News Nation Logo
Breaking
Banner

UP Election : EC का SP को नोटिस, 24 घंटे में जवाब नहीं तो सख्त एक्शन

चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी के लखनऊ कार्यालय पर वर्चुअल रैली के नाम पर जुटी भारी भीड़ के मामले का संज्ञान लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 15 Jan 2022, 11:45:12 PM
eci

चुनाव आयोग (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • चुनाव आयोग ने सपा को नोटिस जारी कर दिया है
  • वर्चुअल रैली में जुटी भारी भीड़ ने कोरोना गाइडलाइन्स की धज्जियां उड़ा दी
  • 2500 सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ पहले ही शिकायत दर्ज की जा चुकी है

लखनऊ:  

चुनाव आयोग ने सपा को नोटिस जारी कर दिया है. अगर 24 घंटे के अंदर जवाब नहीं दिया गया तो सख्त एक्शन लिया जा सकता है. चुनाव आयोग ने समाजवादी पार्टी के लखनऊ कार्यालय पर वर्चुअल रैली के नाम पर जुटी भारी भीड़ के मामले का संज्ञान लिया है. कोरोना संकट की वजह से अभी चुनावी राज्यों में रैलियों पर रोक लगी हुई है. लेकिन समाजवादी पार्टी ने अपने लखनऊ वाले कार्यक्रम में स्वामी प्रसाद मैर्य और अन्य नेताओं के पार्टी सदस्यता लेने के दिन वर्चुअल रैली आयोजित किया. जिसमें जुटी भारी भीड़ ने कोरोना गाइडलाइन्स की धज्जियां उड़ा दी. इस विवाद की वजह से 2500 सपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ पहले ही शिकायत दर्ज की जा चुकी है. 

कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से पहले चुनाव आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों पर रोक लगा दी थी. फिर आज अब 22 जनवरी तक उस रोक को बढ़ा दिया गया है. लेकिन सपा ने 14 जनवरी को जो कार्यक्रम किया था, उसमें कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ाई गई थीं. सोशल डिस्टेंसिंग का भी ख्याल नहीं रखा गया था. इसी वजह से पहले वहां के डीएम ने जांच के आदेश दिए थे और फिर सपा के कार्यकर्ताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी. 

जिस रैली को लेकर इतना बवाल है वो यूपी चुनाव के लिहाज से काफी अहम रही थी. उस कार्यक्रम के जरिए समाजवादी पार्टी में ओबीसी समाज के बड़े नेता स्वामी प्रसाद मौर्य शामिल हो गए थे. उनके साथ बीजेपी से आए कई दूसरे विधायक-मंत्री भी सपा में शामिल हुए थे. ऐसे में चुनावी मौसम में पार्टी के लिए फायदा तो बड़ा रहा, लेकिन कोरोना प्रोटोकॉल टूटने की वजह से मुसीबत बढ़ गई.  

यह भी पढ़ें: UP Election : क्या वर्चुअल रैली में BJP को मिलेगा फायदा ? जानें अन्य दलों की स्थिति

आयोग सूत्रों ने पहले ही साफ कर दिया था की इस चुनाव में राजनीतिक दलों, नेताओं, कार्यकर्ताओं या फिर जनता की कोई मनमानी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. क्योंकि करते ये लोग हैं और अदालत आयोग को दोषी ठहराती है. आयोग ने भी शुक्रवार को हुई बैठक में पर्यवेक्षकों से कहा है कि वो हर जगह दिखें. मुस्तैद रहें. इस बार आयोग वीडीओ ग्राफर और माइक्रो ऑब्जरवर की संख्या भी बढ़ा चुका है. साथ ही आम सजग नागरिक को भी Cvigil मोबाइल एप का औजार दे दिया है ताकि चप्पे चप्पे पर निगहदारी रहे.

First Published : 15 Jan 2022, 11:42:53 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.