओर से इसके लिए कई जगहों का चयन किया गया था. अब सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Sunni Waqf Board) को अयोध्या में मस्जिद निर्माण कराने के लिए सोहावल तहसील के रौनाही क्षेत्र के धन्नीपुर में आधिकारिक रूप से ज़मीन आवंटित कर दी गई. जानकारी के मुताबिक यह जमीन राम जन्मभूमि से लगभग 25 किलोमीटर दूर स्थित है.

सुन्नी वक्फ बोर्ड ने स्वीकार की जमीन
सरकार के जमीन प्रस्ताव को सुन्नी वक्फ बोर्ड ने स्वीकार कर लिया है. डीएम अनुज झा ने बताया कि सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से स्वीकार पत्र भी मिल चुका है. आधिकारिक आवंटन के बाद कानूनन 5 एकड़ जमीन अब सुन्नी वक्फ बोर्ड को दे दी गई है. उस जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड मस्जिद के साथ साथ अन्य कार्य के लिए भी अधिकृत हो गया है. सुन्नी वक्फ बोर्ड को जमीन आवंटन के बाद अब सुन्नी वक्फ बोर्ड भी मस्जिद निर्माण या अन्य गतिविधियां भी आवंटित जमीन पर शुरू कर सकता है.

मुस्लिम बहुल इलाके में दी जमीन
प्रशासन की ओर से जिस जमीन का चयन किया गया वह मुस्लिम बहुल इलाका है. इसके साथ ही वो सरकारी जमीन है और कृषि विभाग की है. इसी जमीन के पास शाह गदा बाबा की पुरानी मज़ार भी है, जहां इलाके के लोग हर साल उर्स के दौरान बड़ी संख्या में पहुंचते हैं.

First Published : 29 Jun 2020, 08:52:14 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×