News Nation Logo
Banner
Banner

लखीमपुर खीरी केस में बड़ी कार्रवाई, पुलिस ने आशीष मिश्रा को किया गिरफ्तार

देश के चर्चित लखीमपुर खीरी हिंसा केस में आखिरकार पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे और नामजद आरोपी आशीष मिश्रा को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 10 Oct 2021, 12:14:30 AM
Lakhimpur incident

Lakhimpur incident (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

देश के चर्चित लखीमपुर खीरी हिंसा केस में आखिरकार पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे और नामजद आरोपी आशीष मिश्रा को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया है. डीआईजी अतुल अग्रवाल ने आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए बताया कि वह जांच में पुलिस का सहयोग नहीं कर रहे थे. इसके साथ ही आशीष घटना की जानकारी भी सही नहीं दे रहे थे. आपको बता दें कि गिरफ्तारी से पहले आशीष मिश्रा से 12 घंटे तक पूछताछ की गई थी. आशीष पर हत्या, दुर्घटना में मौत, आपराधिक साजिश और लापरवाही से गाड़ी चलाने का आरोप है.

यह भी पढें :क्या दिल्ली में अभी बना रहेगा बिजली का संकट? जानें कोयला मंत्री का जवाब

आशीष मिश्रा की गिरफ़्तारी पर लखीमपुर खीरी मामले में पर्यवेक्षण समिति के अध्यक्ष DIG उपेंद्र अग्रवाल ने कहा कि लंबी पूछताछ के बाद हमने पाया कि वे(आशीष मिश्रा) सहयोग नहीं कर रहे, विवेचना में कई बातें बताना नहीं चाहते। इसलिए हम उन्हें गिरफ़्तार कर रहे हैं, उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा. इसके साथ ही पुलिस लाइन में ही मजिस्ट्रेट को बुला लिया गया है. पुलिस लाइन में ही मजिस्ट्रेट जेल भेजने का आदेश तैयार करवा रहे हैं. माना जा रहा है कि आशीष की रात जेल में बीतेगी.
इसके साथ ही आज कोर्ट में पेश करके 14 दिन की PCR मांगी जाएगी. क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही आशीष का मेडिकल कराया गया है.

यह भी पढ़ें: सीमा विवाद को सुलझाने के लिए रविवार को सैन्य वार्ता करेंगे भारत और चीन

आपको बता दें कि दूसरी समन जारी होने के बाद, केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा और लखीमपुर खीरी में किसानों को रौंदने के आरोप में शनिवार को अपने बयान को रिकॉर्ड करने के लिए पुलिस के सामने पेश हुए. सीबीआई ने उनसे लंबे समय तक पूछताछ की. इस बीच उनके बहुत से समर्थक लखीमपुर खीरी में अपराध शाखा कार्यालय तक पहुंच गए, जहां आशीष मिश्रा का पूछताछ चल रही थी. पुलिस द्वारा भेजे गए दूसरी नोटिस ने शुक्रवार को ऐसा करने में असफल होने के बाद शनिवार को आने के लिए आशीष मिश्रा से पहले पेश होने के लिए कहा था. इस बार, नोटिस ने आशीष मिश्रा को भी चेतावनी दी कि यदि वह पेश होने में विफल रहते हैं, तो उनके खिलाफ आवश्यक कानूनी कार्रवाई शुरू की जाएगी. राज्य सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि मिश्रा शनिवार को पुलिस के सामने उपस्थित होने के बाद दूसरा नोटिस जारी किया गया था.

गौरतलब है कि लखीमपुर के तिकुनिया में तीन अक्टूबर को हुई किसानों की मौत में आशीष मिश्र आरोपित हैं. पुलिस ने गुरुवार को उनके आवास पर नोटिस चस्पा कर शुक्रवार सुबह 10 बजे तक हाजिर होने को कहा था, लेकिन वह नहीं आए थे. शुक्रवार को पुलिस ने दोबारा समन चस्पा कर शनिवार दिन में 11 बजे पेश होने को कहा था. लेकिन, इससे 20 मिनट पहले ही वह मुंह पर रुमाल बांधकर नीले रंग की स्कूटी से क्राइम ब्रांच के आफिस में जा पहुंचे। वहां विशेष जांच टीम (एसआइटी) के मुखिया पुलिस हेडक्वार्टर के डीआइजी उपेंद्र अग्रवाल ने उनसे एक के बाद एक कई सवाल पूछे. जांच टीम ने अपने सवालों की सूची पहले से ही तैयार कर रखी थी. कुछ सवाल आशीष द्वारा उपलब्ध कराए गए साक्ष्यों के बाबत भी पूछे गए.

First Published : 09 Oct 2021, 11:18:34 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो