News Nation Logo
Banner

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का अल्टीमेटम, समस्याओं का जल्द करें समाधान

किसानों ने गाजियाबाद और अन्य जिलों में हो रही किसानों की समस्याओं को लेकर 24 घंटे का अल्टीमेटम दे दिया है.

By : Nihar Saxena | Updated on: 20 Dec 2020, 02:01:20 PM
Ghazipur Farmers Ultimatum

गाजीपुर बॉर्डर पर आंदोलनरत किसानों ने की प्रशासन से बात. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

गाजीपुर/गाजियाबाद:

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसानों का प्रदर्शन अब 26वें दिन भी जारी है. ऐसे में रविवार को गाजीपुर बॉर्डर पर किसान नेता वीएम सिंह ने गाजियाबाद प्रशासन से बात की. सिंह ने गाजियाबाद और अन्य जिलों में हो रही किसानों की समस्याओं को लेकर अवगत करा कर 24 घंटे का अल्टीमेटम भी दे दिया है. दरअसल किसानों का आरोप है कि उत्तरप्रदेश के विभिन्न जिलों में किसानों को परेशान कर ट्रैक्टर ट्रॉलियों को जब्त किया जा रहा है. किसान नेता ने एक-एक कर सभी बिंदुओं को गाजियाबाद प्रशासन के सामने रखा और जल्द से जल्द इन समस्याओं को सुलझाने को कहा.

गाजियाबाद एडीएम शैलेंद्र कुमार सिंह और एसपी सिटी 2 ज्ञानेंद्र कुमार सिंह बॉर्डर पर किसानों की समस्याओं को सुनने पहुंचे. किसान नेता वीएम सिंह ने अधिकारियों को 24 घंटे का एक अल्टीमेटम दे दिया है और साथ ही ये भी कहा है कि यदि इन समस्याओं को सुलझया नहीं गया तो नेशनल हाइवे 24 के दूसरी ओर से आने वाली सड़क को भी बंद कर देंगे.

किसान नेता वीएम सिंह ने अधिकारियों को बताया कि जो किसान टोपी, बिल्ला और हाथों में झंडे लेकर आ रहें हैं उनको धरने पर शामिल होने नहीं दिया जा रहा. उन्हें जिले के विभिन्न बॉर्डर पर रोका जा रहा है. वहीं जो लोग यहां से वापस अपने घर जा रहे है तो प्रशासन उनकी ट्रैक्टर ट्रॉली को जब्त कर रहा है वहीं उनसे पूछताछ भी की जा रही है.

गाजियाबाद एडीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि, किसानों को कुछ समस्याएं आ रही है जिन्हें आज हमने सुना है. हम जल्द आलाधिकारियों से बात कर इन समस्याओं का समाधान निकालेंगे. हालांकि इन्हें गाजियाबाद प्रशासन से कोई समस्या नहीं है. इनकी समस्याओं को लिख लिया गया है और हमने किसानों के नम्बर ले लिए है. कल इन सभी की परेशानियों का समाधान लेकर फिर आएंगे.

First Published : 20 Dec 2020, 02:01:20 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.