News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

मायावती ने योगी सरकार के कामों को सराहा, बोलीं- मजदूरों के लिए भी बड़ा दिल दिखाएं

मायावती ने कहा कि सरकार से यह भी आग्रह है कि वह ऐसी चिंता यहां के उन लाखों ग़रीब प्रवासी मज़दूर परिवारों के लिए भी ज़रूर दिखायें.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 18 Apr 2020, 02:30:46 PM
mayawati

mayawati (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

Coronavirus (Covid-19): राजस्थान के कोटा में लॉकडाउन (Akhilesh Yadav) ने पूछा है कि वहां भुखमरी का शिकार (oronavirus (Covid-19), Lockdown Part 2 Day 1, Lockdown 2.0 Day one, Corona Virus In India, Corona In India, Covid-19) में फंसे यूपी के छात्रों को लाने के लिए बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के द्वारा उठाए कदम की सराहना की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि कोचिंग पढ़ने वाले लगभग 7,500 युवकों को लॉकडाउन से निकालने और उन्हें सुरक्षित उनके घरो में भेजने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 200 बसों को कोटा भेजी है. यह स्वागत योग्य कदम है. बसपा इसकी सराहना भी करती है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकार से यह भी आग्रह है कि वह ऐसी चिंता यहां के उन लाखों ग़रीब प्रवासी मज़दूर परिवारों के लिए भी ज़रूर दिखायें. जिन्हें अभी तक भी उनके घर से दूर नारकीय जीवन जीने को मजबूर किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- कोटा से आने वाले UP के छात्रों को इन शर्तों का करना होगा पालन, तभी होगी घर वापसी

अखिलेश यादव ने भी इस ओर इशारा किया था

मायावती ने योगी सरकार का ध्यान गरीबों की तरफ मोड़ना चाहा है. उन्होंने कहा कि छात्रों के साथ-साथ गरीब लोगों को भी उनके घरों तक पहुंचाने का काम किया जाए. इससे पहले समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने भी योगी सरकार से कहा था कि छात्रों को उनके घरों तक पहुंचाया जा रहा है, तो गरीब क्यों नहीं. उत्तर प्रदेश के सात हजार से अधिक छात्र-छात्राओं को वापस लाने के लिए योगी सरकार ने 200 बसें भेजी हैं. सरकार के इस कदम का स्वागत करते हुए समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव हो रहे गरीबों के लिए क्या योजना है? राजस्थान के कोटा में इंजीनियरिंग व मेडिकल की कोचिंग करने वाले उत्तर प्रदेश के करीब 7500 छात्र फंसे हैं. छात्रों के अभिभावकों की मांग पर मुख्यमंत्री योगी ने वहां फंसे छात्रों को वापस लाने की कवायद शुरू की है. शुक्रवार को आगरा व झांसी से 200 से ज्यादा बसों को कोटा रवाना किया गया. शनिवार को ये बसें छात्रों को लेकर लौटेंगी.

यह भी पढ़ें- मुजफ्फरनगर में बिजली गिरने से हुई घटना पर CM योगी ने जताया दुख, हरसंभव मदद करने के दिए निर्देश

गरीबों के लिए भी कोई योजना बनाएं सरकार

इस बीच, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने ट्विटर पर लिखा, "राजस्थान के कोटा में फंसे उप्र के विद्यार्थियों को वापस लाने की योजना का स्वागत है. लेकिन सवाल यह है कि अन्य राज्यों में भुखमरी का शिकार हो रहे अति निम्न आय वर्ग के गरीबों को वापस लाने की क्या योजना है और ये भी कि प्रदेश के तथाकथित नोडल अधिकारियों के मोबाइल मूक-मौन क्यों हैं?" राजस्थान के कोटा में उत्तर प्रदेश के सात हजार से अधिक छात्र-छात्राएं इंजीनियरिंग तथा मेडिकल परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. वहां के विभिन्न कोचिंग सेंटरों में ये छात्र प्रतियोगिता में कामयाबी के गुर सीख रहे हैं. लंबे लॉकडाउन के कारण कोचिंग बंद होने से ये लोग वहां फंसे हैं. इनकी मदद करने योगी आदित्यनाथ सरकार आगे आई है.

First Published : 18 Apr 2020, 02:19:22 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो