News Nation Logo
Banner

डबल डेकर स्टीमर में बैठ नमामि गंगे योजना की हकीकत जानेंगे PM मोदी

'नमामी गंगे' परियोजना की समीक्षा करने और पवित्र नदी पर योजना के प्रभाव देखने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कानपुर में गंगा नदी में नौकायन करेंगे

IANS | Updated on: 13 Dec 2019, 02:29:44 PM
नमामि गंगे योजना की हकीकत जानने नौकायन करते नजर आएंगे PM मोदी

नमामि गंगे योजना की हकीकत जानने नौकायन करते नजर आएंगे PM मोदी (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नौका विहार के लिए वाराणसी से डबल डेकर स्टीमर को कानपुर लाया गया है.
  • राम मंदिर निर्माण का मामला खत्म होने के बाद सरकार की प्रमुख परियोजना में एक 'नमामी गंगे' भी है.
  • अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी 'नमामी गंगे' परियोजना को लेकर कुछ घोषणाएं भी कर सकते हैं.

लखनऊ:

'नमामी गंगे' परियोजना की समीक्षा करने और पवित्र नदी पर योजना के प्रभाव देखने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को कानपुर में गंगा नदी में नौकायन करेंगे. नेशनल गंगा कांउसिल की पहली बैठक शनिवार को है. ऐसे में बैठक में भाग लेने के लिए 12 केंद्रीय मंत्री, नौ केंद्रीय विभागों के सचिव, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री और बिहार के मुख्यमंत्री को देर शुक्रवार कानपुर पहुंचने के लिए कहा गया है.

हालांकि ऐसी संभावना है कि दो राज्य, जहां से गंगा नदी गुजरती है, यानी पश्चिम बंगाल और झारखंड, वहां के मुख्यमंत्री शनिवार को होने वाली इस बैठक का हिस्सा नहीं बनेंगे. एक ओर जहां पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बैठक में आने की रजामंदी अभी तक नहीं दी है, वहीं झारखंड में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं, जिससे राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास शायद ही आएं.

यह भी पढ़ेंः राजस्थान में भी होगी शराबबंदी! फैसले से पहले अधिकारी बिहार में कर रहे स्टडी

अपनी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी 'नमामी गंगे' परियोजना को लेकर कुछ घोषणाएं भी कर सकते हैं. यह परियोजना पिछले कुछ सालों में नदी के जल में कोई बदलाव ला पाने में विफल रही है. कानपुर में होने वाली बैठक के बाद प्रधानमंत्री कानपुर में नौकायन करेंगे. गोमुख से गंगासागर तक बहने वाली इस नदी का कानपुर में पड़ने वाला हिस्सा सबसे अधिक प्रदूषित माना जाता है. इससे यह स्पष्ट संदेश मिलता है कि सरकार इस परियोजना को लेकर गंभीरता बरतने वाली है.

भाजपा के एक सूत्र ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मामला खत्म होने के बाद सरकार की प्रमुख परियोजना में एक 'नमामी गंगे' भी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ गुरुवार को कानपुर आए शहरी विकास विभाग के प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने कहा कि कानपुर में नदी में सभी 16 नालों से बहने वाले 300 एमएलडी को गुरुवार रात से स्थायी रूप से बंद कर दिया गया है.

यह भी पढ़ेंः सहारनपुर और अलीगढ़ में इंटरनेट सेवा पर DM ने लगाई रोक, ये है बड़ी वजह

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि नदियों में प्रदूषक तत्वों को डालने वाले सीवर और नालियों के बंद होने से नदी के जल में उल्लेखनीय परिवतर्न नजर आएगा. उन्होंने कहा, "सीसामउ नाला, जो प्रतिदिन 140 मेगा लीटर गंदगी गंगा में डालता है, उसे अधिकारियों ने बंद करा दिया है. अब गंदगी को जाजामउ और बिंगवान ट्रीटमेंट प्लांट की ओर मोड़ दिया गया है."

First Published : 13 Dec 2019, 02:29:44 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो