News Nation Logo
Banner

Uttar Pradesh: पत्रकारों को बंद करने पर प्रियंका गांधी ने किया पलटवार, जनता के सवालों से मुंह बिचका रही योगी सरकार

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (yogi adityanath) के मुरादाबाद (Moradabad) में जिला अस्पताल के दौरे के दौरान पत्रकारों को कमरे में बंद किए जाने को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने राज्य सरकार पर हमला बोला है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 30 Jun 2019, 11:57:59 PM
कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (yogi adityanath) के मुरादाबाद (Moradabad) में जिला अस्पताल के दौरे के दौरान पत्रकारों को कमरे में बंद किए जाने को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने राज्य सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा, प्रचंड बहुमत पाने वाली उप्र भाजपा सरकार जनता के सवालों से ही मुंह बिचका रही है.

यह भी पढ़ेंः मध्य प्रदेश: बारिश से सूखी नदी में आई बाढ़, पुलिया का निर्माण कर रहे 7 मजदूर फंसे; देखें Video

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, पत्रकार बंधक बनाए जा रहे हैं, सवालों पर पर्दा डाला जा रहा है, समस्याओं को दरकिनार किया जा रहा है. प्रचंड बहुमत पाने वाली उप्र भाजपा सरकार जनता के सवालों से ही मुंह बिचका रही है. नेताजी ये पब्लिक है ये सब जानती है. सवाल पूछेगी भी और जवाब लेगी भी.

यह भी पढ़ेंः कश्मीर के बारामूला में दुकानदार को पेट और पैरों में मारी गोली 

गौरतलब है कि मुरादाबाद के डीएम पर आरोप है कि जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अस्पताल का दौरा करने वाले थे तो उससे ठीक पहले डीएम राकेश कुमार सिंह ने अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में दर्जनों मीडियाकर्मियों को बंद करवा दिया. इससे पत्रकार बदहाल अस्पताल से जुड़े सवाल सीएम योगी से ना पूछ सकें. मुख्यमंत्री जब अस्पताल का दौरा करके वापस लौट गए तो इमरजेंसी वार्ड का दरवाजा खोला गया तो पत्रकार बाहर निकलें.

यह भी पढ़ेंः 271 करोड़ रुपये और बच्चों के साथ लापता हुई दुबई की रानी, जानिए क्या थी वजह

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, डीएम राकेश कुमार सिंह (DM Rakesh Kumar Singh) ने इस मामले में सफाई दी है. उन्होंने कहा, सोशल मीडिया पर एक गलत खबर फैलाई जा रही है कि मीडियाकर्मियों को इमरजेंसी वार्ड में बंद कर दिया गया था. जबकि सही ये है कि हॉस्पिटल वार्ड में भारी संख्या में एकत्रित मीडियाकर्मियों को अगर जाने दिया जाता तो इलाज करा रहे मरीजों को दिक्कत का सामना करना पड़ता. उन्हें इंफेक्शन का भी खतरा रहता. इसलिए जाने से रोका गया था. इन बातों को ध्यान में रखते हुए मीडियाकर्मियों को इमरजेंसी वार्ड के गेट पर रोक दिया गया था ना कि बंद किया गया था.

First Published : 30 Jun 2019, 11:57:59 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो