News Nation Logo

आजम खान से मेदांता में मिले अखिलेश यादव, पत्रकारों के सवाल पर क्यों भड़के

प्रो. रामगोपाल यादव के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने के सवाल पूछने पर अखिलेश यादव  भड़क गए. बोले आपको सरकार से विज्ञापन मिलता है इसलिए उसकी तरफ से बात करना चाहते हो .

News Nation Bureau | Edited By : Pradeep Singh | Updated on: 04 Aug 2022, 08:27:06 PM
Azam Khan

आजम खान, सपा विधायक (Photo Credit: News Nation)

नई दिल्ली:  

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान एक बार फिर लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती हैं. सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव आज मेदांता हॉस्पिटल में आजम खान को देखने पहुंचे. आजम खान मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती हैं उनकी तबीयत खराब है और आजम खान का हालचाल जानने के लिए अखिलेश यादव मेदांता हॉस्पिटल पहुंचे थे. सपा सुप्रीमो अखिलेख यादव जब आजम खान से मिलकर हॉस्पिटल से बाहर निकले तो पत्रकारों के सवाल पर भड़क गए. प्रो. रामगोपाल यादव के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने के सवाल पूछने पर अखिलेश यादव भड़क गए. बोले आपको सरकार से विज्ञापन मिलता है इसलिए उसकी तरफ से बात करना चाहते हो. आपको सरकार का बजट मिलता है इसलिए सरकार जो पूछना चाहेगी या जो हमारे विपक्षी हैं जो चाहेंगे वह हमसे पूछोगे. 

आपको सवाल यह करना चाहिए कि फौज की भर्ती होने जा रही है कितनों को नौकरी मिलेगी. भोले नाथ के श्रद्धालुओं को दूध पर क्या जीएसटी नहीं देना होगा. जन्माष्टमी आएगी दूध का इस्तेमाल होगा और दूध-घी-मक्खन पर GST नहीं लगेगी क्या. योगी-मोदी सरकार किसानों की सूखे में क्या मदद कर रही है, धान खरीदने की क्या तैयारी है.

उन्होंने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण को सवालों के घेरे में लेते हुए कहा कि बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे 1 बारिश में ढह गया, मैं खुद बुंदेलखंड हाईवे पर चला 5 किलोमीटर के बीच दो बड़े ब्रिज इन कंपलीट थे. लाइट नहीं लगी मार्किंग नहीं, टोल का डिजाइन भी गलत हुआ है. चित्रकूट से इसे जोड़ने की बात थी लेकिन 15-20 किलोमीटर पहले ही छोड़ दिया गया. यूपी में जब टेबल टॉप एयरपोर्ट की बात हो रही है तो वह नेताजी की शुरुआत थी.

केंद्र औऱ राज्य सरकार के हर घर तिरंगा अभियान पर अखिलेश यादव ने कहा कि, भाजपा यह कोशिश करती है कि वह राष्ट्रवादी है जो उन्हें वोट नहीं देता वह राष्ट्रवादी नहीं है. झंडारोहण तो हमेशा होता रहा है. हमारा तरीका दूसरा है, 9 अगस्त को आप आइए. उनसे क्या उम्मीद करेंगे जो आज तक तिरंगा नहीं लगाए. उन्होंने कहा कि, मैंने सुना है एक हेड क्वार्टर है जहां बरसों तिरंगा नहीं लगा था. आरएसएस हेड क्वार्टर पर तिरंगा कब लगा यह बता सकते हैं? वह मदर पार्टी है, भाजपा उनका सहयोगी संगठन है. 

First Published : 04 Aug 2022, 08:27:06 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.