News Nation Logo

पूर्व क्रिकेटर और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री चेतन चौहान का कोरोना से निधन

कोरोना वायरस संक्रमण के बाद चेतन चौहान की किडनी फेल हो गई थीं. चेतन चौहान की उम्र 73 वर्ष थी, सूत्रों के अनुसार चेतन चौहान के मुख्य अंगों ने काम करना बंद कर दिया था

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 17 Aug 2020, 12:27:07 AM
chetan chauhan

चेतन चौहान (Photo Credit: फाइल)

नई दिल्ली :

पूर्व क्रिकेटर और उत्तर प्रदेश सरकार (Uttar Pradesh Government) में मंत्री चेतन चौहान (Chetan Chauhan) का  कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण से निधन रविवार को निधन हो गया. चेतन चौहान को पिछले महीने की 11 तारीख को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी, जिसके बाद उन्हें लखनऊ के पीजीआई अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. बाद में उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें  मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) के लिए रेफर कर दिया गया था. कोरोना वायरस संक्रमण के बाद चेतन चौहान की किडनी फेल हो गई थीं. चेतन चौहान की उम्र 73 वर्ष थी, सूत्रों के अनुसार चेतन चौहान के मुख्य अंगों ने काम करना बंद कर दिया था, इसीलिए उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था.

आपको बता दें कि इसके पहले जुलाई के महीने में चेतन चौहान की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी. हालांकि तब उन्हें थोड़ी सावधानी के साथ क्वारंटीन किया गया था लेकिन अब चेतन चौहान की तबीयत काफी ज्यादा बिगड़ती जा रही है. डॉक्टर्स के मुताबिक चौहान की हालात गंभीर बनी हुई है. चेतन चौहान अमरोहा जिले की नौगांवा विधानसभा के विधायक हैं और योगी सरकार में मंत्री भी हैं. 11 जुलाई को चेतन चौहान के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर आई थी, जिसके बाद उन्‍हें लखनऊ के पीजीआई में भर्ती करवाया गया था. चेतन चौहान के बारे में जानकारी पूर्व भारतीय ओपनर और कमेंटेर आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra) ने दी थी.

देश के लिए 40 टेस्ट मैचों में किया था प्रतिनिधित्व
भारतीय टीम के लिए चेतन चौहान ने कुल 40 टेस्ट मैचों में देश का प्रतिनिधित्व किया था इसके अलावा उन्होंने 7 वनडे मैच भी खेले थे. क्रिकेट करियर समाप्त होने के बाद उन्होंने राजनीतिक करियर शुरू किया और साल 1991 में पहली बार बीजेपी के टिकट से सांसद बने थे. इसके बाद 1998 में भी चेतन दोबारा सांसद चुनकर लोकसभा पहुंचे थे. वर्तमान समय में चौहान उत्तर प्रदेश सरकार में होमगार्ड मंत्री हैं. कई लोगों को ट्विटर पर चेतन चौहान की तबियत ठीक होने के लिए दुआ करते हुए देखा गया है. चेतन चौहान ने टेस्ट क्रिकेट में भारत के लिए 2 हजार से भी ज्यादा रन बनाए हैं. कई बार उन्हें क्रिकेट कमेंट्री बॉक्स में मैचों का आखों देखा हाल सुनाते हुए भी देखा गया है.

डेब्यू टेस्ट में ही लगा दिया पहला और अंतिम छक्का
आपको जानकर हैरत होगी कि चेतन चौहान ने अपने डेब्यू टेस्ट मैच में ही टेस्ट क्रिकेट करियर का पहला और आखिरी छक्का लगाया था. चेतन चौहान ने सितंबर 1969 में न्यूजीलैंड के खिलाफ अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की इस टेस्ट मैच में उन्होंने पहले आधे घंटे तक कोई रन नहीं बनाया लेकिन उसके बाद उन्हों एक चौका और एक छक्का लगातार लगाया यही छक्का चेतन चौहान के टेस्ट क्रिकेट करियर का पहला और आखिरी छक्का साबित हुआ. इसके बाद वो अपने 40 टेस्ट मैचों के करियर में छक्का नहीं लगा सके. चेतन चौहान ने 40 टेस्ट मैचों में 31.57 की औसत से 2084 रन बनाए, जबकि एकदिवसीय क्रिकेट की बात करें तो उन्होंने कुल 7 वनडे इंटरनेशनल मैच खेले और इस दौरान उन्होंने 7 मैचों में 21.85 के एवरेज से 153 रन बनाए. चेतन अपने इंटरनेशनल करियर के दौरान एक भी शतक नहीं लगा सके. टेस्ट क्रिकेट में उनक उच्चतम स्कोर 97 रन था.

चेतन चौहान के नाम है क्रिकेट का ये अनोखा रिकॉर्ड
चेतन चौहान के नाम एक और अनोखा रिकार्ड है वो दुनिया के दूसरे ऐसे बल्लेबाज हैं जिसने टेस्ट करियर में बिना शतक लगाए हुए ही 2 हजार रन बना दिए थे. ये रिकॉर्ड कई सालों तक उनके नाम बना रहा, हालांकि बाद में ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने उनके इस रिकॉर्ड को तोड़ दिया. शेन वॉर्न ने अपने टेस्ट करियर में 145 टेस्ट मैच खेलकर बिना शतक लगाए कुल 3184 रन बना दिए थे. चेतन चौहान ने अपने टेस्ट करियर में 16 अर्द्धशतक लगाए थे लेकिन वो कोई भी शतक नहीं लगा सके. उनका उच्चतम स्कोर 97 रन था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 16 Aug 2020, 05:37:32 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.