News Nation Logo
Banner

कैबिनेट मंत्री कमला वरुण की कोरोना से मौत के चलते CM योगी ने अयोध्या दौरा किया निरस्त

सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को साढ़े 12 बजे अयोध्या पहुंचने वाले थे. 5 अगस्त को अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए होने जा रही भूमि पूजन की तैयारियों का जायजा लेते.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 02 Aug 2020, 10:30:51 AM
yogi adityanath

yogi adityanath (Photo Credit: फाइल फोटो)

अयोध्या:

सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को साढ़े 12 बजे अयोध्या पहुंचने वाले थे. 5 अगस्त को अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए होने जा रही भूमि पूजन की तैयारियों का जायजा लेते. सीएम अधिकारियों के साथ बैठक कर तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए निर्देश देते. लेकिन कैबिनेट मंत्री कमला वरुण की कोरोना से मौत के चलते उन्होंने अयोध्या का दौरा निरस्त कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जहां-जहां कार्यक्रम है हर उस जगह की तैयारियों को देखने सीएम योगी आदित्यनाथ खुद जाते. शाम 5 बजे योगी आदित्यनाथ वापस लखनऊ लौटने की योजना थी. वहीं अयोध्या में सीएम योगी रामजन्मभूमि परिसर के नजदीक मानस भवन में सभी आला अधिकारियों के साथ तैयारियों की समीक्षा करते.

यह भी पढ़ें- राम मंदिर भूमि पूजन से पहले अयोध्या अभेद्य किले में तब्दील, एक दिन पहले ही सीमाएं सील

भूमि पूजन से पहले अभेद्य किले में तब्दील

जैसे-जैसे राम मंदिर भूमि पूजन की तारीख नजदीक आ रह है, वैसे-वैसे तैयारियां भी जोर पकड़ रही हैं. 5 अगस्त को भूमि पूजन है. वहीं अयोध्या भूमि पूजन से पहले अभेद्य किले में तब्दील हो गया है. एक दिन पहले ही सीमा सील हो जाएगी, साथ ही अयोध्या में प्रवेश भी बंद हो जाएगा. समारोह की पूर्व संध्या पर अयोध्या और फ़ैजाबाद शहर की सभी सीमाएं सील कर दी जाएंगी. किसी को भी प्रवेश की अनुमति नहीं होगी.  हनुमानगढ़ी के मुख्य पुजारी महंत राजू दास ने कहा कि 5 अगस्त को प्रधानमंत्री भूमिपूजन के लिए आ रहे हैं, उन्होंने तय किया है कि पहले वो हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे. यहां विशेष पूजा की व्यवस्था रहेगी. हमें 7 मिनट दिए गए हैं, इसमें प्रधानमंत्री का आना-जाना शामिल है, करीब 3 मिनट पूजा में लगेंगे.

यह भी पढ़ें-  राखी पर योगी सरकार ने दिया बहनों को तोहफा, बसों में करेंगी मुफ्त यात्रा 

चप्पे-चप्पे पर निगरानी की जा रही 

भूमि पूजन कार्यक्रम के मद्देनजर पूरे जिले को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया है. चप्पे-चप्पे पर निगरानी की जा रही है. इतना ही नहीं भूमि पूजन वाले दिन एक साथ पांच लोग इकट्ठे नहीं होंगे. एक दिन पहले ही अयोध्या की सीमाएं सील कर दी जाएगी. यानी जितने भी आमंत्रित मेहमान होंगे वे चार अगस्त को ही अयोध्या पहुंच जाएंगे. शनिवार को मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव गृह, डीजीपी सहित अन्य अधिकारियों ने अयोध्या का दौरा कर रामजन्मभूमि सहित पूरी अयोध्या की सुरक्षा का ब्लूप्रिंट तैयार कर अधिकारियों को उस पर अमल का निर्देश जारी कर दिया है. जिसके तहत प्रधानमंत्री के दौरे के दौरान कई प्रोटोकॉल का पालन किया जाना है.

First Published : 02 Aug 2020, 10:21:50 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×