News Nation Logo

सुन्नी वक्फ बोर्ड की बैठक से पहले ही सदस्य दो फाड़, बोले मस्जिद के लिए नहीं चाहिए सरकारी जमीन

सुन्नी वक्फ की बैठक शुरू होने से पहले ही सदस्य दो फाड़ हो गए. बोर्ड के 2 सदस्यों ने इस बैठक का बहिष्कार कर दिया. इस सदस्यों का कहना है मस्जिद के लिए सरकारी जमीन नहीं लेनी चाहिए.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 24 Feb 2020, 01:01:33 PM
मोहसिन रजा

मोहसिन रजा (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

सुन्नी वक्फ की बैठक शुरू होने से पहले ही सदस्य दो फाड़ हो गए. बोर्ड के 2 सदस्यों ने इस बैठक का बहिष्कार कर दिया. इस सदस्यों का कहना है मस्जिद के लिए सरकारी जमीन नहीं लेनी चाहिए. बोर्ड के सदस्य अब्दुल रज्जाक और इमरान माबूद ने इसका जमकर विरोध किया. बैठक जब शुरू हुई तो इसमें बोर्ड के 8 में से सिर्फ 6 सदस्य ही पहुंचे.

यह भी पढ़ेंः आगरा एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, आनंदीबेन पटेल करेंगे ट्रंप का स्वागत

बोर्ड के चेयरमैन ज़ुफर फारूकी की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में अदनान फरूक शाह, जुनैद सिद्दीकी, सैयद अहमद अली, अबरार अहमद और जुनीद अहमद पहुंचे. बोर्ड के सदस्य अब्दुल रज़्ज़ाक खान और इमरान माबूद ने इस बैठक का बहिष्कार कर दिया.

यह भी पढ़ेंः डोनाल्ड ट्रंप के स्वागत के लिए पूरी तरह से आगरा तैयार, साढ़े 12 बजे से आम लोगों के लिए ताजमहल बंद

5 एकड़ जमीन पर नहीं बनी सहमति
5 एकड़ जमीन के मुद्दे पर अल्पसंख्यक मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि सरकार ने कोर्ट के आदेश के मद्देनजर सुन्नी वक्फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन देने का फैसला किया है, कुछ ही दिन में मंदिर का शिलान्यास होगा और दूसरी तरफ 5 एकड़ जमीन में अगर वक़्फ़ बोर्ड मस्जिद और साथ मे किसी और चीज का निर्माण करता है तो ये साम्प्रदायिक सौहार्द का बड़ा कदम होगा. उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि सुन्नी वक़्फ़ बोर्ड 5 एकड़ जमीन स्वीकार कर लेगा.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 24 Feb 2020, 01:01:33 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.