News Nation Logo
Banner

बागपत में ग्रामीणों ने लिया किराए पर पुल, 5 हजार रुपये है किराया

बागपत जिले के एक गांव के बाशिन्दे किराये के पुल के सहारे आने जाने को मजबूर हैं. सुनकर शायद आपको अजीब लगेगा लेकिन ये बात सोलह आने सच है.

By : Yogendra Mishra | Updated on: 25 Sep 2019, 05:57:52 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

प्रतीकात्मक फोटो।

बागपत:

बागपत जिले के एक गांव के बाशिन्दे किराये के पुल के सहारे आने जाने को मजबूर हैं. सुनकर शायद आपको अजीब लगेगा लेकिन ये बात सोलह आने सच है. जी हां, ये मामला बागपत जिले के रमाला इलाके के लूम्ब गाँव का है. जहां जिला प्रशासन और ग्राम प्रधान की अनदेखी के चलते ग्रामीणों को किराए का पुल लगाना पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें- सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद UP में होमगार्डों का भत्ता बढ़ा, अब हुआ इतना

इस पुल का किराया भी कुछ कम नहीं बल्कि 5 हजार रुपये है. इसे लगाना ग्रामीणों की मजबूरी हो गया है. क्योंकि गांव की गलियों में कीचड़ और गंदा पानी भरा हुआ है. जिसके कारण आवाजाही का रास्ता बंद हो चुका है. शिकायत के बाद भी प्रधान ने सफाई नहीं कराई.

यह भी पढ़ें- ट्रिपल तलाक की ही तरह हिंदू महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए आएगा कानून

रमाला के लूम्ब गाँव में जिस पुल पर आप लोग जिस पुल से आते जाते हैं वो किसी नदी या नाले पर नहीं बना है बल्कि गांव की गली है. इस पुल को ग्रामीणों ने 5 हजार रुपये प्रति माह के किराए पर लिया है. ग्रामीणों की माने तो गलियो में कीचड़ भरा है जिससे लोगों को आने जाने में दिक्कत होती है.

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड क्रिकेट प्रेमियों के लिए निराशाभरी खबर, अफगानिस्तान की टीम छोड़ेगी अपना होम ग्राउंड

इसकी शिकायत ग्राम प्रधान से ग्रामीण कई बार कर चुके हैं. लेकिन प्रधान का इस और कोई ध्यान नहीं दे रहे. वहीं इस बाबत जब प्रशानिक अधिकरियों से बात की गई तो एसडीएम बडौत गुलशन कुमार ने जाँच के आदेश दिए साथ ही BDO और ग्राम प्रधान को भी तलब किया है. समस्या का जल्द समाधान करने के आदेश भी दे दिए है.

First Published : 25 Sep 2019, 05:57:52 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो