News Nation Logo
Banner

कमलेश तिवारी हत्याकांड: अखिलेश बोले- योगी ने ऐसा ठोकना सिखाया कि किसी को पता नहीं कि किसे ठोकना है

कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशान साधा है.

By : Deepak Pandey | Updated on: 19 Oct 2019, 11:42:55 PM
यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Photo Credit: (फाइल फोटो))

नई दिल्ली:

कमलेश तिवारी हत्याकांड को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर निशान साधा है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी हत्या कैसे रोक पाएंगे. सीएम खुद कहते हैं कि अगर आप व्यवस्था ठीक रखना चाहते हैं तो ठोक दो, लेकिन किसी को पता नहीं है कि किसे ठोकना है.

यह भी पढ़ेंः ये हैं वे तीन हत्यारे, जिन्होंने की थी कमलेश तिवारी की हत्या, पुलिस ने जारी की तस्वीर

अखिलेश यादव ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि लखनऊ में हिन्दू महासभा के नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गई. आप देख सकते हैं कि टीवी पर लगातार चल रहा है कि उनकी मां क्या कह रही हैं. उनकी मां का कहना है कि अगर हमें कभी सुरक्षा मिली थी तो वो समाजवादी सरकार में सुरक्षा थी और आजम खां के जमाने में सुरक्षा मिली थी. हमें सुरक्षा मिली थी गनर मिले थे, लेकिन इस योगी सरकार ने हमें सुरक्षा नहीं दी, जिसके कारण हमारे बेटे की हत्या हो गई.

उन्होंने आगे कहा कि जहां हत्या हुई है वहां पुलिस का सबकुछ है. बीजेपी का सबकुछ है. चौकी से लेकर ऊपर तक सबकुछ बीजेपी के हैं. सरकार उनकी है बताओ हत्या हो गई कि नहीं, क्या हत्या रोक पाए ये लोग. ये हत्या कैसे रोकेंगे मुख्यमंत्री खुद कहते हैं कि अगर आप व्यवस्था ठीक रखना चाहते हैं तो ठोक दो और ऐसा ठोकना सिखाया है कि जनता को नहीं पता किसको ठोक दे पुलिस को नहीं पता कि किसको ठोक दे.

यह भी पढ़ेंः 6 पैसे प्रति मिनट वसूलने के जियो के कदम का ग्राहकों और कंपनियों पर पड़ेगा ये असर

अखिलेश यादव ने आगे कहा कि बीजेपी के लोग खुद दुखी हैं. उनके लोग मारे जा रहे हैं, परेशान हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि लखनऊ में मृतक की मां का स्टेटमेंट जरूर देखना, फिर आपको पता चल जाएगा कि हत्या का दोषी कौन है. उन्होंने कहा, ये लोग (योगी सरकार) हत्या की कहानी को भी दूसरी कहानी की तरफ लेकर जा रहे हैं और कह रहे हैं कि 2015 में धमकी दी गई थी. अगर 2015 में धमकी दी गई थी तो बताओ ढाई साल से सरकार क्या कर रही थी. ढाई साल से सरकार ने कार्रवाई क्यों नहीं की. यह केवल कहानी बना रहे हैं और जिन्होंने घटना की वह भी नहीं पकड़े गए हैं. पकड़े वो गए हैं जो 2015 में साजिश कर रहे थे.

अखिलेश यादव ने कहा, सरकार जिस रास्ते पर है उसे हमारा और आपका भविष्य बेहतर नहीं हो सकता है. इसलिए लोकतंत्र बचाने के लिए, देश को बचाने के लिए और इस देश की संस्कृति को बचाने के लिए एक-एक वोट साइकिल खींचने पर डाल देना. यही निवेदन है.

First Published : 19 Oct 2019, 08:23:42 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×