News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

PM मोदी बोले - आजादी के बाद लंबे समय तक स्वास्थ्य के क्षेत्र में कम दिया गया ध्यान

PM Narendra Modi Varanasi Visit: 25 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जनसभा को संबोधित करेंगे. यहां प्रधानमंत्री 5229.96 करोड़ की 30 योजनाओं का लोकार्पण करेंगे.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 25 Oct 2021, 02:45:44 PM
PM Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Photo Credit: ANI)

highlights

  • वाराणसी में जनसभा को भी करेंगे संबोधित 
  • बनारस-गोरखपुर हाईवे का करेंगे लोकार्पण

वाराणसी:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे हैं. यहां उन्होंने यूपी को 9 मेडिकल कॉलेजों की सौगात दी. पीएम मोदी परियोजनाओं के लोकार्पण और आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ करने के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे. जनसभा वाराणसी के आराजीलाइन विकासखंड के रिंग रोड 2 के पास मेहंदीगंज गांव में होनी है. कोरोनाकाल के बाद ये पीएम मोदी की पहली जनसभा है. इसके पहले पीएम मोदी 15 जुलाई को वाराणसी आए थे और लगभग 1583 करोड़ की 280 छोटी-बड़ी परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया था.पीएम मोदी इस दौरान वाराणसी-गोरखपुर हाईवे का भी लोकार्पण करेंगे. 

बीते सालों की एक और बड़ी उपलब्धि अगर काशी की रही है, तो वो है BHU का फिर से दुनिया में श्रेष्ठता की तरफ अग्रसर होना. आज टेक्नॉलॉजी से लेकर हेल्थ तक, BHU में अभूतपूर्व सुविधाएं तैयार हो रही हैं. देशभर से यहां युवा साथी पढ़ाई के लिए आ रहे हैं - पीएम मोदी

रिंग रोड के अभाव में काशी में जाम की क्या स्थिति होती थी, इसे आपने वर्षों तक अनुभव किया है. अब रिंग रोड बनने से प्रयागराज, लखनऊ, सुलतानपुर, गोरखपुर, दिल्ली कहीं भी जाना हो तो उसके लिए शहर में नहीं आना पड़ेगा - पीएम मोदी 

आज काशी का हृदय वही है, मन वही है, लेकिन काया को सुधारने का ईमानदारी से प्रयास हो रहा है. जितना काम वाराणसी में पिछले 7 साल में हुआ है, उतना पिछले कई दशकों में नहीं हुआ - पीएम मोदी 

यूपी में जिस तेजी के साथ नए मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं, उसका बहुत अच्छा प्रभाव मेडिकल की सीटों और डॉक्टरों की संख्या पर पड़ेगा. ज्यादा सीटें होने की वजह से अब गरीब माता-पिता का बच्चा भी डॉक्टर बनने का सपना देख सकेगा और उसे पूरा कर सकेगा - पीएम मोदी 

आज केंद्र और राज्य में वो सरकार है जो गरीब, दलित, शोषित-वंचित, पिछड़े, मध्यम वर्ग, सभी का दर्द समझती है. देश में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं - पीएम मोदी  

आयुष्मान भारत योजना ने 2 करोड़ से अधिक गरीबों का अस्पताल में मुफ्त इलाज भी करवाया है. इलाज से जुड़ी अनेक परेशानियों को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के जरिए हल किया जा रहा है - पीएम मोदी 

आजादी के बाद 70 साल में देश में जितने डॉक्टर्स मेडिकल कॉलेजों से पढ़कर निकले हैं. उससे ज्यादा डॉक्टर अगले 10-12 वर्षों में देश को मिलने जा रहे हैं - पीएम मोदी 

आज केंद्र और राज्य में वो सरकार है जो गरीब, दलित, शोषित-वंचित, पिछड़े, मध्यम वर्ग, सभी का दर्द समझती है. देश में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं - पीएम मोदी 

