News Nation Logo
Banner

हाथरस कांड: प्रियंका गांधी बोलीं. मोहरों के निलंबन से क्या होगा, योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दें

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने हाथरस के सामूहिक बलात्कार के मामले में कुछ अधिकारियों के निलंबन के बाद शुक्रवार को कहा कि ‘मोहरों’ के निलंबन से क्या होगा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा देना चाहिए.

Bhasha | Updated on: 02 Oct 2020, 11:45:22 PM
priyanka gandhi

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Photo Credit: फाइल फोटो )

दिल्ली:

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने हाथरस के सामूहिक बलात्कार के मामले में कुछ अधिकारियों के निलंबन के बाद शुक्रवार को कहा कि ‘मोहरों’ के निलंबन से क्या होगा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा देना चाहिए. उन्होंने यह भी कहा कि हाथरस के जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षक के फोन रिकॉर्ड सार्वजनिक किया जाना चाहिए ताकि पता चल सके कि किसके आदेश पर पीड़िता एवं उसके परिवार को कष्ट दिया गया.

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया कि योगी आदित्यनाथ, कुछ मोहरों को निलंबित करने से क्या होगा? हाथरस की पीड़िता, उसके परिवार को भीषण कष्ट किसके ऑर्डर पर दिया गया? हाथरस के डीएम, एसपी के फोन रिकार्ड सार्वजनिक किए जाएं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपनी जिम्मेदारी से हटने की कोशिश न करें. देश देख रहा है. योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दो. गौरतलब है कि 19 वर्षीय दलित लड़की से कथित सामूहिक बलात्कार के मामले में पुलिस अधीक्षक समेत कई अधिकारियों को निलंबित किया गया है.

हाथरस मामले में सीएम योगी ने की बड़ी कार्रवाई, SP समेत कई अफसर हुए सस्पेंड

हाथरस मामले में सीएम योगी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर मौजूदा एसपी विक्रांत वीर, डीएसपी, इंस्पेक्टर व कुछ अन्य के खिलाफ सस्पेंशन की कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. वादी प्रतिवादी प्रशासन सभी लोगों के नारको पॉलीग्राफ टेस्ट भी कराए जाएंगे.

हाथरस दलित लड़की से गैंगरेप और हत्या का मामला अब पूरी तरह सियासी रंग ले चुका है. इस मामले में शुरुआत से लेकर अभी तक प्रशासनिक लापरवाही सामने आई है. सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath)ने अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई की है. सीएम योगी ने प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर एसपी, डीएसपी, इंस्पेक्टर समेत कई पुलिस अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है. एसआईटी इस केस से जुड़े सभी लोगों के नारको और पॉलीग्राफ टेस्ट कराएगी.

बता दें कि पूरे मामले में एसपी, डीएसपी और डीएम की भूमिका को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ बेहद नाराज हैं. सीएम ऑफिस ने पूरे मामले में अधिकारियों की भूमिका की रिपोर्ट मांगी थी. हाथरस के जिलाधिकारी प्रवीण कुमार लक्षकार पर मृत लड़की के परिवार ने बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं.

जिन अधिकारियों को सस्पेंड किया गया है उनके नाम है. एसपी- विक्रांत वीर, सीओ-राम शब्द, इंस्पेक्टर-दिनेश कुमार वर्मा, एसआई जगवीर सिंह, एचसी-महेश पाल को सस्पेंड किया गया है. वहीं, पुलिस अधीक्षक शामली विनीत जयसवाल को हाथरस का नया पुलिस अधीक्षक तैनात किया गया.

First Published : 02 Oct 2020, 10:47:50 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो