News Nation Logo

जिला पंचायत ने पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय को थमाया मकान खाली करने का नोटिस

उत्तर प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय को मकान खाली करने के लिए जिला पंचाय की ओर से नोटिस भेजा गया है.

By : Yogendra Mishra | Updated on: 17 Sep 2019, 06:51:48 PM
माता प्रसाद पांडेय (फाइल फोटो)

highlights

  • 1978 में जिला पंचायत ने 99 साल के लिए दिया था पट्टा
  • जनता पार्टी की सरकार में पट्टा दिया गया था
  • 50 रुपये महीना है पट्टे का किराया

सिद्धार्थनगर:

उत्तर प्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय को मकान खाली करने के लिए जिला पंचाय की ओर से नोटिस भेजा गया है. नोटिस में माता प्रसाद पांडेय को 7 दिन के अंदर ये मकान खाली करने को कहा गया है. वहीं मामले में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष ने बीजेपी विधायक और योगी सरकार में मंत्री सतीश द्विवेदी पर मकान खाली कराने का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़ें- कांग्रेस ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वह एक धोखेबाज पार्टी है: मायावती

जानकारी के मुताबिक 1978 में जनता पार्टी की सरकार की तरफ से ये मकान आवंटित हुआ था. इसमें 50 रुपया महीने पर 99 साल का पट्टा किया गया था. मामले में बताया जा रहा है कि सरकार के शासनादेश के आधार पर जिला पंचायत ने नोटिस भेजा है. जिसमें 7 दिनों में मकान खाली करने को कहा गया है.

यह भी पढ़ें- UP सरकार के इस बड़े फैसले पर HC ने लगाई रोक तो मायावती ने दिया ऐसा रिएक्शन 

नोटिस को लेकर माता प्रसाद पांडेय ने प्रेस कान्फ्रेंस कर प्रदेश की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि यह अब तक की सबसे दमनकारी सरकार है. उन्होंने कहा कि ये सरकार प्रदेश के साथ मेरे जिले में भी सपा के कार्यकर्ताओं को परेशान कर रही है. माता प्रसाद पांडेय ने अपने आवास पर ये प्रेस कान्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि शासन के द्वारा एलाट किए गए सरकारी भवन को 50 रुपये महीने के हिसाब से 99 वर्षों के लिए एलाट किया गया था. उसे आज राजनीतिक दबाव में सीधे खाली कराया जा रहा है. उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन स्थानीय विधायक के इशारे पर काम कर रहा है.

यह भी पढ़ें- इधर बिगड़ी स्वामी चिन्मयानंद की तबीयत, उधर लटक रही है गिरफ्तारी की तलवार 

माता प्रसाद पांडेय ने बताया कि जब बस्ती जिला था तब 1978 में जिला पंचायत ने ये पट्टा आवंटित किया था. इसकी राशि वह हर महीने जमा करते रहे हैं. 2009 में स्थानीय सांसद ने इसे खाली कराने की कोशिश की थी. हालांकि वह इसमें कामयाब नहीं हो सके.

First Published : 17 Sep 2019, 06:51:48 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.