News Nation Logo
Banner

20 सैनिकों के शहीद होने की खबर, अखिलेश यादव ने कहा अब तो सच बोलो सरकार

भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (Line if Actual Control) पर कम से कम 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं. पहले एक अफसर सहित तीन जवानों के शहीद होने की खबर आई थी, लेकिन देर शाम एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं. एएनआई ने यह भी जानकारी दी कि यह आंकड़ा और बढ़ भी सकता है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 16 Jun 2020, 11:26:56 PM
Akhilesh

अखिलेश यादव। (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्‍चुअल कंट्रोल (LAC) पर कम से कम 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं. पहले एक अफसर सहित तीन जवानों के शहीद होने की खबर आई थी, लेकिन देर शाम एएनआई ने सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया कि 20 भारतीय जवान शहीद हुए हैं. एएनआई ने यह भी जानकारी दी कि यह आंकड़ा और बढ़ भी सकता है. उधर सूत्रों के अनुसार यह भी खबर आ रही है कि चीन की सेना के घायल और मारे गए सैनिकों की संख्‍या भी 43 से अधिक है. बड़ी संख्या में भारतीय सैनिकों के शहादत की खबर पर अखिलेश यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. अखिलेश यादव ने कहा है कि ''चीन के साथ झड़प में हमारे देश के अनेक जवानों के शहीद होने की ख़बर हर देशवासी को दहलानेवाली है. शहादत को सलाम. सरकार अब तो सच बोले.''

मंगलवार दोपहर में खबर आई थी कि एलएसी पर गलवान घाटी में भारत और चीन के बीच हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए. लेकिन रात होते-होते यह आंकड़ा 20 तक पहुंच गया. यह भी आशंका जताई जा रही है कि यह आंकड़ा और बढ़ भी सकता है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ बैठक भी बुलाई थी, जो अब खत्‍म हो गई है.

यह घटना तब हुई जब सोमवार रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के बीच बातचीत के बाद सबकुछ सामान्य होने की स्थिति आगे बढ़ रह थी. इससे पहले विदेश मंत्रालय ने इस मामले में बयान जारी कर कहा था कि भारत ने हमेशा LAC का सम्मान किया और चीन को भी ऐसा करना चाहिए. मंत्रालय ने कहा कि LAC पर कल जो हुआ, उससे बचा जा सकता था.

First Published : 16 Jun 2020, 11:15:54 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.