News Nation Logo
3 लोकसभा और 7 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे आज PM मोदी आज 'मन की बात' कार्यक्रम को करेंगे संबोधित भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा कोरोना संक्रमित दिल्ली: बादली इलाके के प्लास्टिक गोदाम में लगी आग, मौके पर फायर ब्रिगेड फायर उत्तर प्रदेश: आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के लिए मतगणना जारी पाकिस्तान के जेल में मारे गए सरबजीत सिंह की बहन का हार्ट अटैक से निधन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जर्मन प्रेसीडेंसी के तहत G7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए जर्मनी पहुंचे एकनाथ शिंदे ने 12 बजे गुवाहाटी के होटल में विधायकों की बैठक बुलाई है भारत में आज 11,739 नए Covid19 मामले सामने आए, सक्रिय मामले 92,576 हैं विपक्षी पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा कल दाखिल करेंगे अपना नामांकन केंद्र सरकार ने शिवसेना के 15 बागी विधायकों को 'Y+' श्रेणी के सशस्त्र केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF दिल्ली: राजेंद्र नगर विधानसभा सीट पर जीते AAP के दुर्गेश पाठक रामपुर में बीजेपी ने लहराया विजय पताका, 42 हजार से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की

मायावती का बड़ा हमला- बीजेपी सरकार की नीति के कारण सर्वसमाज के लोग मॉब लिन्चिंग का शिकार हो रहे

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने मॉब लिन्चिंग को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा है.

IANS | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 13 Jul 2019, 01:01:20 PM
बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने मॉब लिन्चिंग को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की नीति की देन के कारण सर्वसमाज के लोग इसका शिकार हो रहे हैं. मायावती ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि मॉब लिन्चिंग एक भयानक बीमारी के रूप में देश भर में उभरने के पीछे वास्तव में खासकर बीजेपी सरकारों की कानून का राज स्थापित नहीं करने की नीयत व नीति की ही देन है, जिससे अब केवल दलित, आदिवासी व धार्मिक अल्पसंख्यक समाज के लोग ही नहीं बल्कि सर्वसमाज के लोग व पुलिस भी शिकार बन रही है. 

यह भी पढ़ें- कंपनी की सामपन प्रक्रिया के दौरान उस पर सिविल वाद नहीं हो सकता दाखिल: HC

उन्होंने आगे लिखा, 'माननीय सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद केन्द्र को गम्भीर होकर मॉब लिन्चिग पर अलग से देशव्यापी कानून अब तक जरूर बना लेना चाहिये था लेकिन लोकपाल की तरह मॉब लिंचिग के मामले में भी केन्द्र उदासीन है व कमजोर इच्छाशक्ति वाली सरकार साबित हो रही है. ऐसे मे यूपी विधि आयोग की पहल स्वागतोग्य है.'

यह भी पढ़ें- योगी सरकार ने किए 26 IAS अफसरों के तबादले, 9 जिलों के डीएम भी बदले

गौरतलब है कि विधि आयोग के अध्यक्ष (सेवानिवृत्त) आदित्य नाथ मित्तल ने मॉब लिन्चिंग की रिपोर्ट के साथ तैयार मसौदा विधेयक उप्र के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के समक्ष पेश किया है. इस 128 पन्नों की रिपोर्ट में प्रदेश में मॉब लिन्चिंग के अलग-अलग मामलों का जिक्र है. इसमें 2018 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा की गई सिफारिशों के आधार पर कानून को तत्काल लागू करने की संस्तुति की गई है. आयोग ने रिपोर्ट में इस बात का खासतौर पर जिक्र किया है कि वर्तमान कानून मॉब लिन्चिंग से निपटने में सक्षम नहीं है. ऐसी दुस्साहसिक घटनाओं के लिए एक अलग कानून होना चाहिए.

यह वीडियो देखें- 

First Published : 13 Jul 2019, 01:01:20 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.