News Nation Logo
Banner

राम मंदिर निर्माण की बाधाएं जल्द दूर होंगी : विश्व हिन्दू परिषद

दक्षिणी दिल्ली के रामकृष्ण पुरम स्थित विहिप मुख्यालय में इस अवसर पर मंत्र जाप में भाग लेते हुए विहिप कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार ने कहा कि पूज्य संतों के आदेशानुसार आयोजित इस देशव्यापी जनजागरण कार्यक्रम से जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण में आने वाली सभी विघ्न बाधाएं अवश्य दूर होंगी.

IANS | Updated on: 06 Apr 2019, 08:06:38 PM

नई दिल्ली:

श्री राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण में आने वाली बाधाओं को दूर करने हेतु विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने शनिवार को देश भर में 'श्रीराम जय राम जय जय राम' नामक विजय महामंत्र का जाप आयोजित किया. दक्षिणी दिल्ली के रामकृष्ण पुरम स्थित विहिप मुख्यालय में इस अवसर पर मंत्र जाप में भाग लेते हुए विहिप कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार ने कहा कि पूज्य संतों के आदेशानुसार आयोजित इस देशव्यापी जनजागरण कार्यक्रम से जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण में आने वाली सभी विघ्न बाधाएं अवश्य दूर होंगी.

उन्होंने कहा कि निर्माण का रास्ता अदालत से निकले या सरकार या संसद से भगवान श्री राम के मंदिर की भव्यता के दर्शन हेतु सम्पूर्ण देश आतुर है. विक्रमी सम्वत 2076 की बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि श्रीराम मंदिर के संकल्प के साथ आनंद संवत्सर की सर्व सिद्धि योग की अमृत बेला में विजय महामन्त्र की तेरह मालाओं का यह जप अनुष्ठान सम्पूर्ण हिन्दू समाज के लिए अनुकूल परिणाम लाएगा.

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2019: राहुल गांधी ने फिर की आडवाणी पर टिप्पणी, BJP के इस नेता ने दिया ऐसा जवाब

उन्होंने कहा, "आज विक्रमी सम्वत 2076 के सूर्योदय की पहली किरण से ही देशभर में विजय महामन्त्रों का जाप प्रारम्भ हो गया. पूज्य संतों व ज्योतिषविदों के अनुसार इस आनंद संवत्सर के प्रथम दिन के सूर्योदय से ही पुष्प नक्षत्र प्रारम्भ हो जाएगा, जो सर्व सिद्धि योग की अमृत बेला भी है. इस शुभ अवसर पर संकल्प के साथ की जाने वाली सभी सद्कामनाएं अवश्य पूरी होती हैं."

उन्होंने कहा कि इसी कारण प्रयाग में आयोजित कुम्भ की धर्म संसद में पूज्य संतों ने सभी रामभक्तों को 'श्री राम जय राम जय जय राम' नामक 13 अक्षरीय विजय मंत्र देकर कहा था कि इसका 13 करोड़ वार जाप भगवान श्रीराम की जन्मभूमि पर मन्दिर की भव्यता में आने वाली समस्त विघ्न-बाधाओं को दूर करेगा.

एक फरवरी, 2019 को श्रीराम जन्मभूमि हेतु धर्म संसद में पारित एक प्रस्ताव में कहा गया था कि इस विजय महामंत्र का जाप प्रतिपदा यानी छह अप्रैल के सूर्योदय से प्रारम्भ कर सभी राम भक्त 13-13 मालाओं का जाप अवश्य करें.

First Published : 06 Apr 2019, 08:06:33 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो