News Nation Logo
Banner

सुनील राठी ने खोला मुन्ना बजरंगी की हत्या का राज, कानून व्यवस्था को लेकर ट्विटर पर भिड़े अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या के बाद शव को उसके पैतृक स्थल जौनपुर लाया गया।

News Nation Bureau | Edited By : Vineet Kumar1 | Updated on: 10 Jul 2018, 11:00:56 AM
मुन्ना बजरंगी

मुन्ना बजरंगी

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के कुख्यात बदमाश मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या के बाद शव को उसके पैतृक स्थल जौनपुर लाया गया।

प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी यूपी के जौनपुर जिले के पूरेदयाल गांव का रहने वाला था। उसने 5वीं क्लास के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी और किशोरावस्था में जुर्म की दुनिया में कदम रखा था।

इस हत्याकांड में कुख्यात बदमाश सुनील राठी का नाम सामने आ रहा है।

टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के अनुसार पुलिस पूछताछ में सुनील राठी ने बताया कि मुन्ना ने उसके शरीर को लेकर टिप्पणी की थी जिससे गुस्सा होकर उसने उसे गोली मार दी।

सुनील ने पुलिस को बताया, 'उसने मुझसे कहा कि मैं बहुत मोटा हूं। मुझे यह पसंद नहीं आया। मैंने बजरंगी से कहा कि पहले खुद को देखो। जिसके बाद हम दोनों के बीच बहस शुरू हो गई और उसने माउजर बंदूक मेरे ऊपर तान दी। मैंने बंदूक खींच ली और उसे लात मारकर गिरा दिया। जैसे ही वह गिरा, मैंने बंदूक की पूरी गोली उस पर खाली कर दी।'

हालांकि, पुलिस अधिकारियों को मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे यह वजह हजम नहीं हो रही है।

बता दें कि मुन्ना बजरंगी पहले से ही बागपत जेल में बंद था।

इससे पहले मुन्ना बजरंगी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया था कि उसके शरीर में कोई भी गोली नहीं मिली। सारी गोलियां उसके शरीर को छेदते हुए बाहर निकल गई हैं, जिस कारण यह अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता कि कितनी गोलियां लगी थी।

और पढ़ें: मुन्ना बजरंगी हत्याकांड में सामने आ रहा है बदमाश सुनील राठी का नाम!

वहीं जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या को लेकर अखिलेश यादव ने ट्वीट कर योगी सरकार में कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए निशाना साधा।

अखिलेश ने ट्वीट कर लिखा, 'आज यूपी में न तो क़ानून बचा है न व्यवस्था, हर तरफ़ दहशत का वातावरण है। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि वो जेल तक में हत्याएं कर रहे हैं। ये सरकार की विफलता है। प्रदेश की जनता इस भय के माहौल में बहुत डरी-सहमी है। प्रदेश ने ऐसा कुशासन व अराजकता का दौर पहले कभी नहीं देखा।'

वहीं अखिलेश के ट्वीट पर योगी सरकार के मीडिया प्रभारी मृत्युंजय ने पलटवार करते हुए एसपी काल के दौरान जेल में हुई हत्या की घटनाओं का ब्यौरा ट्वीट कर दिया।

उन्होंने लिखा,'यूपी को जंगलराज में तब्दील करने वाले को अपने शासन में जेलों की हालत को याद करना चाहिए । नीचे सिर्फ़ दो तीन घटनाओं का उल्लेख है, देख लीजिएl और डिटेल चाहिए तो भेज दूँगा। यह बताना चाहिए कि सैमसंग नोएडा से क्यों भाग रहा था ? कौन लोग उसे परेशान कर रहे थे?'

और पढ़ें: निर्भया गैंगरेप के दोषियों को मिलेगी फांसी, SC का राहत से इंकार

First Published : 10 Jul 2018, 10:53:04 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.