News Nation Logo
Banner

योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण में आएंगे पीएम मोदी! ऐसे बनेगा मंत्रिमंडल

Written By : निशांत राय | Edited By : Keshav Kumar | Updated on: 17 Mar 2022, 11:34:05 AM
cm yogi and pm modi

पीएम मोदी के दिए समय के मुताबिक होगा शपथ ग्रहण (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • दिल्ली में यूपी सरकार के गठन को लेकर 5 घंटे 45 मिनट शीर्ष नेताओं का मंथन 
  • उत्तर प्रदेश के प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने चुनाव नतीजे का गहन विश्लेषण सामने रखा
  • जिसकी जितनी तादाद भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी के तर्ज पर यूपी में योगी सरकार 

New Delhi:  

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इकाना स्टेडियम में 21 मार्च को देश की जानी मानी हस्तियों और 50 हजार लोगों की मौजूदगी में योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath) दोबारा मुख्यमन्त्री पद की शपथ लेंगे. सीएम योगी ने अपने शपथ ग्रहण समारोह के लिए प्रधानमंत्री मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) को आमंत्रित किया है. बताया जा रहा है कि जिस दिन का समय पीएम मोदी देंगे, उसी दिन शपथ ग्रहण समारोह होगा. इसलिए तय तारीख में बदलाव भी किया जा सकता है. वैसे स्टेडियम को सुंदर बनाने का काम शुरू हो चुका है. आसपास की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है. 

इस मामले में दिल्ली स्थित बीजेपी मुख्यालय में बुधवार को हुई बैठक के बाद देर रात राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह की अलग से बैठक भी हुई. राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में यूपी सरकार को लेकर लगातार 5 घंटे 45 मिनट तक शीर्ष नेताओं ने मंथन किया. इसके बाद लगभग सबकुछ तय किए जाने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ गुरुवार को यूपी सदन से हिंडन एयरबेस के लिए रवाना हो गए.

धर्मेंद्र प्रधान ने दिया चुनाव नतीजों का डिटेल प्रजेंटेशन

बीजेपी के टॉप लीडर्स की बैठक में उत्तर प्रदेश चुनावों का विस्तार से विश्लेषण किया गया. बुधवार की बैठक में उत्तर प्रदेश के प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने चुनाव नतीजे का गहन विश्लेषण सबके सामने रखा. उन्होंने अपने प्रजेंटेशन में यूपी के नतीजों को पांच हिस्सों में बांटकर समझाया. जीतने वाले उम्मीदवारों की शिक्षा, उनके क्षेत्र, उनकी जाति और उनकी संख्या के साथ उम्मीदवारों की उम्र पर भी चर्चा की गई. पार्टी सूत्रों के मुताबिक उम्मीदवारों का वर्गीकरण सरकार में हिस्सेदारी के लिहाज से किया गया है.

लोहिया के समाजवादी नारे को पहनाएंगे अमली जामा

समाजवादी पार्टी के संस्थापक डॉ. राम मनोहर लोहिया के मशहूर नारे “जिसकी जितनी तादाद भारी, उसकी उतनी हिस्सेदारी” के तर्ज पर यूपी में योगी सरकार में मंत्री बनाए जाएंगे. पार्टी के उच्चतम सूत्रों के मुताबिक सभी जाति, क्षेत्र, उम्र और शिक्षा वर्ग के उम्मीदवारों को सरकार में जगह दी जाएगी. पढ़े- लिखे और युवा विधायकों को तरजीह देने का फैसला पार्टी नेतृत्व ने किया है. पार्टी के कई बड़े चेहरे इस बार भी मंत्री बनाए जाएंगे. पार्टी ने फैसला किया है कि पिछली सरकार में खराब प्रदर्शन करने वाले मंत्रियों की रिपीट नहीं किया जाएगा.

युवाओं, शिक्षितों- महिलाओं का बहुरंगी प्रतिनिधित्व

दूसरी ओर पार्टी नेतृत्व यूपी सरकार में महिलाओं की हिस्सेदारी को पिछली बार के मुकाबले बढ़ाने जा रहा है. इस लिहाज से यूपी सरकार में इस बार ज्यादा महिला मंत्री दिखेंगी. वहीं ज्यादा युवा, ज्यादा शिक्षित और ज्यादा बहुरंगी प्रतिनिधित्व वाली यूपी सरकार होगी. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गृहमंत्री अमित शाह को बैठक के बारे में ब्रीफ किया. 

ये भी पढ़ें - हारे हुए नेताओं को बीजेपी नहीं भेजेगी विधान परिषद, फॉर्मूला तय

केंद्र की तर्ज पर यूपी सरकार में वर्गों की भागीदारी

इससे पहले पीएम मोदी के साथ जब पार्टी के नेताओं की बैठक हुई थी तो उन्होंने सभी समीकरणों को विस्तार से जानने के लिए कहा था. इसके बाद ही यूपी चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान ने सभी युवा, महिला, शिक्षित, जातीय के आधार पर जीतने वाले उम्मीदवारों का नाम सामने रखा. अब इन्हीं नामों में से मंत्रिमंडल के नाम का चुनाव होगा. इसके चलते अब केंद्र सरकार की तर्ज पर ही उत्तर प्रदेश सरकार में भी हर वर्ग से मंत्री देखने को मिलेंगे. इसके अलावा सभी मिलकर मिशन 2024 के लिए काम करेंगे.

First Published : 17 Mar 2022, 11:30:25 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.