News Nation Logo
Banner

AyodhyaVerdict:रामजन्‍म भूमि पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद ऐसा था अयोध्‍या का मिजाज

राम मंदिर पर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद धार्मिक नगरी अयोध्या के निवासियों ने आपसी सौहार्द की अनूठी मिसाल पेश की है.

Bhasha | Updated on: 09 Nov 2019, 09:58:04 PM
आपसी सौहार्द की अनूठी मिसाल

आपसी सौहार्द की अनूठी मिसाल (Photo Credit: PTI)

अयोध्या:

राम मंदिर पर उच्चतम न्यायालय का फैसला आने के बाद धार्मिक नगरी अयोध्या के निवासियों ने आपसी सौहार्द की अनूठी मिसाल पेश की है. स्थानीय लोगों का कहना है कि अयोध्या अभी तक विवादों के लिए जाना जाता था लेकिन अब परस्पर सौहार्द के लिए जाना जाएगा और भाईचारे के अनूठी मिसाल पेश करेगा. नवीन सब्जी मंडी के आढ़ती विजय पांडे ने कहा कि शीर्ष अदालत के फैसले से पूरी अयोध्या खुश है और यहां पूरी तरह अमन-चैन कायम है. अयोध्या के मुख्य चौक पर रेस्तरां चलाने वाले तनवीर अहमद ने कहा कि उच्चतम न्यायालय के फैसले से हमें खुशी है क्योंकि अब वर्षों से चला आ रहा तनाव और विवाद खत्म हो गया है.

लाल कोठी में रहने वाले महंत बालमुकुंद और महंत बालक राम ने बताया कि करोड़ों लोगों की निष्ठा के प्रतीक भगवान श्रीराम को लेकर अदालत ने जो फैसला सुनाया है, उसे युगों युगों तक याद किया जाएगा. मूक बधिरों का स्कूल चलाने वाली रानी अवस्थी ने कहा कि अब सरकार को अदालत के फैसले का सम्मान करते हुए जल्द से जल्द राम मंदिर निर्माण सुनिश्चित करना चाहिए. चौक की सड़क पर एक ओर हिन्दू तो दूसरी ओर मुसलमानों की दुकानें हैं. शहर की सभी दुकानें खुली हैं.

यह भी पढ़ेंः वॉशिंगटन पोस्ट से लेकर डॉन तक ने क्‍या लिखा अयोध्‍या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले (Ayodhya Verdict) के बारे में, जानें यहां

कुछ जगहों पर मुस्लिम समुदाय के लोग हिन्दुओं को मिठाई खिलाते और गले मिलते दिखे. पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स के जवान गाड़ियों के काफिले में पूरे शहर में गश्त कर रहे थे. स्थानीय विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने ‘भाषा’ को बताया कि उनकी दूसरे पक्ष के लोगों से मुलाकात हुई है . अदालत के फैसले से सब संतुष्ट हैं. शहर में अमन चैन है. इस बीच सरयू नदी के किनारे नया घाट का नजारा शनिवार को बदला-बदला सा नजर आया. श्रद्धालुओं को लेकर जाने वाली बसों की संख्या सैकड़ों में थी लेकिन श्रद्धालु काफी कम थे. अयोध्या बाईपास से नया घाट तक की दूरी लगभग दो किलोमीटर है और इस रास्ते पर यूपी रोडवेज की बसों की लंबी कतार लगी हुई थी.

यह भी पढ़ेंः AyodhyaVerdict: राम लला को 500 साल के वनवास से मुक्‍त कराने वाले 92 वर्ष के इस शख्‍स की पूरी हुई अंतिम इच्‍छा

बस कंडक्टर श्रद्धालुओं को बुलाकर बस में बैठा रहे थे. मौके पर मौजूद यातायात पुलिस के अधिकारियों और बस चालकों ने बताया कि कल रात से शनिवार दोपहर तक 1000 से अधिक बसें आ चुकी हैं. अभी भी लगभग 700 बसें यहां खड़ी है. नया घाट पर कोई विशेष गतिविधि नहीं थी . इक्का-दुक्का श्रद्धालु डुबकी लगाते नजर आए . एक भी पंडा नहीं दिखा . केवल पुलिसकर्मी, मीडिया के लोग और कुछ साधु संत नजर आए. मौके पर मौजूद लोगों ने बताया कि हमें यह उम्मीद नहीं थी कि फैसला आज ही आ जाएगा. कल श्रद्धालुओं की काफी भीड़ थी लेकिन प्रशासन ने रोडवेज की बसों का भरपूर इंतजाम किया था जो सभी श्रद्धालुओं को उनके गंतव्य पर ले गईं.

