News Nation Logo
Banner

योगी मंत्रिमंडल के 48 मंत्रियों में रीता बहुगुणा समेत पांच महिलाओं को मिली जगह

उत्तर प्रदेश में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद रविवार को उत्तर प्रदेश के 21 वें मुख्यमंत्री के तौर पर महंत योगी आदित्यनाथ ने 48 मंत्रियों के साथ शपथ ली। इनमें 5 महिलाओं को भी जगह मिली है।

IANS | Edited By : Soumya Tiwari | Updated on: 19 Mar 2017, 11:39:58 PM

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद रविवार को उत्तर प्रदेश के 21 वें मुख्यमंत्री के तौर पर महंत योगी आदित्यनाथ ने 48 मंत्रियों के साथ शपथ ली। इनमें 5 महिलाओं को भी जगह मिली है।

इनमें रीता बहुगुणा जोशी, स्वाति सिंह, अनुपमा जायसवाल, गुलाब देवी और अर्चना पाण्डेय शामिल हैं। यह जगह मिलने का कारण है कि किसी ने मुलायम की बहू तो किसी ने मुलायम के भतीजे को चुनाव में हराया था।

यह भी पढ़ें- योगी कैबिनेट में ब्राह्मण और क्षत्रियों का दबदबा, एक मुस्लिम और तीन दलितों को भी मिली जगह

रीता बहुगुणा जोशी : कांग्रेस का दामन छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में आईं रीता बहुगुणा जोशी ने मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव को राजधानी की कैंट सीट से हराया। यही वजह है कि रीता बहुगुणा जोशी को योगी आदित्यनाथ के मंत्रिमंडल में कैबिनेट मंत्री के तौर पर जगह मिली है।

स्वाति सिंह : भाजपा नेता और स्वाति सिंह के पति दयाशंकर सिंह के मायावती पर विवादित टिप्पणी के बाद पहली बार मीडिया के सामने आने वाली स्वाति ने बसपा सुप्रीमो मायावती सहित बसपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं के बयानों का जवाब दिया, उससे वो रातोंरात सुर्खियों में आ गईं। भाजपा ने उन्हें लखनऊ के सरोजनी नगर विधानसभा सीट से मैदान में उतरा था। जहां स्वाति सिंह ने मुलायम सिंह के भतीजे अनुराग यादव को हराया।

यह भी पढ़ें- बीएसपी प्रमुख मायावती बोंली, BJP ने आरएसएस एजेंडे के तहत योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाया

अनुपमा जायसवाल : बहराइच सदर सीट से भाजपा नेता अनुपमा जायसवाल ने जीत दर्ज की। गौरतलब है कि बीते 25 साल से इस सीट पर सपा का कब्जा था। लेकिन अनुपमा की अगुवाई में यहां भगवा का झंडा फहरने लगा। जो इलाका मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में गिना जाता है। इस सीट पर पूर्व मंत्री डॉ. वकार अहमद शाह की पत्नी रुबाब सईदा को हराकर अनुपमा जायसवाल ने जीत दर्ज की।

गुलाब देवी : संभल की चंदौसी सीट से गुलाब देवी को मैदान में उतारा था। वो पार्टी के दलित चेहरे के रूप में भी जानी जाती हैं। इस बार चुनाव में गुलाब देवी ने सपा-कांग्रेस गठबंधन की प्रत्याशी विमलेश कुमारी को हराया। गुलाब की यह जीत संभल की सबसे बड़ी जीत थी।

अर्चना पांडे : अर्चना पांडे पूर्व मंत्री रामप्रकाश त्रिपाठी की बेटी हैं। अर्चना छिबरामऊ से पहली बार विधायक बनी हैं। ब्राह्मण चेहरा होने की वजह से उन्हें योगी सरकार में राज्यमंत्री बनाया गया है।

First Published : 19 Mar 2017, 11:02:00 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.