यूपी में जिस तेजी के साथ नए मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं, उसका बहुत अच्छा प्रभाव मेडिकल की सीटों और डॉक्टरों की संख्या पर पड़ेगा. ज्यादा सीटें होने की वजह से अब गरीब माता-पिता का बच्चा भी डॉक्टर बनने का सपना देख सकेगा और उसे पूरा कर सकेगा - पीएम मोदी 

इसके तहत गांवों और शहरों में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोले जा रहे हैं, जहां बीमारियों को शुरुआत में ही डिटेक्ट करने की सुविधा होगी. इन सेंटरों में फ्री मेडिकल कंसलटेशन, फ्री टेस्ट, फ्री दवा जैसी सुविधाएं मिलेंगी. गंभीर बीमारी की स्थिति में उसके इलाज के लिए 600 से अधिक जिलों में क्रिटिकल केयर से जुड़े 35,000 से ज्यादा नए बेड तैयार किए जाएंगे - पीएम मोदी

योजना का दूसरा पहलू, रोगों की जांच के लिए टेस्टिंग नेटवर्क से जुड़ा है. इस मिशन के तहत, बीमारियों की जांच, उनकी निगरानी कैसे हो, इसके लिए ज़रूरी इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास किया जाएगा - पीएम मोदी 

आजादी के बाद के लंबे कालखंड में आरोग्य पर, स्वास्थ्य सुविधाओं पर उतना ध्यान नहीं दिया गया, जितनी देश को जरूरत थी. देश में जिनकी लंबे समय तक सरकारें रहीं, उन्होंने देश के हेल्थकेयर सिस्टम के संपूर्ण विकास के बजाय, उसे सुविधाओं से वंचित रखा - पीएम मोदी 

हमारे हेल्थकेयर सिस्टम में जो बड़ी कमी रही, उसने गरीब और मिडिल क्लास में इलाज को लेकर हमेशा बनी रहने वाली चिंता पैदा कर दी. आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन देश के हेल्थकेयर सिस्टम की इसी कमी को दूर करने का एक समाधान है - पीएम मोदी

आज काशी के इंफ्रास्ट्रकचर से जुड़े करीब 5,000 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट्स का भी लोकार्पण अभी किया गया है. इसमें सड़कों से लेकर, घाटों की सुंदरता, गांगा जी और वरुणा की साफ-सफाई, पुलों, पार्किंग स्थलों, BHU में अनेक सुविधाओं से जुड़े अनेक कई और प्रोजेक्ट शामिल हैं - पीएम मोदी 

आजादी के बाद के लंबे कालखंड में आरोग्य पर, स्वास्थ्य सुविधाओं पर उतना ध्यान नहीं दिया गया, जितनी देश को जरूरत थी. देश में जिनकी लंबे समय तक सरकारें रहीं, उन्होंने देश के हेल्थकेयर सिस्टम के संपूर्ण विकास के बजाय, उसे सुविधाओं से वंचित रखा - पीएम मोदी 

भविष्य में महामारी से बचाव के लिए हमारी तैयारी उच्च स्तर की हो, गांव और ब्लॉक स्तर तक हमारे हेल्थ सिस्टम में आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता आए इसके लिए आज काशी से मुझे 64,000 करोड़ रुपये आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन राष्ट्र को समर्पित करने का सौभाग्य मिला है - पीएम मोदी 

काशी के मेरे भाइयों-बहनों, आज इस मंच पर दो बड़े कार्यक्रम हो रहे हैं. एक भारत सरकार का और पूरे भारत के लिए 64,000 करोड़ रुपये से भी ज्यादा रकम का ये कार्यक्रम आज काशी की पवित्र धरती से लांच हो रहा है. दूसरा काशी और पूर्वांचल के विकास के हजारों करोड़ रुपये के कार्यक्रमों का लोकार्पण हो रहा है. दोनों कार्यक्रमों को मिलाकर आज करीब-करीब 75,000 करोड़ रुपये के कामों का आज लोकार्पण हो रहा है - पीएम मोदी  

आज ही कुछ समय पहले एक कार्यक्रम में मुझे उत्तर प्रदेश को 9 नए मेडिकल कॉलेज अर्पण करने का मौका भी मिला है. इससे पूर्वांचल और पूरे UP के  करोड़ों गरीबों, दलितों, पिछड़ों शोषितों, वंचितों जैसे समाज के सब वर्गों को बहुत फायदा होगा - पीएम मोदी 

देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है. बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से, मां गंगा के अविरल प्रताप से, काशीवासियों के अखंड विश्वास से, सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन का अभियान सफलता से आगे बढ़ रहा है - पीएम मोदी 

पीएम मोदी ने भोजपुरी में अपना संबोधन शुरु किया. 

