News Nation Logo
29 अक्टूबर से पीएम मोदी का इटली दौरा जेल में डालने वाला आज जेल में जाने से डरने लगा: नवाब मलिक जो फर्जीवाड़ा किया गया है, वो खुल खुलकर सामने आने लगा है: नवाब मलिक पंजाब में AAP की सरकार बनी, तो प्रदेश में किसी किसान को नहीं करने देंगे खुदकुशी: अरविंद केजरीवाल शाहरुख खान की 'मन्नत' पूरी, आर्यन को बेल; अब मन्नत में मनेगी दीपावली आर्यन खान समेत तीनों आरोपियों के विदेश जाने पर रोक भारत हमेशा से एक शांतिप्रिय देश रहा है और आज भी है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह हमारा देश किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह किसी भी विवाद को अपनी तरफ़ से शुरू करना हमारे मूल्यों के ख़िलाफ़ है: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों को वैक्सीन की 108 करोड़ डोज़ उपलब्ध कराई गईं: स्वास्थ्य मंत्रालय कर्नाटकः कोडागू जिले के जवाहर नवोदय विद्यालय में 32 बच्चे कोरोना पॉजिटिव महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वासले हुए कोरोना पॉजिटिव कोरोना अपडेटः पिछले 24 घंटे में देश में 16,156 केस आए, 733 मरीजों की मौत हुई जम्मू-कश्मीरः डोडा में खाई में गिरी मिनी बस, 8 लोगों की मौत आर्य़न खान ड्रग्स केस में गवाह किरण गोसावी पुणे से गिरफ्तार पेट्रोल और डीजल के दामों में 35 पैसे की बढ़ोतरी कैप्टन अमरिंदर सिंह आज फिर मुलाकात करेंगे गृह मंत्री अमित शाह से क्रूज ड्रग्स मामले में आर्यन खान की जमानत पर आज फिर दोपहर में सुनवाई पीएम नरेंद्र मोदी आज आसियान-भारत शिखर वार्ता को करेंगे संबोधित दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पंजाब के दो दिवसीय दौरे पर आज जाएंगे

योगी सरकार के संकटमोचक बने राकेश टिकैत, जानें कैसे

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में किसान आदोलन में भड़की हिंसा के कारण 4 किसानों की मौत हो गई।

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 04 Oct 2021, 06:44:20 PM
rakesh tikait

राकेश टिकैत और एडीजी लॉ आर्डर प्रशांत कुमार प्रेसवार्ता करते हुए। (Photo Credit: ani)

delhi:

नई दिल्ली। लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में किसान आदोलन के बाद भड़की हिंसा के कारण 4 किसानों की मौत हो गई। इसके बाद से किसानों की नाराजगी चरम पर पहुंच गई.सरकार के लिए प्रशासन व्यवस्था को संभालना कठिन हो गया. कई नेताओं के रातोंरात घटनास्थल पर पहुंचने की कोशिश ने हालात को बेकाबू कर दिया. ऐसे में राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) योगी सरकार के काम आए. गौरतलब है कि बीते दिनों यूपी प्रशासन ने सारे राजनेताओं को लखीमपुर खीरी और तिकुनिया पहुंचने से रोक दिया गया. प्रियंका गांधी को सीतापुर में रोक लिया गया. वहीं चंद्रशेखर आजाद को सीतापुर टोल प्लाजा पर रोका गया. इस दौरान शिवपाल यादव, अखिलेश यादव, जयंत चौधरी को लखीमपुर पहुंचने से पहले रोक गया और उन्हें हिरासत में ले लिया गया. 

पोस्टमार्टम को तैयार नहीं थे किसान

राकेश टिकैत गाजीपुर बॉर्डर से रात को चले और देर रात लखीमपुर खीरी के तिकुनिया के उस गुरुद्वारे पहुंचे, जहां पर चारों किसानों के शव रखे गए थे. किसान किसी सूरत में शवों का पोस्टमार्ट्म कराने को तैयार नहीं थे. मांग रखी गई थी गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी पर मुकदमा दर्ज कर उनके बेटे को गिरफ्तार​ किया जाए. 

किसानों की नाराजगी को देखते हुए लग रहा था कि उन्हें मनाना आसान नहीं होगा. इस दौरान एडीजी लॉ एंड आर्डर प्रशांत कुमार लगातार किसानों के संपर्क में थे.मगर जहां समझौते की बात आई तो किसान नेता राकेश टिकैत संकटमोचक की तरह सामने आए. 

समझौते में रिटायर्ड जज से मामले की न्यायिक जांच, प्रत्येक मृतक परिवार को 45 लाख का मुआवजा, घायलों के लिए 10 लाख का मुआवजा, 8 दिनों के अंदर मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी और मृतक परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी देने की बात कही गई. इसके बाद राकेश टिकैत ने एडीजी के साथ एक प्रेसवार्ता करी, जिसमें किसानों मनाने का प्रयास किया गया.  

किसानों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर तिकुनिया थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है, समझौते के मुताबिक नई तहरीर में मंत्री अजय मिश्रा का नाम नहीं है, सिर्फ बेटे आशीष मिश्रा और कुछ अज्ञात लोगों पर FIR दर्ज कराई गई है. अधिकारियों से इसी आधार पर समझौता हुआ है की मंत्री मौके पर नहीं थे, इसलिए किसानों की तहरीर में अब उनका नाम नहीं है, पहले तहरीर में किसानों ने मंत्री का नाम भी लिखा था.

 

First Published : 04 Oct 2021, 06:44:20 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.