News Nation Logo

कोरोना के बीच 'ब्लैक फंगस' से निपटने के लिए सीएम योगी अलर्ट, अधिकारियों को दिए निर्देश

महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात के बाद अब इस बीमारी ने उत्तर प्रदेश में दस्तक दे दी है. यूपी के कई शहरों में ब्लैक फंगस (Black Fungus) नाम की बीमारी से ग्रसित मरीज पाए गए हैं. सीएम योगी ने ठोस रणनीति के साथ कदम बढ़ाए जाने के निर्देश दिए हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 12 May 2021, 03:49:31 PM
CM Yogi

CM Yogi (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • यूपी के कई शहरों में मिले 'ब्लैक फंगस' के मरीज
  • लखनऊ में भी 'ब्लैक फंगस' के मरीज मिले
  • 'ब्लैक फंगस' को लेकर सीएम योगी ने बैठक की

नई दिल्ली:

कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में एक नया जानलेवा रोग कहर बरपा रहा है. लोगों की जान का दुश्मन बन रही ब्लैक फंगस (Black Fungus) यानी म्युकरमाइकोसिस (Mucormycetes) की बीमारी देश में लगातार पैर फैला रही है. महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात के बाद अब इस बीमारी ने उत्तर प्रदेश में दस्तक दे दी है. यूपी के कई शहरों में ब्लैक फंगस (Black Fungus) नाम की बीमारी से ग्रसित मरीज पाए गए हैं. प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी 8 कोविड पेशेंट में म्युकरमाइकोसिस (Mucormycetes) नाम का जानलेवा फंगस पाया गया है. इस नए बीमारी से निपटने के लिए भी सीएम योगी ने कमर कस ली है. 

ये भी पढ़ें- इजरायल में रॉकेट हमले में मारी गई केरल की महिला का शव भारत लाया जाएगा

ब्लैक फंगस (Black Fungus) के बढ़ते दायरे को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इस युद्ध में हर स्तर पर पूरी सतर्कता व ठोस रणनीति के साथ कदम बढ़ाए जाने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री ने यूपी के स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा मंत्रालय से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है. उन्होंने इस बीमारी से निपटने के लिए राज्य स्तरीय गठित स्वास्थ्य विशेषज्ञों की समिति से इस सम्बंध में विमर्श करने का आदेश दिया है. सीएम ने अधिकारियों को आदेश दिया है कि इस बीमारी से बचाव के लिए सावधानियां, लाइन ऑफ ट्रीटमेंट, तैयारियों की विस्तृत रिपोर्ट जल्द दें.

सीएम योगी ने अधिकारियों को दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लखनऊ स्थित अपने सरकारी आवास पर कोविड प्रबंधन की समीक्षा बैठक में टीम-9 को विभिन्न दिशा-निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी प्रदेशवासियों के जीवन और जीविका की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी जरूरी प्रयास किए जा रहे हैं. संक्रमण दर लगातार कम होता जा रहा है, जबकि रिकवरी दर हर दिन बेहतर हो रही है. 

क्या है ब्लैक फंगस (म्युकरमाइकोसिस) रोग

अब तक कोरोना संक्रमित मरीज या कोरोना से स्वस्थ हुए मरीजों में ब्लैक फंगस इंफेक्शन देखा गया है. यह इंफेक्शन आमतौर पर उन लोगों में पाया गया है, जिनका शरीर किसी बीमारी से लड़ने में कमजोर होता है. सुगर पेशेंट में ये फंगस ज्यादा फैलता है. आंख, नाक के रास्ते ये फंगस दिमाग तक पहुंचता है और इस दौरान रास्ते में आने वाली हड्डी और त्वचा को नष्ट कर देता है और इसमें मृत्यु दर काफी ज्यादा है.

ये भी पढ़ें- चुनाव ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले कर्मियों के परिजनों को मिले एक-एक करोड़ मुआवजा- इलाहाबाद हाईकोर्ट

डॉक्टर्स का क्या कहना है ? 

लखनऊ के सीवीओ हॉस्पिटल के वरिष्ठ डॉक्टर एमबी सिंह इस फंगस को घातक तो मानते हैं, लेकिन इससे डरने की जरूरत नहीं मानते हैं. डॉक्टर का कहना है कि जो पेशेंट बहुत ज्यादा दिन तक ऑक्सीजन और वेन्टीलेटर्स के स्पोर्ट पर रहते हैं और जिनका सुगर अनकंट्रोल है, उनमें से भी किसी किसी को ही ये फंगस अपना शिकार बना रहा है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 May 2021, 03:44:13 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.