News Nation Logo
Banner

दारुल उलूम ने दुनिया के सारे बड़े आतंकवादी पैदा किए हैं : गिरिराज सिंह

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद भी बीजेपी नेता जुबानी वार से पीछे नहीं हट रहे हैं. मंगलवार को देवबंद पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने दारुल उलूम को आतंकियों का गढ़ बता दिया.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 12 Feb 2020, 11:54:24 AM
गिरिराज सिंह।

गिरिराज सिंह। (Photo Credit: फाइल फोटो)

सहारनपुर:  

दिल्ली विधानसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद भी बीजेपी (BJP) नेता जुबानी वार से पीछे नहीं हट रहे हैं. मंगलवार को देवबंद पहुंचे केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने दारुल उलूम को आतंकियों का गढ़ बता दिया. उन्होंने कहा कि दारूल उलूम आतंकियों की गंगोत्री है. इसके साथ ही उन्होंने मुस्लिम राष्ट्र बनाने की साजिश का इशारा किया. इसके साथ ही दिल्ली की हार को गिरिराज सिंह ने एक चूक करार दिया.

यह भी पढ़ें- मथुरा गोलीकाण्ड : बेटी पर पिता की हत्या, मां की जान लेने की कोशिश के आरोप में मुकदमा दर्ज

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि वह नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लड़ाई नहीं लड़ रहे. बल्कि गजवा-ए-हिंद के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि गजवा-ए-हिंग को भारत में लाकर मुस्लिम राष्ट्र बनाने की योजना है. लेकिन हम उसका यह मकसद कामयाब नहीं होने देंगे.

देवबंद के देवीकुंड में महाकालेश्वर मंदिर आश्रम के स्वामी ब्रह्मानंद सरस्वती से मिलने के लिए आए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ धरना नहीं दे रहे हैं. बल्कि यह देश में खिलाफत आंदोलन कर रहे हैं. शाहीन बाग में शरजील इमाम कह रहा है कि वह देश को असम से काट देगा. फिर हम इन्हें मजबूर करके इस्लामी स्टेट बनाएंगे.

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश : लखनऊ में आरएसएस का परिवर्तन कुंभ 16 फरवरी से

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आरोप लगाया कि भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाने की कोशिश हो रही है. यहां गजवा-ए-हिंद लाने की कोशिश हो रही है. पूरी दुनिया के मुकाबले मुस्लिमों की भारत में बेहतर स्थिति है. फिर भी सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हो रहा है. यह गजवा-ए-हिंद करना चाहते हैं जो नामुमकिन है.

First Published : 12 Feb 2020, 11:23:56 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.