News Nation Logo

यूपी के ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र होंगे बेहतर

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के इलाज के लिए सुविधाओं को मजबूत करने के लिए योगी सरकार ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) को एल-वन प्लस में तब्दील करने का निर्देश दिया है.

IANS | Edited By : Vineeta Mandal | Updated on: 14 May 2021, 12:57:00 PM
community hall

community hall (Photo Credit: (फोटो-Ians))

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के इलाज के लिए सुविधाओं को मजबूत करने के लिए योगी सरकार ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सीएचसी) को एल-वन प्लस में तब्दील करने का निर्देश दिया है. ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर से लैस इन अस्पतालों में सुविधाओं के विस्तार से लोगों को सीधे तौर पर राहत मिलेगी. मुख्यमंत्री योगी के निर्देश के बाद प्रदेश के प्रत्येक जनपदों के चार सीएचसी अस्पतालों को एल वन प्लस में तब्दील किया जा रहा है. जिसमें 50-50 बेड की सुविधा, ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर और डॉक्टरों की विशेष टीम मरीजों की 24 घंटे निगरानी करेगी. गांवों में लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने के लिए योगी सरकार प्रतिबद्ध है. कोरोना संकट को देखते हुए गांवों में ऑक्सीजन और बेड की किल्लत से लोगों को जूझना न पड़े इसलिए मुख्यमंत्री योगी ने प्रदेश के प्रत्येक जनपदों के सीएचसी अस्पतालों में चार-चार एल वन प्लस सुविधाओं से लैस करने का आदेश दिया है. जहां आधुनिक ऑक्सीजन मशीनें होंगी.

ग्रामीण क्षेत्रों में एल वन प्लस अस्पतालों में बेड के साथ मरीज को ऑक्सीजन की सुविधा भी दी जाएगी. बता दें कि शहरी क्षेत्रों में जहां आइसोलेशन वार्ड को एल वन अस्पताल कहा जाता है जिसमें हल्के लक्षण वाले मरीजों को केवल बेड, उपचार और डॉ की निगरानी में उसकी देख रेख की जाती है. ग्रामीण क्षेत्रों में इस सुविधा को बढ़ाते हुए बेड के साथ ऑक्सीजन की सुविधा भी दी जाएगी.

महानिदेशक डीएस नेगी ने बताया कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में ऑक्सीजन के लिए सीएम योगी के निर्देशानुसार 17000 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के ऑर्डर दिए गए हैं जो जल्द से जल्द मिल जाएंगे.

और पढ़ें: बिहार के शव का UP में दाह संस्कार करने पर योगी सरकार ने लगाई रोक, जानें वजह

बता दें कि भारत में शुक्रवार को कोरोना के 3,43,144 नए मामले सामने आए. इस दौरान 4,000 लोगों की मौत हुई. इसकी जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने दी. पिछले 22 दिनों में भारत में तीन-लाख से ज्यादा कोरोना मामले और 3,000 से अधिक हताहतों की संख्या दर्ज की गई है. बुधवार को, भारत में कोरोना संक्रमण से 4,205 लोगों की मौत हो गई है जबकि 7 मई को देश ने अपने अब तक के कोरोना के सबसे ज्यादा 4,14,188 मामले दर्ज किए थे.

भारत में कोविड -19 मामलों की कुल संख्या अब 2,40,46,809 है, जिसमें 37,04,893 सक्रिय मामले हैं और अब तक 2,62,317 लोगों की मौतें हुई हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटों में कुल 3,44,776 लोगों के ठीक होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया है. इसी के साथ कोरोना से 2,00,79,599 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं.

First Published : 14 May 2021, 12:55:16 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.