News Nation Logo
Banner

16 विदेशी जमाती समेत 30 लोग गिरफ्तार, इलाहाबाद विवि के प्रोफेसर पर भी गिरी गाज, शरण और मदद करने का आरोप

गिरफ्तार जमातियों में 7 इंडोनेशिया और 9 थाईलैंड के हैं. इसके अलावा जमात में शामिल हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के प्रोफेसर को भी गिरफ्तार कर लिया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 21 Apr 2020, 09:33:02 AM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit: फाइल फोटो)

लखनऊ:

Coronavirus (Covid-19) : कोरोना संक्रमण (Corona Virus) के फैलाव को लेकर प्रयागराज से बड़ी खबर आ रही है. प्रयागराज में 16 विदेशी जमाती सहित 30 को गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार जमातियों में 7 इंडोनेशिया और 9 थाईलैंड के हैं. इसके अलावा जमात में शामिल हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय (Allahabad University) के प्रोफेसर को भी गिरफ्तार कर लिया है. राजनीति विज्ञान विभाग के प्रोफेसर मोहम्मद शाहिद पर आरोप है कि उन्होंने विदेशी जमातियों को शरण दिलाने और चोरी से छिपकर रहने में मदद की थी. साथ ही जमातियों के साथ इनके 12 मददगार भी शामिल हुए हैं. तीन थाना क्षेत्रों से 30 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. जमातियों की गिरफ्तारी करेली, शाहगंज और शिवकुटी इलाके से हुई है.

यह भी पढ़ें- 'बिहार सरकार घोषणा के अलावा काम करती, तो लोगों की स्थिति ऐसी नहीं होती'

मस्जिद में छुप कर रहते थे

विदेशी जमाती शहर की दो मस्जिदों में छिपकर रह रहे थे. एक इंडोनेशियाई जमाती की रिपोर्ट कोरोना (Coronavirus (Covid-19), Lockdown Part 2 Day 1, Lockdown 2.0 Day one, Corona Virus In India, Corona In India, Covid-19) पॉजिटिव आई थी. हॉस्पिटल में इलाज के बाद 2 दिन पहले ही अस्पताल से छुट्टी मिली थी. गिरफ्तार लोगों को दोपहर में कोर्ट में पेश किया जाएगा. तबलीगी जमातियों पर अब पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. सभी छुपे हुए जमातियों को ढूंढ़ कर निकाला जा रहा है. साथ ही जो लोग जमाती को छुपा कर रख रहे हैं और उसको शरण दे रहे हैं. उस पर कार्रवाई शुरू हो गई. सरकार ने निर्देश देते हूए कहा है कि जिन जमातियों को पुलिस ढूंढ़ती है, उसे बख्शा नहीं जाएगा. वहीं इससे पहले योग सरकार के मंत्री बृजेश पाठक ने बयान दिया था कि जो लोग कोरोना को छुपा रहे हैं और फैला रहे हैं उन पर अटेम्पट टु मर्डर का केस दर्ज होना चाहिए. 

यह भी पढ़ें- चीन ने भारत में 8 अरब से अधिक अमेरिकी डॉलर का निवेश किया

योगी सरकार ने दिए सख्त आदेश

वहीं इससे पहले योगी सरकार ने सख्त आदेश देते हुए कहा था कि पुलिस को दो दिन में सभी जमातियों को ढूंढे. उन्होंने कहा कि अगर दो दिन में जमाती नहीं मिले, तो थानेदारों को खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इसके बाद डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी ने सभी एडीजी, आईजी और एसएसपी को इस संबंध में निर्देश दिए थे. डीजीपी ने अभियान चलाकर जमातियों को खोजने के निर्देश दिए थे. इसके साथ ही कहा कि पुलिस, डॉक्टर, पैरामेडिकल पर हमला करने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी. ऐसे लोगों से निजी क्षति वसूली अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी. स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों का पालन न करने पर भी कार्रवाई की जाएगी. उत्तरप्रदेश में 60 फीसद से ज्यादा कोरोना पॉजिटिव तबलीगी जमात से हैं.

यह भी पढ़ें- बिहार में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 116 हुई, सोमवार को आए 17 नए मामले

पुलिस होंगे जिम्मेवार

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयास कर रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहले ही सभी जिलों के एसपी और डीएम की जिम्मेदारी तय कर चुके हैं. अब शुक्रवार को समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अब थानेदारों की जिम्मेदारी तय कर दी है. उन्हें चेतावनी दी है कि अगर उनके इलाके में कोई कोरोना संक्रमित मिला तो इसकी जिम्मेदारी उनकी होगी और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

First Published : 21 Apr 2020, 09:08:11 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो