News Nation Logo
Breaking
Banner

ललितपुर पुलिस पर एक और दाग: चोरी के शक में दरोगा ने महिला को निर्वस्त्र कर रातभर पीटा

ललितपुर पुलिस पर लगा एक और दाग:चोरी के शक में दरोगा ने महिला को निर्वस्त्र कर रातभर पीटा, मामला तूल न पकड़े इसलिए धारा-151 में किया चालान, एसपी ने मामले में संज्ञान लेते हुए की कार्यवाही, SHO और महिला SO समेत तीन को किया निलंबित।

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 05 May 2022, 03:44:36 PM
Lalitpur Police

Lalitpur Police (Photo Credit: FILE PIC)

नई दिल्ली:  

ललितपुर में किशोरी से दुष्कर्म का मामला ठंडा नहीं हुआ था कि पुलिसकर्मियों की बर्बरता की एक और घटना सामने आई। महरौनी थाने में तैनात मुंशी और महिला दरोगा ने एक महिला को कमरे में बंद कर थर्ड डिग्री दी। चोरी के शक में दोनों पुलिसकर्मियों ने महिला को निर्वस्त्र कर बेल्ट से पीटा। महिला से जुर्म कबूलवाने के लिए बिजली बंद कर पानी बौछार की गई। मामला तूल न पकड़े, इसलिए पीड़िता को थाने लाए। जहां पति-पत्नी के बीच विवाद बताकर शांति भंग में बीमार पति सहित उसके खिलाफ कार्रवाई कर दी। पीड़िता परिजनों के साथ गाड़ी में लेटकर एसपी कार्यालय पहुंची और दुखड़ा सुनाकर पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

थाना महरौनी अंतर्गत मोहल्ला खरवांचपुरा निवासी पूजा पत्नी लक्ष्मी प्रसाद ने एसपी को दिए प्रार्थनापत्र में बताया कि वह महरौनी थाने में मुंशी के पद पर तैनात पुलिस कर्मी अंशू पटेल के डाकघर के निकट स्थित मकान पर 14 अप्रैल से खाना बनाने और झाड़ू-पोंछा का काम करती है। दो मई को सुबह खाना बनाने के बाद वह घर लौट आई। शाम को खाना बनाने पहुंची तो अंशु पटेल की पत्नी ने अंदर बिठाकर दरवाजा बंद कर मोबाइल से कॉल कर पति अंशू को बुला लिया।

अंशू अपने साथ महिला दरोगा पारुल चंदेल को लेकर आया और उससे चोरी के संबंध में पूछताछ करने लगा। उसने अपने को निर्दोष बताया तो अंशू और महिला दरोगा ने रात आठ बजे से बिजली बंद कर पानी की बौछार लगाकर निर्वस्त्र कर बेल्टों से उसकी पिटाई की। मारपीट के दौरान अंशू ने बताया कि एक तांत्रिक का कहना है कि चोरी काम करने वाली महिला ने की है। चोरी कबूल करने की धमकी देते हुए गालियां दीं। इसके बाद उसे और उसके बीमार पति को बुलाकर थाने ले गए, वहां भी दोनों के साथ मारपीट की। महिला ने आरोप लगाया कि थाने से फिर कमरे में लाकर मारपीट की गई। पति को कोतवाली में हवालात में बंद कर दिया। मारपीट में महिला को पूरे शरीर पर चोटें आईं हैं। पुलिसकर्मियों ने जब महिला की हालत गंभीर देखी, तो मामले को पति-पत्नी के बीच झगड़े का बताकर पति का धारा 151 में चालान कर दिया।

मिन्नतें करने के बाद भी नहीं पसीजे पुलिस कर्मी
महिला ने बताया कि मारपीट के दौरान उसने कई बार पुलिस कर्मियों से छोड़नेे गुहार लगाई, लेकिन पुलिस कर्मियों का दिल नहीं पसीजा। महिला भी बेल्ट की मार से चिल्लाती रही, लेकिन तांत्रिक का भरोसा कर महिला दरोगा और मुंशी ने दोनों ने बेल्ट से मारपीट की। गंभीर बीमारी से ग्रसित हूं। इससे कार्य करने में असमर्थ हूं। परिवार का पालन पोषण करने के लिए पत्नी खाना बनाने का काम करती है। थाने के एक पुलिस कर्मी के यहां खाना बनाती है। कुछ दिन पहले पुलिसकर्मी के यहां चोरी हो गई थी, जिसके शक में उसकी पत्नी को बंधक बनाकर मारपीट की गई। इसके बाद थाने ले गए, वहां भी जमकर मारपीट की। हालत गंभीर होने पर पुलिस ने मामले को दोनों के बीच झगड़ा बताकर धारा 151 में चालान कर दिया।- लक्ष्मी प्रसाद (पीड़िता पूजा का पति)

वहीं इस मामले में पुलिस अधीक्षक निखिल पाठक ने बताया कि एक महिला द्वारा शिकायत पत्र के माध्यम से मामला  प्रकाश में आया है कि कोतवाली महरौनी में चोरी के शक में कोतवाली में तैनात एक पुलिसकर्मी और महिला दरोगा द्वारा एक महिला के साथ महरौनी कोतवाली में मारपीट की बात सामने आई है मामले को गंभीरता से हुए मामले में FIR दर्ज कर महिला का मेडिकल कराया जा रहा है और आरोपी महिला दरोगा उप निरीक्षक पारुल चंदेल, कांस्टेबल अंशु पटेल के साथ कार्य मे स्थिलता पाए जाने पर महरौनी कोतवाली प्रभारी निरीक्षक कामता प्रसाद को भी निलंबित कर दिया गया है।

First Published : 05 May 2022, 03:44:36 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.