News Nation Logo

लखनऊ हिंसा पर मायावती का बयान, CAA के शुरू से खिलाफ लेकिन...

न्यूज स्टेट ब्यूरो | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 20 Dec 2019, 10:59:22 AM
बसपा प्रमुख मायावती

लखनऊ:  

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. गुरुवार को लखनऊ और संभल में हुए हिंसक प्रदर्शन को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि हम शुरू से ही नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ थे लेकिन जिस तरह विरोध के नाम पर हिंसक प्रदर्शन किया जा रहा है उससे बसपा सहमत नहीं है.

गुरुवार को लखनऊ और संभल में प्रदर्शनकारियों ने हिंसक विरोध किया है. संभल में रोडवेज की चार बसों को आग के हवाले कर दिया गया. लखनऊ में भी पुलिस चौकी में तोड़फोड़ कर पुलिस की बाइकों में आग लगा दी गई. मामले की कवरेज कर रही मीडिया की ओबी वैन में भी आग लगा दी गई. इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि वीडियोग्राफी के आधार पर आरोपियों की पहचान की जा रही है. सार्वजनिक संपत्ति के नुकसान की भरपाई आरोपियों की संपत्ति की नीलामी से की जाएगी. 

यह भी पढ़ेंः संभल में CAA के विरोध में हुई हिंसा मामले में समाजवादी पार्टी नेता सहित 17 पर दर्ज हुई FIR

12 जिलों में इंटरनेट बंद, 31 जनवरी तक धारा-144 लागू
यूपी के आगरा, फिरोजाबाद, अलीगढ़, गाजियाबाद, संभल, वाराणसी आदि जिलों में इंटरनेट बंद कर दिया गया है. इसके साथ ही प्रशासन ने पूरे प्रदेश में 31 जनवरी तक धारा 144 लागू कर दी है. बताया जा रहा है कि सांप्रदायिक शांति और सद्भाव को बिगाड़ने के उद्देश्य से सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने वाले संदेशों से बचने के लिए यह कार्रवाई की गई है. साथ ही सुरक्षा के मद्देनजर लखनऊ, बुन्देलखंड और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं भी अगले आदेश तक रद्द कर दी गयी हैं. ये परीक्षाएं शुक्रवार 20 दिसंबर से शुरू होनी थीं.

First Published : 20 Dec 2019, 10:59:22 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

CAA Protest NRC Lucknow