News Nation Logo

Kanpur Encounter: शुक्रवार को कोर्ट में पेश हो सकता है विकास दुबे

कानपुर में गुरुवार देर रात हुई खूनी मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. पुलिस मुख्य आरोपी विकास दुबे को अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है. उसकी तलाश में 5 राज्यों की पुलिस जुटी हुई है. लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. इस बीच पुलिस ने विकास दुबे के क

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 09 Jul 2020, 05:17:13 PM
encounter

विकास के गुर्गों को किया ढेर (Photo Credit: न्यूज स्टेट)

कानपुर:  

कानपुर में गुरुवार देर रात हुई खूनी मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए. पुलिस मुख्य आरोपी विकास दुबे को अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है. उसकी तलाश में 5 राज्यों की पुलिस जुटी हुई है. लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ खाली हैं. इस बीच पुलिस ने विकास दुबे के कई गुर्गों को ढेर कर दिया. साथ ही उसके साथी से गहन पूछताछ चल रही है. वहीं दूसरी तरफ यूपी पुलिस ने यूपी पुलिस ने विकास दुबे के एक और साथी को मार गिराया. इटावा हाईवे पर बदमाशों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में गोली लगने से बदमाश की मौत हो गई. उसके ऊपर 50 हजार का इनाम था. वहीं तीन बदमाश भागने में सफल रहे. वहीं दूसरी तरफ विकास दुबे का करीबी प्रभात मिश्रा कानपुर के पास पनकी में स्टेप मुठभेड़ में मारा गया. कल प्रभात मिश्रा को फरीदाबाद में दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया था. यूपी पुलिस ने अदालत से ट्रांजिट रिमांड की मांग की थी तथा ट्रांजिट रिमांड के दौरान पूछताछ के लिए एसटीएफ उसे कानपुर ले जा रही थी. बताया जाता है कि पनकी के पास प्रभात मिश्रा ने एक दरोगा की पिस्टल छीनकर भागने का प्रयास कर रहा था तभी पुलिस मुठभेड़ में पुलिस ने उसे मार गिराया.

उज्जैन की पुलिस गैंगस्टर विकास दुबे को लेकर कोर्ट लेकर पहुंच गई है. थोड़ी देर में पेशी होगी. अदालत के बाद वकीलों का हंगामा जारी है. 

मनोज यादव से बात हुई. उन्होंने बताया कि वो महाकाल के दर्शन करने अपनी इसी कार से  पहुचे थे. लखनऊ नम्बर की गाड़ी देखकर पुलिस ने उनसे और उनके साथी तेज बहादुर से पूछताछ की है. फ़िलहाल वो देवास गेट थाने पर ही बैठे हैं. उनका फोनो लिया जा सकता है.


 

उज्जैन में लखनऊ की कार मिलने के मामले में कार मालिक मनोज यादव के घर पर जांच हुई. कुछ महिला कांस्टेबल को घर पर रोका गया. अभी जांच चल रही है- लखनऊ पुलिस

विकास दुबे को यूपी पुलिस हवाई मार्ग से वापस लाएगी

 पुलिस  संदिग्ध कार मालिक मनोज यादव के घर पर पहुची है और परिजनों से  पूछताछ कर रही है


 

विकास चौबे के गिरफ्तार होने के बाद अब पुलिस विभाग की फोरेंसिक टीम कानपुर के बिकरू गांव पहुंच गई है

सरकार जो उचित समझे वो करे, हमारे कहने से कुछ नहीं होगा। इस समय वो (विकास दुबे) भाजपा में तो है नहीं, सपा(समाजवादी पार्टी) में है: सरला देवी, विकास दुबे की मां 

सीएम योगी टीम 11 के साथ बैठक कर रहे हैं. बैठक में ACS होम अवनीश अवस्थी और DGP भी मौजूद हैं. विकास दुबे को लेकर बैठक में चर्चा चल रही है. विकास को ट्रांजिट रिमांड पर लाने को लेकर चर्चा चल रही है. विकास दुबे को लेकर एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज से भी सीएम की बात हो चुकी है. सीएम की बैठक में विकास को यूपी लाने को लेकर चर्चा चल रही है.

