News Nation Logo

पीजीआई और केजीएमयू में आज से कोरोना की पूल टेस्टिंग शुरू, एक साथ कई सैंपल जांचे जाएंगे

स्वास्थ्य विभाग अब बड़ी लैब में इस तरह की टेस्टिंग शुरू करने जा रहा है. शुरुआत में डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के सैंपल ही पूल टेस्टिंग से जांचे जाएंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 23 Apr 2020, 02:30:07 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

Coronavirus (Covid-19) : पीजीआई और केजीएमयू में आज से कोरोना (Coronavirus (Covid-19), Lockdown Part 2 Day 1, Lockdown 2.0 Day one, Corona Virus In India, Corona In India, Covid-19) की पूल टेस्टिंग शुरू की जा सकती है. इसके तहत कई सैंपल एक साथ जांचे जाएंगे. प्रदेश में इससे पहले मेरठ और आगरा में इस तरह की टेस्टिंग (Pool Testing) हो रही है. इस बीच सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने भी इसे बढ़ावा देने को कहा है. यही कारण है कि स्वास्थ्य विभाग अब बड़ी लैब में इस तरह की टेस्टिंग शुरू करने जा रहा है. शुरुआत में डॉक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ के सैंपल ही पूल टेस्टिंग से जांचे जाएंगे. इनके संक्रमित होने के आसार कम होते हैं. इसके बाद उन जिलों के सैंपलों की पूल टेस्टिंग होगी.

यह भी पढ़ें- Coronavirus (Covid-19) संक्रमण का वैश्विक आंकड़ा 26 लाख के पार, एक लाख 83 हजार से अधिक मौत

एक दो संक्रमित वाले जिलों से आने वाले सैंपल पूल टेस्टिंग से जांचे जाएंगे

जहां कम संक्रमित हैं. मसलन, रायबरेली में इस समय वक्त संक्रमित संख्या बढ़ गए हैं, तो वहां से आने वाले सैंपलों की पूल टेस्टिंग नहीं होगी. इसके उलट कोरोना मुक्त या एक दो संक्रमित वाले जिलों से आने वाले सैंपल पूल टेस्टिंग से जांचे जाएंगे. कोरोना वायरस (COVID 19) से पीड़ित कोई भी मरीज अभी तक बहराइच में नहीं था, इसलिए बहराइच के लोग काफी चैन की सांस ले रहे थे. लेकिन देर रात डॉक्टर राम मनोहर लोहिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस लखनऊ से आई रिपोर्ट में 8 मरीज पॉजिटिव पाए गए. जिससे जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया.

यह भी पढ़ें- सवाई माधोपुर में कोरोना के 5 नए केस आने से इलाके में लगा कर्फ्यू, घरों में रहने की अपील

आठों मरीजों को एल वन सुविधा में रखा जाएगा

आनन-फानन देर रात में ही आला अधिकारियों की एक बैठक हुई, जिसमें यह निर्णय लिया गया कि सभी आठों मरीजों को एल वन सुविधा में रखा जाएगा. मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ डी के सिंह ने बताया कि टोटल आठ केस मिले हैं, जिसमें 6 ज़िला अस्पताल में भर्ती है.एक केस जो पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष रूपानी के परिवार की महिला हैं, वह गाज़ियाबाद से आंख का ऑपरेशन कराकर लौटी हैं. इनका पहले रैपिड टेस्ट कराया गया था, जो निगेटिव निकला था. लेकिन बाद में स्वाब लेकर टेस्ट कराया गया जो पॉजिटिव निकला. इनको होम क्वारेंटाइन किया गया था, एक को शेल्टर होम में और 6 को जिला अस्पताल में आइसोलेट किया गया है.

First Published : 23 Apr 2020, 02:23:05 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.