News Nation Logo
Banner

बुलंदशहर: DM के घर सीबीआई का छापा, मंगाई गई नोट गिनने की मशीन

अवैध खनन के मामले में बुधवार को CBI की टीम ने यूपी के बुलंदशहर में छापेमारी की. यह छापेमारी टीम ने किसी नेता या छोटे मोट अधिकारी के घर नहीं की है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 10 Jul 2019, 03:07:31 PM
अभय सिंह (फाइल फोटो)

बुलंदशहर:

अवैध खनन के मामले में बुधवार को CBI की टीम ने यूपी के बुलंदशहर में छापेमारी की. यह छापेमारी टीम ने किसी नेता या छोटे मोट अधिकारी के घर नहीं की है. बल्कि यह छापेमारी बुलंदशहर के डीएम अभय सिंह के घर पर की गई है. सूत्रों के मुताबिक अभय सिंह के घर से भारी मात्रा में नकदी बरामद हुई है.

यह भी पढ़ें- UP Board: सिस्टम की सुस्ती से 1022 स्कूलों की मान्यता अधर में लटकी

जिसे गिनने के लिए मशीन भी मंगाई गई है. इसके अलावा सीबीआई टीम ने मुरादाबाद में प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक के महाप्रबंधक शैलेश रंजन के घर पर भी छापेमारी की है. जानकारी के मुताबिक सुबह दो वाहनों में सीबीआई की टीम पहुंची और डीएम के सरकारी आवास पर छापा मारा.

यह भी पढ़ें- उत्तर भारत में भारी बारिश की चेतावनी, उत्तर प्रदेश के इन जिलों में हाई अलर्ट

एक घंटे सघन तलाशी के बाद CBI ने नोट गिनने की मशीन मंगवाई. छापेमारी के वक्त घर पर अभय सिंह भी मौजूद हैं. फतेहपुर जिलमें तैनाती के दौरान अभय सिंह पर अवैध खनन में शामिल होने का आरोप लग चुका है. इसी के सिलसिले में सीबीआई की टीम ने छापेमारी की है.

5 महीने पहले ही अभय सिंह को बुलंदशहर का डीएम बनाया गया था. अवैध खनन के मामले में ही कुछ दिन पूर्व बुलंदशहर की डीएम रहीं बी. चंद्रकला के आवास पर भी छापेमारी की गई थी.

ये है पूरा मामला

साल 2012 में अवैध खनन पट्टों को लेकर हाईकोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई थी. जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने 2013 में आदेश दिया कि अब कोई भी नया पट्टा नहीं दिया जाएगा. इसके साथ ही किसी भी पुराने पट्टे का नवीनीकरण नहीं किया जाएगा. इस दौरान अभय सिंह करीब 10 महीनों तक फतेहपुर के डीएम थे. हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद भी खनन जारी रहा.

यह भी पढ़ें- लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे बनता जा रहा है 'मौत का Expressway'

जिसके बाद जुलाई 2016 में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी के सात जिलों में अवैध खनन के मामलों की जांच सीबीआई को सौंपी थी. जिसमें फतेहपुर, सहारनपुर, कौशांबी, हमीरपुर, शामली, देवरिया और सिद्धार्थनगर शामिल हैं. सीबीआई कई सालों से अवैध खनन के इन मामलों की जांच कर रही है.

यह भी पढ़ें- योगी सरकार ने मॉब लिंचिंग पर लिया बड़ा फैसला, देवबंदी उलेमाओं ने किया स्वगत

जांच में यह भी पता चला कि अवैध खनन की काली कमाई खाने में कई सफेदपोश नेता और अधिकारी भी शामिल हैं. अब जांच के आधार पर लगातार सीबीआई छापेमारी कर रही है.

यहां भी पड़ा छापा

अवैध खनन पट्टे और भ्रष्टाचार के आरोपों में सीबीआई ने आज भी छापेमारी की. लखनऊ, बुलंदशहर और मुरादाबाद में छापेमारी हो रही है. लखनऊ में आईएएस अधिकारी विवेक के घर सीबीआई की रेड हुई. सुशांत गोल्फ सिटी स्थित आवास में सीबीआई ने छापेमारी की है.  2013 में देवरिया डीएम रहते हुए अवैध रूप से खनन पट्टे देने का आरोप है. फिलहाल वह कौशल विकास निगम के एमडी के पद पर तैनात हैं.

First Published : 10 Jul 2019, 01:16:07 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.