News Nation Logo

BJP विधायक की बेटी और उनके पति अदालत में कर सकते हैं विवाह

पहले कहा जा रहा था कि दंपति ने कथित तौर पर यहां मंदिर में शादी की और इसका एक प्रमाण-पत्र लिया, लेकिन बाद में पुजारी ने यह कहते हुए शादी करवाने की बात से इनकार कर दिया कि प्रमाण-पत्र नकली था.

IANS | Edited By : Sunil Mishra | Updated on: 13 Jul 2019, 02:42:10 PM
साक्षी मिश्रा, विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्‍पू भरतौल की बेटी (फाइल)

highlights

  • 15 जुलाई को इलाहाबाद हाई कोर्ट में होगी सुनवाई
  • 3 जुलाई से साक्षी और उसके पति छुपकर रह रहे हैं
  • साक्षी ने पिता पर लगाया विवाह के खिलाफ होने का आरोप

लखनऊ:  

उत्तर प्रदेश से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा और उनके पति अब अदालत में पंजीकृत विवाह का विकल्प चुन सकते हैं. उनके अंतरजातीय विवाह के बाद से ही एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया है. साक्षी एक ब्राह्मण हैं, जबकि उनके पति अजितेश कुमार दलित परिवार से आते हैं. इससे पहले प्रयागराज में राम जानकी मंदिर का पुजारी अपने बयान से पलट गया था, जिसके बाद से दंपति द्वारा पंजीकृत विवाह पर विचार किया जा रहा है. पहले कहा जा रहा था कि दंपति ने कथित तौर पर यहां मंदिर में शादी की और इसका एक प्रमाण-पत्र लिया, लेकिन बाद में पुजारी ने यह कहते हुए शादी करवाने की बात से इनकार कर दिया कि प्रमाण-पत्र नकली था.

यह भी पढ़ें : साक्षी के पिता BJP विधायक राजेश मिश्रा ने कहा- ज्यादा परेशान किया तो कर लूंगा आत्महत्या

सूत्रों के अनुसार, दंपति इलाहाबाद उच्च न्यायालय में उपस्थित होंगे, जहां उनकी याचिका पर सुनवाई 15 जुलाई को होगी. सूत्रों ने कहा है, "वे न्यायालय से अनुरोध करने के बाद अपनी शादी 16 जुलाई को अदालत में पंजीकृत करवाएंगे."

3 जुलाई से साक्षी और उनके पति घरवालों से छुपकर भाग रहे हैं. दंपति शुक्रवार को एक समाचार चैनल पर आए और बरेली से भाजपा के विधायक व साक्षी के पिता राजेश मिश्रा पर आरोप लगाया कि वह जाति कारणों से विवाह के खिलाफ हैं. दंपति और अजितेश के पिता हरीश कुमार ने आरोप लगाया है कि एसएसपी बरेली मुनिराज जी ने रक्षा और सुरक्षा के लिए उनके कॉल का जवाब देने से इनकार कर दिया.

यह भी पढ़ें : BJP विधायक राजेश मिश्रा की बेटी ने सुनाई आपबीती, बताई रिश्ते की कहानी, देखें Video

हालांकि, मामला सुर्खियों में आने के बाद, एसएसपी ने अब कहा है कि दंपति को पुलिस सुरक्षा मिलेगी ताकि वे सुरक्षित रूप से अदालत में पेश हो सकें.

First Published : 13 Jul 2019, 02:42:10 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.