News Nation Logo
मुंबई भी पहुंचा ओमीक्रॉन वैरिएंट, एक और मरीज मिला प्रियंका गांधी का बड़ा आरोप- UP TET घोटाले में दाल में कुछ काला ही नहीं, पूरी दाल ही काली है BJP योगी के नेतृत्व में लड़ेगी यूपी चुनाव: अमित शाहRead More » IPL 2022 : RCB के साथ फिर जुड़ेंगे एबी डिविलियर्स, विराट कोहली के साथ...!Read More » नवजोत सिंह सिद्धू ने फिर की भारत-पाक बार्डर खोलने की मांग ओमीक्रॉन को लेकर केंद्र की राज्यों को चिट्ठी, Omicron पर ट्रेसिंग और टेस्टिंग बढ़ाना जरूरी MSP गारंटी पर कमेटी के लिए 5 नामों पर बनी सहमति PM मोदी ने देवभूमि को किया प्रणाम, पढ़ी ये कविता 'जहां पर्वत गर्व सिखाते हैं...'Read More » ओमीक्रॉन खौफ के बीच टीम इंडिया का दक्षिण अफ्रीका दौरा टला न्यूजीलैंड में शामिल मुंबई के लड़के एजाज पटेल ने किया कमाल. लिए 10 विकेट

उन्नाव रेप कांड मामला: इधर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, उधर सेंगर पार्टी से बाहर

बीजेपी ने आखिरकार रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. माना जा रहा है कि विपक्ष के लगातार दबाव बनाए जाने के बाद बीजेपी को यह कड़ा कदम उठाना पड़ा.

योगेंद्र मिश्रा | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 01 Aug 2019, 01:44:38 PM
कुलदीप सेंगर (फाइल फोटो)

लखनऊ:

बीजेपी ने आखिरकार रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. माना जा रहा है कि विपक्ष के लगातार दबाव बनाए जाने के बाद बीजेपी को यह कड़ा कदम उठाना पड़ा. बीजेपी पर लगातार समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी निशाना साध रही थी. सभी बस यही कह रहे थे कि कुलदीप सिंह सेंगर को सत्ता का संरक्षण दिया जा रहा है. बीजेपी लगातार अपने विधायक के लिए बचाव की मुद्रा में है.

यह भी पढ़ें- उन्नाव रेप कांड में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, UP से बाहर होगी जांच, CBI से स्टेटस रिपोर्ट तलब

लेकिन अब पार्टी ने कुलदीप सेंगर को बीजेपी से निष्कासित कर दिया है. उत्तर प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा था कि कुलदीप सेंगर फिलहाल पहले ही पार्टी से सस्पेंड हैं. जब तक उन पर यह जांच चलती रहेगी तब तक वह सस्पेंड ही रहेंगे.

यह भी पढ़ें- Unnao Rape Case: CBI की प्राथमिक जांच में सामने आए ये चौंका देने वाले तथ्य 

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था कि ''स्थानीय बीजेपी सांसद साक्षी महाराज द्वारा जेल में रेप आरोपी बीजेपी विधायक से मिलना यह प्रमाणित करता है कि गैंग रेप आरोपियों को लगातार सत्ताधारी बीजेपी का संरक्षण मिल रहा है, जो इंसाफ का गला घोटने जैसा है. मा. सुप्रीम कोर्ट को इसका संज्ञान अवश्य लेना चाहिए.''

यह भी पढ़ें- उन्नाव कांड सरकार के संरक्षण के बिना संभव नहीं, अब परतें खुल रहीं, प्रियंका गांधी ने लगाए गंभीर आरोप 

सोशल मीडिया पर भी बीजेपी पर लोग लगातार हमलावर हो रहे थे. लोग पूछ रहे थे कि जब प्रणव सिंह चैंपियन ने हथियार लहराए तो बीजेपी ने उन्हें पार्टी से बाहर कर दिया. लेकिन रेप जैसे गंभीर मामले में आरोपी होने के बाद भी आखिर बीजेपी सेंगर पर कार्रवाई करने से क्यों कतरा रही है.

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के बीच BJP का कदम

उन्नाव रेप कांड की पीड़िता के एक्सीडेंट मामले का सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लिया है. इसकी सुनवाई 1 अगस्त को की गई. सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई के अधिकारियों को तलब किया और पूछा कि आखिर जांच कहां तक पहुंची है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में 12 बजे तक स्टेटस रिपोर्ट सौंपने को कहा था.

जिसे लेकर सरकार की तरफ से वकील ने यह कहते हुए समय मांगा था कि जांच से जुड़े अधिकारी लखनऊ में हैं. उन्हें आने में समय लगेगा. जिस पर चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा था कि सीबीआई के डायरेक्टर अधिकारियों से जानकारी लेकर स्टेटस रिपोर्ट दें. अगर वह चाहें तो चेंबर में भी इस मामले की सुनवाई की जा सकती है.

First Published : 01 Aug 2019, 12:28:19 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.