News Nation Logo
Breaking
Banner

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने ग्राम पंचायत अधिकारी के खाली पद को भरने का निर्देश दिया

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की 2015 की ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती में खाली रह गए पदों को भरने के करुणेश कुमार केस में दिए गए फैसले के तहत कार्रवाई पूरी करने का निर्देश दिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 11 Jan 2020, 11:42:06 AM
इलाहाबद हाईकोर्ट।

इलाहाबद हाईकोर्ट। (Photo Credit: फाइल फोटो।)

लखनऊ:  

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की 2015 की ग्राम पंचायत अधिकारी भर्ती में खाली रह गए पदों को भरने के करुणेश कुमार केस में दिए गए फैसले के तहत कार्रवाई पूरी करने का निर्देश दिया है. न्यायमूर्ति एमसी त्रिपाठी ने जौनपुर के संतोष कुमार त्रिपाठी व अन्य की याचिका को निस्तारित करते हुए दिया है. याची के अधिवक्ता मुजीब अहमद सिद्दीकी का कहना था कि UPSSC ने 2015 में 3587 ग्राम पंचायत अधिकारियों की भर्ती निकाली थी.

यह भी पढ़ें- Kannauj Bus Accident : अगर प्रशासन कुम्भकरण की तरह न सोता तो मौत की टक्कर न होती

जिसके लिए लिखित परीक्षा कराई गई थी. इसके बाद साक्षात्कार लिया गया था. परिणाम घोषित हुआ लेकिन तमाम चयनित लोगों ने कार्यभार ग्रहण नहीं किया. जिसके कारण यह पद खाली ही रह गई. हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई लेकिन एकल पीठ से राहत नहीं मिली.

यह भी पढ़ें- UP के इन शहरों में लागू हो सकता है कमिश्नर सिस्टम, नहीं होंगे SSP

जिसके आदेश के खिलाफ विशेष अपील को स्वीकार करते हुए हाईकोर्ट ने राज्य सरकार एवं आयोग को अपीलकर्ताओं की नियुक्ति पर विचार करने का निर्णय लेने का निर्देश दिया कि नियुक्ति प्रक्रिया 21 दिसंबर 2018 तक पूरी कर ली जाए. इस आदेश के खिलाफ राज्य सरकार ने पुनर्विचार अर्जी डाली थी. जिसे कोर्ट ने 30 अक्टूबर 2019 को खारिज कर दिया. लेकिन इसके बावजूद भी अभ्यार्थियों की नियुक्ति नहीं की जा रही है.

First Published : 11 Jan 2020, 11:42:06 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.