News Nation Logo

चित्रकूट गैंगवार मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने लिया संज्ञान, 6 घंटे में मांगी रिपोर्ट

उत्तर प्रदेश की चित्रकूट जेल ( Chitrakoot Jail ) उस वक्त जंग का मैदान बन गई, जब वहां गैंगवार ( Gangwar ) छिड़ गई. जेल के अंदर ही दो गुट आपस में जा भिड़ गए और इस झड़प में दो गैंगस्टरों की हत्या कर दी है.

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 14 May 2021, 04:13:06 PM
cm yogi

चित्रकूट गैंगवार : CM योगी ने लिया संज्ञान, 6 घंटे में मांगी रिपोर्ट (Photo Credit: फाइल फोटो)

चित्रकूट:

उत्तर प्रदेश की चित्रकूट जेल ( Chitrakoot Jail ) उस वक्त जंग का मैदान बन गई, जब वहां गैंगवार ( Gangwar ) छिड़ गई. जेल के अंदर ही दो गुट आपस में जा भिड़ गए और इस झड़प में दो गैंगस्टरों की हत्या कर दी है. जेल में अंशुल दीक्षित नामक गैंगस्टर बंदी ने फायरिंग कर दो अन्य गैंगस्टर मेराजुद्दीन और मुकीम उर्फ काला को मार डाला है. मुकीम काला पश्चिम यूपी ( West UP ) का बड़ा बदमाश था. इस गैंगवार के बाद एनकाउंटर में पुलिस ने भी अंशुल दीक्षित को मार गिराया है. जेल के अंदर गैंगवार को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) सख्त हैं.

चित्रकूट जेल की घटना के संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है. सीएम योगी ने 6 घंटे में मामले की रिपोर्ट तलब की है. इस मामले की जांच चित्रकूट के कमिश्नर डीके सिंह, आईजी के सत्यनारायण और डीआईजी कारागार मुख्यालय संजीव त्रिपाठी की संयुक्त टीम करेगी. तीनों वरिष्ठ अफसर जांच कर मुख्यमंत्री को रिपोर्ट उपलब्ध कराएंगे.

बताया जा रहा है कि इस घटना के बाद फिलहाल कारागार में शांति है तथा स्थिति नियंत्रण में है. चित्रकूट जेल से प्राप्त सूचना के अनुसार, जिला जेल चित्रकूट की उच्च सुरक्षा बैरक में निरुद्ध अंशु दीक्षित पुत्र जगदीश (जो  जिला जेल सुल्तानपुर से प्रशासनिक आधार पर स्थानांतरित होकर चित्रकूट में निरूद्ध है) ने आज सुबह लगभग 10 बजे सहारनपुर से प्रशासनिक आधार पर आए बंदी मुकीम काला तथा बनारस जिला जेल से प्रशासनिक आधार पर आए मेराज अली को असलहे से मार दिया तथा पांच अन्य बंदियों को अपने कब्जे में कर लिया.

इसके बाद उन्हें जान से मारने की धमकी देने लगा, क्योंकि उसके पास असलहा था. ऐसे में जिला प्रशासन को सूचना दी गई. चित्रकूट के डीएम और एसपी द्वारा पहुंचकर बंदी को नियंत्रित करने का बहुत प्रयास किया गया, किंतु वह पांच अन्य बंदियों को भी मार देने की धमकी देता रहा. उसकी आक्रामकता तथा जिद को देखते हुए पुलिस द्वारा कोई विकल्प ना देखते हुए की गई फायरिंग में अंशु दीक्षित भी मारा गया. इस प्रकार कुल 3 बंदी इस घटना में में मरे हैं. फिलहाल कारागार में तलाशी कराई जा रही है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 May 2021, 04:13:06 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.