देश में 100 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगी. यह अपने आप में ऐतिहासिक कदम है- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने वाराणसी को 5200 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात दी. 

पीएम मोदी का संबोधन शुरु

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी को कई विकास परियोजनाओं की सौगात दी.

वाराणसी पहुंचे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सिद्धार्थनगर से वाराणसी पहुंच गए हैं. थोड़ी देर में वह आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की शुरुआत करेंगे. 

वाराणसी पहुंचे PM मोदी, आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की करेंगे शुरुआत

पीएम मोदी बोले - 4 दिन पहले 100 करोड़ के वैक्सिनेशन का लक्ष्य हासिल किया जिसमें यूपी का बड़ा योगदान है. यूपी के हर जिले में कोरोना से निपटने से लिये बच्चों की केयर यूनिट बन चुकी है. 500 से ज्यादा ऑक्सीजन प्लांट पर काम चल रहा है. यही सबका साथ, सबका विश्वास और सबका विकास है. दीवाली और छठ इस बार आरोग्य का नया विश्वास बनकर आया है. 

पीएम मोदी बोले - अब समय पर भूमिपूजन और लोकार्पण समय पर होता है. पिछली सरकारों ने 6 मेडिकल कॉलेज बनवाये थे पर योगीजी के कार्यकाल में 16 बन चुके हैं. पहले दशक में डॉक्टरों की कमी के लिए जो नियम कायदे बनाये गए वो पुराने ढर्रे पर चल रही थी. 2014 से पहले मेडिकल की सीटें 90 हजार से कम थी पर 2014 के बाद 60,000 नई सीटें जोड़ी गयी हैं. 17 से पहले 1900 कुल सीट यूपी में मेडिकल की थी पर इस सरकार में नई 1900 सीटें बढाई गई. 

पीएम मोदी बोले - पहले के लोगों का लक्ष्य अपने लिए कमाना और अपनी तिजोरी भरना था. बीमारी अमीर गरीब कुछ नही देखती. 7 साल पहले दिल्ली और यूपी में जो सरकार थी वो सिर्फ घोषणा करके बैठ जाते थे। बिल्डिंग, मटेरियल कुछ नही थी. यूपी में पिछली सरकार में भ्रष्टाचार की साइकिल 24 घण्टे चलती थी. 

पीएम मोदी बोले - हर साल सैकड़ों युवाओं के लिए मेडिकल का नया रास्ता खुल गया है. जो इलाके पिछली सरकारों में बीमार छोड़ दिये गए थे वो अब मेडिकल हब बनेगा और सेहत का नया उजाला देंगे. योगीजी को जब जनता ने मौका दिया तो उन्होंने यहां के बच्चों को मरने से बचा लिया. आज़ादी के पहले और बाद में मूलभूत सुविधाओं और चिकित्सा को कभी प्रभावी नहीं बनाया है, हर समस्या के लिए उनको बड़े शहर जाना पड़ता था. 

पीएम मोदी बोले - आज का दिन पूर्वांचल के साथ यूपी के लिए आरोग्य की डबल डोज और उपहार लेकर आया है. इसके बाद पूर्वांचल से ही देश के लिए मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की बड़ी योजना शुरू होने जा रही है जिसे काशी में लांच करूंगा. केंद्र और यूपी की सरकार अनेक कर्मयोगियों की तपस्या का फल है.

