logo-image

Ayodhya Diwali 2023: अयोध्या में भव्य दीपोत्सव कार्यक्रम, 50 देश के राजनयिक शामिल

Ayodhya Diwali 2023: सरयू नदी के राम की पैड़ी पर 24 लाख दीए जलाए गए. इसके साथ ही शाम में लेजर लाइट शो कार्यक्रम प्रदर्शित किया गया.

Updated on: 11 Nov 2023, 07:24 PM

नई दिल्ली:

Ayodhya Diwali 2023: पूरे देश में दिवाली का त्योहार बड़े ही धुमधाम से मनाया जा रहा है. इस पर्व की पूर्व संध्या पर दीपोत्सव से पहले रामायण, रामचरितमानस सहित कई चीजों पर बेस्ड कुल 18 झांकियों का भव्य शोभायात्रा निकाली गई. इस शोभायात्रा में स्थानीय कलाकारों ने भी कई प्रोग्राम पेश किए. लोगों में इस शोभायात्रा को देखने की भीड़ लग गई. कई जगह तो लोगों ने इस पर फुलों की बारिश की वहीं कुछ ने झांकियों की आरती भी उतारी. ये झांकी शहर के कई जगहों से गुजरी. 

जानकारी के अनुसार ये शोभायात्रा अयोध्या शहर के उदया चौराहे से लेकर शहर के अलग-अलग रास्तों को पार करते हुए समाप्ति रामकथा पार्क के पास हुई. इस आयोजन पर यूपी के टूरिज्म मंत्री जयवीर सिंह ने इस शोभायात्रा का शुभारंग किया. वहीं दीपोत्सव के दौरान, सरयू नदी के राम की पैड़ी पर 24 लाख दीए जलाए गए. इसके साथ ही शाम में लेजर लाइट शो कार्यक्रम प्रदर्शित किया गया. जानकारी के अनुसार इन झांकियों को राज्य के टूरिज्म और इंफोर्मेशन डिपार्मेंट की ओर से आयोजित की गई की थी. 

ये रही झांकियां

इन झांकियों में भयमुक्त समाज, गुरुकुल शिक्षा एवं बच्चों का अधिकार, आधारभूत शिक्षा, बाल अधिकार, महिला सुरक्षा एवं कल्याण, वन और पर्यावरण की रक्षा, विज्ञान और प्रोद्योगिकी जैसे मुद्दों पर बेस्ड हैं. इसमें सरकारी के योजनाओं की जानकारी, कानून का राज जैसे विषय भी शामिल थे. इसके अलावा रामचरितमानस, लंका दहन, शबरी और भगवान राम का मिलना, राम कथा जैसे भक्तिमय झांकियां भी शामिल थी. इस प्रोग्राम को देखने के लिए पूरे देशभर के कलाकार और पर्यटक आए हुए थे. 

50 देशों के राजयनिक शामिल

इस कार्यक्रम को देखने लिए इतनी भीड़ थी कि लोग सड़क किनार ही खड़े होकर देख रहे थे. इस भव्य कार्यक्रम पर पर्यटन मंत्री ने कहा कि राम की नगरी अयोध्या में एक बार फिर भव्य तरीके से दीपोत्सव प्रोग्राम किया जा रहा है. यहां एक बार फिर दीए जलाए जाने का नया रिकॉर्ड बन रहा है. उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम में सीएम योगी भगवान राम का राज्याभिषेक करेंगे. इस कार्यक्रम में दुनिया के 50 देशों के राजयनिक भी इस आयोजन के साक्षी बनेंगे.

बना नया रिकॉर्ड

मंत्री जयवीर सिंह ने कहा कि इस दीपोत्सव की शुरुआत 2017 में सीएम योगी की अगुवाई में की गई थी. उस साल 51 हजार दीए जलाए गए थे. वहीं 2019 में यह बढ़कर 4.10 लाख दीए जलाए गए. साल 2020 में 6 लाख से ज्यादा दीए जलाए गए. इसके बाद 2021 में 9 लाख से अधिक दिए जलाकर गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया गया. इस साल 24 लाख दीए जलाकर नया रिकॉर्ड बनाया गया है.