News Nation Logo

लखीमपुर मामला : स्वतंत्र बोले, हम फॉर्च्यूनर से किसी को कुचलने नहीं आए

लखीमपुर खीरी मामले में यूपी के भाजपा प्रमुख स्वतंत्र देव सिंह ने कहा है कि नेतागिरी का मतलब किसी को लूटना नहीं है या फिर फॉर्च्यूनर से किसी को कुचलना नहीं हैं. हम यहां किसी को लूटने या फिर फॉर्च्यूनर से किसी को कुचलने नहीं आए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Vijay Shankar | Updated on: 10 Oct 2021, 06:00:55 PM
swatantra dev singh

swatantra dev singh (Photo Credit: File Photo)

highlights

  • बीजेपी चीफ ने कहा-नेतागिरी का मतलब किसी को लूटना नहीं
  • कहा, आपको वोट मिलता है सिर्फ आपके व्यवहार से 
  • एक कार्यक्रम के दौरान बीजेपी चीफ ने कही यह बात 

 

लखनऊ:

लखीमपुर खीरी मामले को लेकर यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) ने पार्टी कार्यकर्ताओं को नसीहत दी है. भाजपा प्रमुख ने कहा है कि नेतागिरी का मतलब किसी को लूटना नहीं है या फिर फॉर्च्यूनर से किसी को कुचलना नहीं हैं. हम यहां किसी को लूटने या फिर फॉर्च्यूनर से किसी को कुचलने नहीं आए हैं.  भाजपा प्रमुख ने कहा कि जब भी आपको वोट मिलता है वह आपके व्यवहार की बदौलत ही मिलेगा. उन्होंने यह बात रविवार को अल्पसंख्यक मोर्चे की कार्य समिति में यह बात कही.

यह भी पढ़ें : बसपा का चुनावी शंखनाद: मायावती ने 'आप' पर बोला हमला, कहा-अगली सरकार हमारी होगी 

आपको बता दें कि स्वतंत्र देव सिंह का बयान ऐसे समय में आया है जब लखीमपुर खीरी में किसानों को गाड़ी से कुचलने की घटना के मामले में गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा कानूनी कार्रवाई का सामना कर रहे हैं. लखीमपुर खीरी में पिछले रविवार को बीजेपी नेताओं, कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच हिंसा हुई थी. इसमें केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र पर किसानों को गाड़ी से कुचलने का आरोप लगा था. आशीष मिश्रा को शनिवार को करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया था. आधी रात के बाद उसे अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. न्यायिक मजिस्ट्रेट ने आशीष को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लखीमपुर खीरी जिला जेल भेज दिया है. 

First Published : 10 Oct 2021, 05:56:29 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.