सालों-साल तक या तो बिल्डिंग ही नहीं बनती थी, बिल्डिंग होती थी तो मशीनें नहीं होती थीं, दोनों हो गईं तो डॉक्टर और दूसरा स्टाफ नहीं होता था. ऊपर से गरीबों के हजारों करोड़ रुपये लूटने वाली भ्रष्टाचार की सायकिल चौबीसों घंटे अलग से चलती रहती थी - पीएम मोदी 

सात साल पहले जो दिल्ली में सरकार थी और चार साल पहले जो यहां यूपी में सरकार थी, वो पूर्वांचल में क्या करते थे? जो पहले सरकार में थे, वो वोट के लिए कहीं डिस्पेंसरी की, कहीं छोटे-मोटे अस्पताल की घोषणा करके बैठ जाते थे- पीएम मोदी  

क्या कभी किसी को याद पढ़ता है कि उत्तर प्रदेश के इतिहास में कभी एक साथ इतने मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण हुआ हो? बताइए, क्या कभी ऐसा हुआ है? पहले ऐसा क्यों नहीं होता था और अब ऐसा क्यों हो रहा है, इसका एक ही कारण है- राजनीतिक इच्छाशक्ति और राजनीतिक प्राथमिकता - पीएम मोदी  

यूपी के भाई-बहन भूल नहीं सकते कि कैसे योगी जी ने संसद में यूपी की बदहाल मेडिकल व्यवस्था की व्यथा सुनाई थी. योगी जी तब सांसद थे, और अब आज यूपी के लोग ये भी देख रहे हैं कि योगी जी को जब जनता-जनार्दन ने सेवा का मौका दिया, तो कैसे उन्होंने दिमागी बुखार को बढ़ने से रोक दिया- पीएम मोदी

जिस पूर्वांचल की छवि पिछली सरकारों ने खराब कर दी थी, जिस पूर्वांचल को दिमागी बुखार से हुई दुखद मौतों की वजह से बदनाम कर दिया गया था, वही पूर्वांचल, वही उत्तर प्रदेश, पूर्वी भारत को सेहत का नया उजाला देने वाला है- पीएम मोदी 

9 नए मेडिकल कॉलेजों के निर्माण से, करीब ढाई हज़ार नए बेड्स तैयार हुए हैं, 5 हज़ार से अधिक डॉक्टर और पैरामेडिक्स के लिए रोज़गार के नए अवसर बने हैं. इसके साथ ही हर वर्ष सैकड़ों युवाओं के लिए मेडिकल की पढ़ाई का नया रास्ता खुला है- पीएम मोदी  

सिद्धार्थनगर के नए मेडिकल कॉलेज का नाम माधव बाबू के नाम पर रखना उनके सेवाभाव के प्रति सच्ची कार्यांजलि है. माधव बाबू का नाम यहां से पढ़कर निकलने वाले युवा डॉक्टरों को जनसेवा की निरंतर प्रेरणा भी देगा- पीएम मोदी

आज केंद्र में जो सरकार है, यहां यूपी में जो सरकार है, वो अनेकों कर्मयोगियों की दशकों की तपस्या का फल है. सिद्धार्थनगर ने भी स्वर्गीय माधव प्रसाद त्रिपाठी जी के रूप में एक ऐसा समर्पित जनप्रतिनिधि देश को दिया, जिनका अथाह परिश्रम आज राष्ट्र के काम आ रहा है- पीएम मोदी

आज केंद्र में जो सरकार है, यहां यूपी में जो सरकार है, वो अनेकों कर्मयोगियों की दशकों की तपस्या का फल है. सिद्धार्थनगर ने भी स्वर्गीय माधव प्रसाद त्रिपाठी जी के रूप में एक ऐसा समर्पित जनप्रतिनिधि देश को दिया, जिनका अथाह परिश्रम आज राष्ट्र के काम आ रहा है- पीएम मोदी

यहां सिद्धार्थनगर में यूपी के 9 मेडिकल कॉलेजों का लोकार्पण हो रहा है, इसके बाद पूर्वांचल से ही पूरे देश के लिए बहुत जरूरी मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर की बड़ी योजना शुरू होने जा रही है- पीएम मोदी 

पीएम मोदी का संबोधन शुरू

आज का दिन पूर्वांचल के लिए, पूरे उत्तर प्रदेश के लिए आरोग्य की डबल डोज लेकर आया है, आपके लिए एक उपहार लेकर आया है- पीएम मोदी

कोरोनाकाल में मोदी जी के नेतृत्व क्षमता दिखाईः सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम नरेंद्र मोदी को 'भगवान बुद्ध की मूर्ति' भेंट की.


पीएम मोदी 5229.96 करोड़ की इन योजनाओं का करेंगे लोकार्पण

- 28.78 करोड़ रुपये में बीएचयू गर्ल्स हास्टल में 200 रुम
- 27.82 करोड़ रुपये में बीएचयू के राजपूताना ग्राउंड में स्टूडेंट एक्टिविटी सेंटर
- 70 करोड़ रुपये में बीएचयू में धनराजगिरी ब्यायज ब्लाक हास्टल ब्लाक
- 40 करोड़ रुपये में बीएचयू में रेजीडेंसियल अपार्टमेंट
- 6.60 करोड़ रुपये में पलही पट्टी में विज्ञान व वाणिज्य संकाय विभाग की स्थापना
- 26.21 करोड़ रुपये में कोनियाघाट का यमुना पर पुल निर्माण
- 4.96 करोड़ रुपये मंडी परिषद में पेस्टिसाइड लैब सहित अन्य विकास कार्य
- 1.70 करोड़ रुपये में आराजी लाइन में बायोगैस प्लांट पर एग्रीकल्चर फार्म व अन्य कार्य
- 23 करोड़ रुपय में शहंशाहपुर स्थित बायोगैस प्लांट
- 2.75 करोड़  रुपये में आईटीआई करौंदी में आवासीय भवन
- 19.14 करोड़ रुपये में दो लेन का कालिकाधाम पुल
-18.66 करोड़ रुपये में वाराणसी कैंट से पड़ाव मार्ग
- 10.85 करोड़ रुपये में चांदपुर आस्थान में सड़क और सीवर का काम
- 3509.14 करोड़ रुपये में वाराणसी गोरखपुर एनएच-29 का पैकेज-2
- 1011.29 करोड़ रुपये में रिंग रोड-2 का पैकेज -1
- 72.91 करोड़ रुपये में 10 एमएलसडी क्षमता की रामनगर एसटीपी
- 201.65 करोड़ रुपये में वरुणा का तट सौंदर्यीकरण और चैनलाइजेशन
- 2.59 करोड़ रुपये में चकरा तालाब का विकास व सौंदर्यीकरण
- 6.94 करोड़ रुपये में पद्मविभूषण गिरिजा देवी मल्टीपरपज हाल का उच्चीकरण
- 15.80 करोड़ रुपये में गंगा गोमती के कैथी संगम तक का सौंदर्यीकरण
- 10.78 करोड़ रुपये में गोदौलिया से दशाश्वमेध घाट का सौंदर्यीकरण
- 2.02 करोड़ रुपये में दशाश्वमेध से मुंशी घाट तक सौंदर्यीकरण
- 1.68 करोड़ रुपये में शूल टंकेश्वर घाट पर पर्यटन विकास
- 26.77 करोड़ रुपये में सर्किट हाउस पर अंडरग्राउंड पार्किंग
- 23.31 करोड़ रुपये में टाउन हाल पार्किंग और पार्क
- 13.53 करोड़ रुपये में राजमंदिर वार्ड का पुनरोद्धार
-16.22 करोड़ रुपये में दशाश्वमेध वार्ड का पुनरोद्धार
-12.65 करोड़ रुपये में जंगमबाड़ी वार्ड का पुनरोद्धार
-16.97 करोड़ रुपये में शहर के आठ कुंडों का सौंदर्यीकरण
- 2.74 करोड़ रुपये में राजघाट से मालवीय पुल तक पर्यटन विकास

पीएम मोदी लगभग 5229 करोड़ की 30 परियोजनाओं का लोकार्पण करके सौगात भी देंगे और राष्ट्रीय आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की लॉन्चिंग भी वाराणसी से करेंगे.

First Published : 25 Oct 2021, 09:15:32 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.