News Nation Logo

बीएचयू में जल्द खुलेगा देश का पहला अटल अध्ययन केंद्र

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन प्रो. कौशल किशोर मिश्रा ने बताया कि, भारत रत्न देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल के नाम पर BHU में अटल अध्ययन केंद्र स्थापित किया जा रहा है.

IANS | Updated on: 26 Dec 2020, 01:54:40 PM
Banaras Hindu University

बीएचयू में जल्द खुलेगा देश का पहला अटल अध्ययन केंद्र (Photo Credit: IANS)

वाराणसी:

पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में देश का पहला सेंटर फॉर स्टडीज सेंटर खुलने जा रहा है. समाजिक विज्ञान संकाय में चलने वाले इस केंद्र में देश की जानी-मानी राजनीतिक हस्तियों के पूरे जीवन के इतिहास-विकास का पूर्ण अध्ययन और शोध होगा. बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान संकाय के डीन प्रो. कौशल किशोर मिश्रा ने बताया कि, "भारत रत्न देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी के नाम पर बीएचयू में अटल अध्ययन केंद्र स्थापित किया जा रहा है. इसमें करीब 1 दर्जन से ज्यादा पाठ्यक्रम की शुरूआत होगी."

यह भी पढ़ें : बांदा में हैंडपंप के इस्तेमाल के चलते हुई दलित की पिटाई

उन्होंने बताया कि, "अटल अध्ययन केंद्र में अटल के जीवन के साथ, मोदी, योगी युग तक की राजनीति, प्राचीन भारतीय राजनीतिक चिंतन, आधुनिक राजनीतिक चिंतन, राष्ट्रधर्म, हिन्दुत्व, पुराषार्थ, लोकतंत्र, संविधान, रोजगार सृजन के तरीके, भारतीय राजनीतिक चिंतन पद्धति, स्वतंत्र भारत की विकास यात्रा, सांस्कृतिक राष्ट्रवाद, लोकतंत्र संविधान आदि विषयों पर अध्ययन और शोध चलेगा. यह अपने आप में देश का पहला प्रस्तावित सेंटर है."

यह भी पढ़ें : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने पार्टी छोड़ी, प्रियंका को ठहराया जिम्मेदार

उन्होंने बताया कि, "सेंटर फॉर अटल स्टडीज का पहले विभाग स्तर पर प्रारूप बन रहा है. फिर नीति निर्धारक कमेटी में जाएगा. इसके बाद एकेडमिक कांउसिल में डिस्कस होगा. फिर वहां से पास होंने के बाद एग्जिक्यूटिव कमेटी कांउसिल में पास जाएगा. इसके बाद इसे केंद्र सरकार को भेज दिया जाएगा. पहला अध्ययन केंद्र बनने के बाद इसमें विभिन्न पाठ्यक्रम चलेंगे. फरवरी के अखिरी तक समाजिक विज्ञान केंद्र शुरू हो जाएगा."

यह भी पढ़ें : स्वामीनाथन रिपोर्ट को दबाने वाली कांग्रेस ने कभी किसानों का हित नहीं चाहा : योगी

कौशल किशोर ने बताया कि प्राचीन मध्यकालीन आधुनिक भारत की ज्ञान परंपरा को उद्घाटित करना और युवाओं को प्रेरित करना इस सेंटर का उद्देश्य है. इसमें गांधी, नेहरू, अटल के अलावा अन्य कई बड़े राजनीतिज्ञ के व्यक्तित्व का अध्ययन होगा. यह किसी विचार धारा से प्रेरित नहीं होगा. यह होलस्टिक सेंटर है. भारत के समाजिक विज्ञान के जरिए युवाओं को प्रेरित करना इस सेंटर का लक्ष्य है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 26 Dec 2020, 01:47:04 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो