News Nation Logo
कल सुबह बिपिन रावत के घर जाएंगे उत्तराखंड के सीएम पुष्कर धामी प्रधानमंत्री के आवास पर सीसीएस की आपात बैठक होगी हेलीकॉप्टर हादसे में एक शख्स को​ जिंदा बचाया गया: डीएम हेलीकॉप्टर हादसे पर बयान जारी करेगी वायु सेना वायुसेना ने CDS बिपिन रावत की मौत की पुष्टि की वायुसेना ने सीडीएस बिपिन रावत की मौत की पुष्टि की DNA टेस्ट से होगी शवों की पहचान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सेना के हेलीकॉप्टर हादसे के बारे में पीएम मोदी को दी जानकारी हेलीकॉप्टर क्रैश में अब तक 13 लोगों की मौत की पुष्टि हेलीकॉप्टर क्रैश के बाद CDS बिपिन रावत के घर पहुंचे एमएम नरवणेRead More » CDS बिपिन रावत के हेलीकॉप्टर क्रैश मामले में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह कल संसद में देंगे बयान ढाई बजे हेलीकॉप्टर में लगी आग बुझाई गई

अखिलेश ने डॉक्टर से सिर्फ इसलिए अभद्रता की क्योंकि उसके नाम में 'मिश्रा' लिखा था : बीजेपी नेता

पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी (Samajwadi party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) द्वारा कन्नौज में डॉक्टर को सरकार का आदमी बताते हुए भगाने के मामले में बीजेपी (BJP) ने निशाना साधा है.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 14 Jan 2020, 12:34:37 PM
राकेश त्रिपाठी।

राकेश त्रिपाठी। (Photo Credit: News State)

लखनऊ:

पूर्व सीएम और समाजवादी पार्टी (Samajwadi party) के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) द्वारा कन्नौज में डॉक्टर को सरकार का आदमी बताते हुए भगाने के मामले में बीजेपी (BJP) ने निशाना साधा है. बीजेपी का आरोप है कि एक विशेष जाति से संबंध रखने के कारण अखिलेश यादव ने डॉक्टर के साथ अभद्रता की है. बीजेपी का कहना है कि अखिलेश यादव डॉक्टर से अपने व्यवहार के लिए माफी मांगे.

लखनऊ के बीजेपी नेता राकेश त्रिपाठी ने कहा कि ''ये अखिलेश यादव जी के संस्कार हैं. हल्ला बोल की राजनीति से उन्होंने यही सीखा है. और उन्हें कैसे बर्दाश्त हो सकता है. वह पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव जी के पुत्र हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके हैं. जब से उनकी पत्नी कन्नौज से हारी हैं. तबसे जब भी वह कन्नौज जाते हैं हार की टीस आक्रोश के रूप में निकलती है. जिस तरह से उन्होंने इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर के साथ अभद्र व्यवहार किया है. उन्हें माफी मांगनी चाहिए. क्योंकि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता उनसे इसी प्रकार की सीख लेंगे और फिर मारपीट और गुंडागर्दी पर उतारू हो जाते हैं. समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री के लिए इस तरह की भाषा शोभा नहीं देती है. इसलिए उन्हें अपने व्यवहार के लिए माफी मांगनी चाहिए. डॉक्टर धरती का भगवान होता है. ऐसे में आपका व्यवहार अति निंदनीय है. अखिलेश जी ने अभद्रता सिर्फ इस लिए की है क्योंकि डॉक्टर के नेम प्लेट पर मिश्रा लिखा था.''

क्या हुआ था

दरअसल अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) कन्नौज बस हादसे (Kannauj Bus Accident) के घायलों से मिलने पहुंचे थे. जहां वह लोगों से मुलाकात कर रहे थे. यहां घायलों के परिजनों का कहना था कि बस में करीब 80 लोग सवार थे. जिनमें से कम से कम 50 लोग मारे गए हैं. तभी एक व्यक्ति ने कहा कि उसे मुआवजे का चेक नहीं मिला है. जिस पर वहां मौजूद इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर DS मिश्रा ने कहा कि चेक दिया गया है.

यह भी पढ़ें- अखिलेश ने सरकारी डॉक्टर को भगाया, कहा- 'तुम BJP-RSS के आदमी हो सकते हो, भाग जाओ यहां से', देखें VIDEO

इस पर अखिलेश ने कहा कि 'तुम मत बोलो, तुम सरकारी आदमी हो. हम जानते हैं कि क्या होती है सरकार. तुम इस लिए मत बोले क्योंकि तुम सरकार के आदमी हो. तुम सरकार का पक्ष नहीं ले सकते. बहुत छोटे अधिकारी हो तुम. तुम बहुत छोटे कर्मचारी हो. तुम BJP-RSS के हो सकते हो, लेकिन तुम मुझे नहीं समझा सकते हो. दूर हो जाओ तुम, एक दम दूर हो जाओ. बाहर भाग जाओ यहां से.'

क्या बोले डॉक्टर

डॉक्टर डीएस मिश्रा का कहना है कि एक मरीज ने अखिलेश यादव से कहा कि उसे मुआवजा नहीं मिला है. जिस पर वह पूर्व सीएम (Former CM Akhilesh yadav) को बताने लगे कि पीड़ित को चेक दिया गया है. लेकिन अखिलेश ने बिना उनकी पूरी बात सुने कह दिया कि आप सरकार के आदमी हैं. आप सरकार का पक्ष नहीं ले सकते. इसके बाद उन्होंने कमरे से बाहर निकल जाने को कहा.

First Published : 14 Jan 2020, 12:34:37 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.