News Nation Logo
Banner

कमलेश तिवारी हत्याकांडः उत्तर प्रदेश के CM योगी आदित्यनाथ बोले- आरोपियों को नहीं छोड़ेंगे

लखनऊ में शुक्रवार को बेखौफ बदमाशों ने हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की गला रेत कर हत्या कर दी थी.

By : Deepak Pandey | Updated on: 19 Oct 2019, 04:15:12 PM
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (Photo Credit: (फाइल फोटो))

नई दिल्ली:

लखनऊ में शुक्रवार को बेखौफ बदमाशों ने हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की गला रेत कर हत्या कर दी थी. इस हत्या के बाद सूबे में हड़कंप मच गया. इसके विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए और जमकर प्रदर्शन किया. इस बीच उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने कहा कि कमलेश तिवारी के हत्यारों को नहीं छोड़ा जाएगा.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में इस तरह की घटनाएं अस्वीकार्य हैं. इसमें शामिल लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि वह सभी से मिलते हैं और कमलेश तिवारी के परिवार से मुलाकात करने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं है. एसआईटी को इस केस की जांच सौंपी गई है. सीएम ने आगे कहा, मैं भी इस केस के बारे में पूरा अपडेट लूंगा. इस तरह की घटनाओं को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. इस मामले में दोषियों को छोड़ा नहीं जाएगा.

ये है मामला

बेखौफ बदमाशों ने लखनऊ में हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की गला रेत कर हत्या कर दी. वारदात को अंजाम देकर बदमाश मौके से फरार हो गए. कमलेश को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई. वहीं, सीतापुर में भारी पुलिस बल की मौजूदगी में कमलेश तिवारी का अंतिम संस्कार किया गया.

24 घंटे में आरोपियों को पकड़ने का दावा

इस मामले में पुलिस ने 24 घंटे में ही केस सुलझाने का दावा किया है. यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने मामले को लेकर शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. हमलावर मिठाई के डिब्बे में हथियार छुपाकर लाए थे. डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि मिठाई का डिब्बा इस केस में सबसे अहम सुराग था. इसी मिठाई के डिब्बे को आधार बनाते हुए पुलिस की टीमें गठित की गईं और जांच उत्तर प्रदेश से होते हुए गुजरात तक जा पहुंची.

First Published : 19 Oct 2019, 04:15:12 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×