यूपी एसटीएफ कमांडो दस्ते के साथ एमपी रवाना होगी. CM और अधिकारियों के साथ हाई लेवल मीटिंग जारी है. शातिर विकास को लेने रवाना होगी. कुछ ही पलों में ADG LO प्रशांत कुमार मीडिया को विकास दुबे के मुद्दे पर ब्रीफ़ करेंगे.

विकास दुबे की गिरफ्तारी पर अखिलेश यादव ने कहा कि ‘कानपुर-कांड’ का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है. अगर ये सच है तो सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी. साथ ही उसके मोबाइल की CDR सार्वजनिक करें जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की उज्जैन से गिरफ्तारी के मामले पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की है. मध्य प्रदेश पुलिस विकास दुबे को यूपी पुलिस को हैंड  ओवर करेगी. इसके बाद उन्होंने ट्वीट कर कहा कि जिनको लगता है महाकाल की शरण में जाने से उसके पाप धुल जाएंगे, इसका अर्थ ये हुआ कि उसने महाकाल को जाना ही नहीं. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्श्ने वाली नहीं है.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर मुठभेड़ कांड के फरार मुख्य आरोपी कुख्यात विकास दुबे को लेकर रोज नए खुलासे हो रहे हैं. इसी कड़ी में सीओ बिल्हौर देवेन्द्र मिश्रा द्वारा थानाध्यक्ष चौबेपुर विनय तिवारी के खिलाफ एसएसपी को लिखा गया पत्र जांच में सही पाया गया है. जांच के लिए कानपुर भेजी गईं लखनऊ रेंज की आईजी लक्ष्मी सिंह बुधवार शाम लखनऊ (Lucknow) वापस लौट आईं और जांच रिपोर्ट डीजीपी हितेश अवस्थी को सौंप दी हैं.

सात दिन की लुकाछिपी के बाद विकास दुबे को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया है. उज्जैन के महाकाल मंदिर से इसकी गिरफ्तारी की गई है. जानकारी के मुताबिक उज्जैन ने महाकाल मंदिर में खुद अपनी पहचान उजागर की. इसके बाद स्थानीय पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. खबर है कि उज्जैन में महाकाल दर्शन के बाद उसने सरेंडर किया है, लेकिन कुछ सूत्रों का कहना है कि विकास दुबे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने विकास दुबे की गिरफ्तारी की पुष्टि की है.

इटावा हाईवे पर बदमाशों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में गोली लगने से बदमाश की मौत हो गई. उसके ऊपर 50 हजार का इनाम था. वहीं तीन बदमाश भागने में सफल रहे. चारों बदमाश हाईवे पर कार लूटकर भाग रहे थे. पुलिस ने उसके कब्जे से एक पिस्टल, एक डबल बैरल, कारतूस बरामद किया है. मृत अपराधी की पहचान कानपुर पुलिस ने रणबीर उर्फ ​​बावन शुक्ला के रूप में की है. वह विकास दुबे का शातिर साथी था. उसके नाम से चौबेपुर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज था. सूचना देने वालों को 50 हजार का इनाम रखा था. पुलिस ने मुठभेड़ में 50 हजारी के इनामी को मार गिराया. 

विकास दुबे का करीबी प्रभात मिश्रा कानपुर के पास पनकी में स्टेप मुठभेड़ में मारा गया. कल प्रभात मिश्रा को फरीदाबाद में दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया गया था. यूपी पुलिस ने अदालत से ट्रांजिट रिमांड की मांग की थी तथा ट्रांजिट रिमांड के दौरान पूछताछ के लिए एसटीएफ उसे कानपुर ले जा रही थी. बताया जाता है कि पनकी के पास प्रभात मिश्रा ने एक दरोगा की पिस्टल छीनकर भागने का प्रयास कर रहा था तभी पुलिस मुठभेड़ में पुलिस ने उसे मार गिराया.

विकास दुबे (Vikas Dubey) खुद मीडिया के सामने सरेंडर कर सकता है. इसे देखते हुए नोएडा के फिल्म सिटी क्षेत्र में अलर्ट जारी कर दिया गया है और पुलिस फोर्स को भी तैनात किया गया है. मालूम हो कि नोएडा (Noida) के फिल्म सिटी में कई बड़े मीडिया हाउस हैं. जहां मीडिया की मौजूदगी में प्रकाश दुबे पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर सकता है.

First Published : 09 Jul 2020, 08:45:06 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.