News Nation Logo
Banner

UP : बलिया गोली कांड पर DIG का बयान- मुख्य आरोपी को भेजा गया जेल, लेकिन... 

Ballia Murder Case : बलिया गोली कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह को एसटीएफ ने पिछले दिनों गिरफ्तार कर लिया था. इस मामले में आजमगढ़ रेंज के डीआईजी सुभाष चंद्र दूबे ने कहा कि मुख्य आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा गया.

Written By : रतिश त्रिवेदी | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 19 Oct 2020, 11:49:19 PM
dhirendrapratapsingh

Ballia Murder Case (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली:

Ballia Murder Case : बलिया गोली कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह को एसटीएफ ने पिछले दिनों गिरफ्तार कर लिया था. इस मामले में आजमगढ़ रेंज के डीआईजी सुभाष चंद्र दूबे ने कहा कि मुख्य आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजा गया. हालांकि, आरोपी की पुलिस कस्टडी ली जाएगी, क्योंकि असलहा अभी बरामद नहीं हुआ है. 

आपको बता दें कि एसटीएफ की टीमों ने बलिया कांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह को जनेश्वर मिश्र पार्क के पास से पकड़ा था. इस मामले में अब तक 8 नामजद और करीब 25 अज्ञात आरोपियों में सिर्फ 7 की गिरफ्तारी हुई थी. इनमें भी सिर्फ दो ही नामजद हैं. 

डीआईजी ने कहा कि पीसीआर एक हफ्ते का दायर करने जा रहे हैं. असलहा की बरामदगी के लिए एक हफ्ते की पुलिस कस्टडी डिमांड मांगने जा रहे हैं. रिमांड की प्रक्रिया करने जा रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि दूसरे पक्ष की भी जांच कर कार्रवाई की जाएगी. इस पूरे मामले में जो भी तथ्य सामने आएगा, उसकी जांच कर कार्रवाई होगी.

आपको बता दें कि ये घटना बलिया के रेवती थाना क्षेत्र की है. जहां दुर्जनपुर गांव में हुए इस गोलीकांड का मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह उर्फ डब्ल्यू भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का नेता बताया जाता है. वहां कोटे की दुकान को लेकर खुली बैठक बुलाई गई थी. आरोप है कि धीरेंद्र और उसके समर्थकों ने वहां फायरिंग की. जिसमें एक व्यक्ति की जान चली गई. हालांकि, बीजेपी के जिलाध्यक्ष ने सफाई दी कि धीरेंद्र पार्टी में किसी पद पर नहीं है.

एनएसए और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपियों पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) और गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई होगी. आरोपियों की तलाश में पुलिस की दर्जन भर टीमें जुटी हुई थीं. धीरेंद्र सिंह से पहले सिर्फ दो नामजद आरोपियों देवेंद्र प्रताप सिंह और नरेंद्र प्रताप सिंह को गिरफ्तार किया जा सका था. ये दोनों मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह के भाई हैं. बताते हैं कि फरार मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह सेना का रिटायर्ड जवान है. वह भूतपूर्व सैनिक संगठन की बैरिया तहसील इकाई का अध्यक्ष भी है.

योगी सरकार सियासत के भंवर में

इस गोलीकांड पर सिसायत भी जमकर हो रही है. धीरेंद्र सिंह की बीजेपी से नजदीकियों के चलते विपक्ष लगातार योगी सरकार पर हमलावर है. रविवार को प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर निशाना साधा. यही नहीं, आरोपी का सत्ताधारी दल से जुड़ाव की बात सामने आने के बाद समाजवादी पार्टी (सपा), कांग्रेस और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) बीजेपी को घेरने में जुटे हैं. इससे आजिज बीजेपी के जिलाध्यक्ष को सफाई देनी पड़ी कि धीरेंद्र पार्टी में किसी पद पर नहीं है.

First Published : 19 Oct 2020, 05:13:31 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो