News Nation Logo
Banner

घर में सो रहे बच्चों को गला दबाकर मार डाला, फिर पति-पत्नी ने 8वीं मंजिल से लगा दी छलांग

इंदिरापुरम के वैभव खंड में अपार्टमेंट की आठवीं मंजिल से पति और उसकी दो पत्नी संधिग्ध परिस्थितियों में कूद गए. एक महिला और पुरुष की मौत हो गई. वहीं एक महिला की जान बच गई.

By : Yogendra Mishra | Updated on: 03 Dec 2019, 02:20:54 PM

highlights

  • गाजियाबाद में आर्थिक तंगी से परेशान होकर दंपति ने की आत्महत्या
  • इंदिरापुरम के वैभवखंड में 8वीं मंजिल से कूदे दंपति
  • आत्महत्या से पहले अपने 2 बच्चों की हत्या कर दी

गाजियाबाद:

दिल्ली से सटे गाजियाबाद (Ghaziabad) के थाना इंदिरापुरम (Indirapuram) इलाके में मंगलवार की सुबह एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है. जिसमें एक सोसाइटी की आठवीं मंजिल से कूदकर दो महिलाओं और एक पुरुष ने छलांग लगा दी. जिनमें से एक महिला और पुरुष की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि एक महिला की हालत गंभीर बनी हुई थी. जैसे ही इस घटना की जानकारी सोसायटी के अन्य लोगों को मिली तो इलाके में भगदड़ मच गई. आनन-फानन में इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई.

यह भी पढ़ें- खुली हवा में कर सकेंगे कसरत, देहरादून में खुला उत्तराखंड का पहला ओपन एयर जिम

सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक महिला और पुरुष के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और घायल महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां इलाज के दौरान उसने भी दम तोड़ दिया. पुलिस ने जैसे ही घटना की जांच के लिए आठवीं मंजिल पर स्थित उनके फ्लैट को खोल कर देखा तो पुलिस के भी होश उड़ गए.

यह भी पढ़ें- अयोध्या केस : मुस्लिम पक्ष ने वकील राजीव धवन को हटाया, फेसबुक पर लिखी ये बात

क्योंकि घर के अंदर एक लड़की और एक लड़के की लाश भी बेड पर बरामद हुई. इतना ही नहीं घर में एक खरगोश भी पाला हुआ था. खरगोश भी मृत पाया गया. कमरे में एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है जिसमें पूरे परिवार का आत्महत्या किए जाने का कारण आर्थिक तंगी बताया गया है. मिली जानकारी के अनुसार मामला गाजियाबाद के थाना इंदिरापुरम इलाके के वैभव खंड स्थित कृष्णा सफायर सोसाइटी की आखिरी मंजिल पर के 806 नंबर फ्लैट का है.

जिसमें गुलशन नाम का एक शख्स और उसकी दो पत्नी संजना और प्रवीण एवं दो बच्चे रितिक (11) और रितिका (12) रहते थे. मंगलवार की सुबह घर का मुखिया गुलशन और उसकी दोनों पत्नी परवीन और संजना के द्वारा आठवीं मंजिल से छलांग लगाई गई. इस दौरान एक महिला और एक पुरुष की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि एक महिला की हालत गंभीर बनी हुई थी. लेकिन बाद में उसने बी दम तोड़ दिया.

यह भी पढ़ें- 'ये रहे पैसे, हम पांचों का अंतिम संस्कार साथ में करना' 

पुलिस ने जांच के दौरान उनके फ्लैट को खोल कर देखा तो पुलिस के भी होश उड़ गए. क्योंकि घर के अंदर 10 साल का लड़का और 12 साल की लड़की बेड पर मृत पड़े थे. घर के अंदर ही इन्हें एक खरगोश पाला हुआ था. वह खरगोश भी मृत पाया गया. और कमरे में ही एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है.

सुसाइड नोट में सुसाइड करने का कारण आर्थिक तंगी बताया गया है. जिसके पीछे इनके सगे-संबंधी राकेश वर्मा पर इन्होंने सुसाइड नोट में अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक राकेश वर्मा पर गुलशन के तकरीबन डेढ़ से 2 करोड़ रुपये थे. पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि गुलशन की जींस की फैक्ट्री थी. जिसमें उसे घाटा हो गया था जिस कारण से वह आर्थिक तंगी से जूझ रहा था. माना जा रहा है कि गुलशन के द्वारा पहले घर में पाले हुए खरगोश को मारा गया. उसके बाद दोनों बच्चों को गला दबाकर मारा गया.

फिर संजना जोकि कंपनी में बतौर मैनेजर कार्यरत थी और लंबे समय से साथ रह रही थी, पत्नी और खुद ने आठवीं मंजिल से छलांग लगा दी. गुलशन की दूसरी कथित पत्नी संजना ने भी इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया. पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है. यह भी बताया जा रहा है कि संजना गुलशन की कंपनी में पिछले 5 सालों से बतौर मैनेजर काम कर रही थी. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के आला अधिकारियों के साथ गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह खुद मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया.

First Published : 03 Dec 2019, 07:24:49 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×