यह भी पढ़ेंः AyodhyaVerdict: अयोध्या फैसले पर देखें पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर राहुल गांधी तक ने क्‍या कहा

देवकाली पुलिस चौकी के सामने की सड़क पर बैरियर लगे हैं. यहां तैनात पुलिसकर्मियों और केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवानों ने बताया कि केवल स्थानीय वाहनों को प्रवेश दिया जा रहा है ताकि यहां रहने वालों को आवाजाही में किसी तरह की दिक्कत ना होने पाए लेकिन अयोध्या से बाहर के जो भी वाहन आ रहे हैं उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया जा रहा है. पंडित हरि मोहन मिश्रा अयोध्या नगरी में मंदिरों का दर्शन करके लौटे थे. उन्होंने बताया कि वाहन भले ही ना जा रहे हों लेकिन पैदल जाने की पूरी इजाजत है . मंदिरों में पूजा-अर्चना हो रही है .

यह भी पढ़ेंः AyodhyaVerdict: मुस्‍लिम देशों में सबसे ज्‍यादा सर्च किया गया अयोध्‍या, जानें क्‍या खोज रहा था पाकिस्‍तान 

फैसला आने के बाद लोगों में खुशी का माहौल है समाजवादी पार्टी के नेता एवं व्यापार मंडल के महासचिव रत्नाकर दुबे ने ‘भाषा’ को बताया कि फैसला अत्यंत संतोषजनक है. लोगों में खुशी और उत्साह है. हम अदालत के फैसले का सम्मान करते हैं. नंद कान्वेंट स्कूल के संचालक राजेश नंद ने भी फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि लोगों में उत्साह है लेकिन कहीं से कोई गलत बयानी या उपद्रव की खबर नहीं है . अयोध्या मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले से पहले सुबह उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से धार्मिक नगरी अयोध्या के बीच सड़क मार्ग पर गतिविधियां तेज थी.

यह भी पढ़ेंः Top 10 News: जानें अयोध्‍या पर फैसले से लेकर करतारपुर तक की आज की महत्‍वपूर्ण खबरें

लखनऊ फैजाबाद राजमार्ग पर जगह-जगह बैरियर नजर आए और पुलिस कर्मी गाड़ियों की चेकिंग करते दिखे और सुरक्षा का भारी भरकम इंतजाम जगह-जगह मिला. सफेदाबाद के किसान राम मिलन सिंह ने कहा कि फैसला कुछ भी आए लेकिन माहौल बिगड़ना नहीं चाहिए. हम अपनी ओर से यही चाहते हैं किसी की भावनाओं को भड़काया ना जाए. कुल मिलाकर रास्ते में पड़ने वाले तमाम गांव रोजमर्रा की ही तरह थे हालांकि हर किलोमीटर पर भारी पुलिस बल तैनात दिखा मुस्तैद नजर आया और सोशल मीडिया से लेकर संचार साधनों पर सरकार की ओर से शांति बनाए रखने की अपील चर्चा का विषय ज़रूर रही.

यह भी पढ़ेंः Big News: अयोध्‍या पर दिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सुन्नी वक्फ बोर्ड कोई रिव्यू फाइल नहीं करेगा

हनुमानगढ़ी मंदिर के महंत राजू दास ने बताया कि मंदिर में सामान्य हवन और आरती का कार्यक्रम होगा. इस मौके पर कोई विशेष पूजा नहीं होगी. दिन में अयोध्या मंडल के सूचना उपनिदेशक मुरलीधर सिंह ने बताया कि अयोध्या के मंडलायुक्त मनोज मिश्रा, महानिरीक्षक संजीव गुप्ता, जिलाधिकारी अनुज झा और एसएसपी आशीष तिवारी ने हेलीकॉप्टर से हवाई सर्वे कर हालात का जायजा लिया. स्थिति सामान्य है. एसएसपी ने कहा कि पुलिस की गश्त जारी रहेगी. हम सोशल मीडिया पर नजदीकी निगाह रखे हुए हैं. हमारा प्रयास है कि आम आदमी सुरक्षित महसूस करे और उसे कम से कम असुविधा हो. भाषा अमृत अमित नीरज नीरज

First Published : 09 Nov 2019, 09:54:49 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

Related Tags:

Ayodhya AyodhyaVerdict
×