News Nation Logo
Banner

नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी पर मायावती ने दिया बड़ा बयान, कही ये बात

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती ने वैश्विक स्तर पर गरीबी के अभिशाप के विरुद्ध शोध करने वाले भारतीय मूल के अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को विश्व के सर्वश्रेष्ट नोबेल पुरस्कार से सम्मानित होने पर बधाई दी है.

By : Dalchand Kumar | Updated on: 20 Oct 2019, 01:20:22 PM
बसपा सुप्रीमो मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती ने वैश्विक स्तर पर गरीबी के अभिशाप के विरुद्ध शोध करने वाले भारतीय मूल के अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को विश्व के सर्वश्रेष्ट नोबेल पुरस्कार से सम्मानित होने पर बधाई दी है. इसके साथ ही मायावती ने कहा है कि अभिजीत बनर्जी की इस उपलब्धि को राजनीतिक चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः जन-धन, आयुष्मान और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना अच्छी, नोबेल पुरस्कार विजेता अभिजीत की राय

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट कर कहा, 'गरीबी के अभिशाप के विरुद्ध शोध करने वाले भारतीय मूल के अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी को विश्व के सर्वश्रेष्ट नोबेल पुरस्कार से सम्मानित होने पर बधाई व भरपूर स्वागत. लेकिन इसे यहां राजनीतिक चश्मे से देखना पूरी तरह से गलत बल्कि भारतीय होने के नाते इसपर गर्व किया जाए तो बेहतर है.'

गौरतलब है कि वैश्विक स्तर पर गरीबी निवारण के मकसद से आर्थिक उपायों की खोज के लिए हाल ही में अभिजीत बनर्जी के अलावा एस्थर डुफ्लो और माइकल क्रेमर के साथ संयुक्त रूप से अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार प्रदान किया गया है. अभिजीत बनर्जी भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक हैं. बनर्जी का जन्म पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में हुआ था. उन्होंने साउथ प्वाइंट हाईस्कूल में पढ़ाई की. स्कूली शिक्षा के बाद उन्होंने साल 1981 में कलकत्ता विश्वविद्यालय के प्रेसिडेंसी कॉलेज से अर्थशास्त्र में स्नातक किया.

यह भी पढ़ेंः भारत-चीन के विकास पर निर्भर पर दुनियाभर का विकास, निर्मला सीतारमण का बड़ा बयान

बनर्जी दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालयय (जेएनयू) के पूर्व छात्र रहे हैं. उन्होंने 1983 में जेएनयू में अर्थशास्त्र में एमए किया. अभिजीत बनर्जी जेल भी जा चुके हैं. जेएनयू के तत्कालीन वाइस चांसलर पीएन श्रीवास्तव का विरोध करने के बाद छात्रों के घेराव करने पर उन्हें गिरफ्तार किया गया था और तिहाड़ जेल में भेज दिया गया था. हालांकि बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया. बनर्जी ने 1988 में हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की.

First Published : 20 Oct 2019, 01:20:22 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×