News Nation Logo

तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की तेजी से करें तलाश, मिलते ही करें क्वारंटाइन, CM योगी का सख्त आदेश

मुख्यमंत्री ने कहा कि तबलीगी की जमात से जुड़े हुए लोगों की तेज़ी से तलाश की जाए. वे जहां मिले उन्हें तत्काल क्वारंटाइन किया जाए.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 31 Mar 2020, 04:03:03 PM
cm yogi adityanatha

cm yogi adityanatha (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तबलीगी जमात में कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए मेरठ-आगरा का दौरा रद्द कर दिया. दौरा रद्द करते ही मुख्यमंत्री सीधे लखनऊ पहुंच गए. अपने आवास पर आला अधिकारियों के साथ बैठक की. बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे प्रदेश में लॉकडाउन का पूरी तरह पालन हो. इसमें किसी भी तरह की कोताही बर्दास्त नहीं की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि तबलीगी की जमात से जुड़े हुए लोगों की तेज़ी से तलाश की जाए. वे जहां मिले उन्हें तत्काल क्वारंटाइन किया जाए.

यह भी पढ़ें- तबलीगी जमात से जुड़े ठिकानों पर पुलिस की छापेमारी, लखनऊ में किर्गिस्तान के 6 धर्म प्रचारक मिले

पूर्व स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों की भी सेवा लें

मुख्यमंत्री ने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर आपात सेवा के लिए रिटायर्ड आर्मी मेडिकल अफसरों के साथ ही साथ पूर्व स्वास्थ्य अधिकारियों और कर्मचारियों की भी सेवा लें.
मुख्यमंत्री ने कहा कि बाहरी राज्यों में मौजूद उत्तर प्रदेश के नागरिकों की पूरी मदद की जाए. उनके भोजन आदि का प्रबंध अवश्य कराया जाए. उन्होंने कहा कि संस्थानों के मालिक अपने कर्मचारियों और श्रमिकों के भोजन का हर हाल में प्रबंध करें. यदि वह नहीं कर पा रहे तो प्रशासन को सूचित करके सभी श्रमिकों और कर्मचारियों के भोजन का इंतज़ाम सुनिश्चित कराएं. प्रदेश में कोई भी भूखा नहीं रहना चाहिए.

यह भी पढ़ें- Lockdown 7th day LIVE UPDATES: हजरत निजामुद्दीन से टेस्ट के लिए सभी को अस्पताल भेजा गया

हर ज़िले में बड़ी संख्या में आश्रय स्थल बनाया जाए

राशन वितरण प्रणाली और बैंकों से लेन देन के दौरान भीड़ इकट्ठा न होने दी जाए. पुलिस और होम गार्ड के जवानों की मदद से सारे हेल्थ प्रोटोकॉल पूरे कराएं जाएं. मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के पास उन लोगों का पूरा आंकड़ा मौजूद है. जिन्हें उत्तर प्रदेश की सीमाओं से प्रदेश के अंदर अलग-अलग हिस्सों में भेजा गया है. इन सभी लोगों को हर हाल में चिन्हित कर लिया जाए. इनको हर हाल में क्वारंटाइन रखा जाए. हर ज़िले में बड़ी संख्या में आश्रय स्थल बनाया जाएं. जो लोग भी लॉकडाउन का पालन करते हुए न दिखें और आश्रयहीन हो. उन्हें इन आश्रय स्थलों में रखा जाए, जिन आश्रय स्थलों में सौ से ज़्यादा लोग हों वहां पर कम्युनिटी किचन शुरू किया जाए.

यह भी पढ़ें- तबलीग जमात ने किया जुर्म या लॉकडाउन की भुगत रहा सजा?

आपदा के वक़्त में लोगों की भोजन आदि की मदद करें

जहां सौ से कम लोग हैं वहां उनके लिए भोजन पैकेट का इंतज़ाम किया जाए. उन्होंने कहा कि हर आश्रयस्थल पर सारे हेल्थ प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन हो. मुख्यमंत्रीजी ने कहा कि तमाम सामाजिक संस्थाएं और लोग इस आपदा के वक़्त में लोगों की भोजन आदि की मदद करना चाहते हैं, ऐसे लोगों से समन्वय स्थापित करके कुछ आश्रय स्थलों पर इनके माध्यम से भी भोजन पहुंचवाया जाए. मुख्यमंत्री जी ने कहा आटा मिलें, दाल मिलें, तेल मिलें सभी हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन करते हुए चलवाई जाएं.

यह भी पढ़ें- मोहल्ला क्लिनिक का एक और डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव, संपर्क में आए मरीजों को क्वारंटाइन का आदेश

ओवररेटिंग करने वालों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई

बैठक में मुख्यमंत्री जी ने ख़ासतौर पर सभी जिलाधिकारियों और पुलिस प्रमुखों को यह निर्देश दिए कि किसी भी जनपद में सामानों की ओवर रेटिंग नहीं होने दी जाए, जिस प्रकार कुछ ज़िलों में अधिकारियों ने स्वयं बाज़ारों में उतरकर जमाखोरों कालाबाज़ारी करने वालों और ओवररेटिंग करने वालों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई की है, उसी प्रकार सभी अधिकारी अपने दायित्वों का पालन करें

First Published : 31 Mar 2020, 04:03:03 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.