News Nation Logo
Banner

दुस्‍साहसिक वारदात से दहला उत्‍तर प्रदेश: दो पुलिसकर्मियों समेत 11 लोगों की हत्‍या

उत्‍तर प्रदेश की कानून-व्‍यवस्‍था को चुनौती देती दो दुस्‍साहसिक वारदात से पूरा सूबा दहल गया.

BHASHA | Updated on: 18 Jul 2019, 01:00:00 AM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

उत्‍तर प्रदेश की कानून-व्‍यवस्‍था को चुनौती देती दो दुस्‍साहसिक वारदात से पूरा सूबा दहल गया. सोनभद्र में बेखौफ दबंगों ने जमीन की खातिर दिनदहाड़े ताबड़तोड़ गोलियां चलाकर नौ लोगों की हत्‍या कर दी, वहीं, सम्‍भल में घात लगाकर बैठे बदमाशों ने दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या कर दी और तीन कैदियों को छुड़ा लिया. राज्‍य विधानमण्‍डल का मॉनसून सत्र शुरू होने से एक ही दिन पहले बुधवार को हुई इन वारदात के बाद से सरकार और पूरा पुलिस महकमा हरकत में है. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने दोनों वारदात पर सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

यह भी पढ़ेंः कुलभूषण जाधव मामले में ICJ के फैसले पर PM Modi सहित भारतीय राजनेताओं ने क्या कहा, जानें

पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि सोनभद्र के घोरावल थाना क्षेत्र के उधा गांव में दो साल पहले ग्राम प्रधान यज्ञदत्त ने एक आईएएस अधिकारी से 90 बीघा जमीन खरीदी थी. यज्ञदत्त ने इस जमीन पर कब्जे के लिये बड़ी संख्‍या में अपने साथियों के साथ पहुंचकर ट्रैक्टरों से जमीन जोतने की कोशिश की। स्थानीय ग्रामीणों ने इसका विरोध किया. इसके बाद ग्राम प्रधान पक्ष के लोगों ने स्‍थानीय ग्रामीणों पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दी.

उन्होंने बताया कि इस वारदात में तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत हो गयी और 19 अन्य जख्मी हो गए. इस मामले में ग्राम प्रधान के भतीजों गिरिजेश और विमलेश को गिरफ्तार कर लिया गया है। बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है. पुलिस महानिदेशक ने बताया कि पुलिस ने जमीन के विवाद में ग्राम प्रधान पक्ष को पूर्व में भी पाबंद किया था और उसकी सम्पत्ति कुर्क करने की कार्रवाई भी मजिस्ट्रेट के यहां चल रही है.

यह भी पढ़ेंः आनंद कुमार के जीवन पर बनी बॉलीवुड फिल्म 'सुपर 30' बिहार में कर मुक्त

उन्होंने बताया कि इस घटना के बाद मध्य प्रदेश पुलिस को भी सतर्क कर दिया गया है. जरूरत पड़ने पर जमीन बेचने वाले आईएएस अधिकारी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी. रोंगटे खड़े कर देने वाली यह वारदात हाल के वर्षों में प्रदेश में हुई सबसे ज्यादा रक्तपात वाली घटना है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए मिर्जापुर के मण्डलायुक्त तथा वाराणसी जोन के अपर पुलिस महानिदेशक को घटना के कारणों की संयुक्त रूप से जांच करने के निर्देश दिये हैं. साथ ही लापरवाही सामने आने पर जिम्मेदारी तय करते हुए 24 घण्टे में रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिये हैं.

योगी ने इस घटना में मारे गये लोगों के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये की सहायता का एलान किया है. उन्होंने जिलाधिकारी सोनभद्र को निर्देश दिए हैं कि वह बताएं कि ग्रामवासियों को पट्टे आखिर क्यों मुहैया नहीं कराए गए थे. इस बीच सम्भल जिले में एक अन्य दुस्साहसिक वारदात में अज्ञात बदमाशों ने दो पुलिसकर्मियों की गोली मारकर हत्या करके तीन कैदियों को छुड़ा लिया.

यह भी पढ़ेंः माफिया अतीक अहमद के लखनऊ और प्रयागराज के कई ठिकानों पर CBI की छापेमारी

पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद के मुताबिक कुछ कैदियों को लेकर मुरादाबाद जा रही एक वैन को अज्ञात बदमाशों ने बनियाठेर इलाके में जबरन रोक लिया और सुरक्षा में तैनात सिपाहियों हरेन्द्र और बृजपाल को गोली मार दी. इस वारदात में दोनों सिपाहियों की मौत हो गई. घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश पुलिसकर्मियों की रायफल और तीन कैदियों को साथ लेकर भाग गए.

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून—व्यवस्था) पी.वी. रामाशास्त्री ने बताया कि मुरादाबाद की जेल से पेशी पर सम्भल जिले की चंदौसी स्थित अदालत लाये गये कुल 24 मुल्जिमों को वापस मुरादाबाद जेल ले जाया जा रहा था. रास्ते में शाम करीब पांच बजकर 20 मिनट पर बनियाठेर थाना क्षेत्र के धन्नूमल तिराहे के पास अज्ञात बदमाशों ने घात लगाकर इस वारदात को अंजाम दिया.

मुख्‍यमंत्री योगी ने इस वारदात में शहीद हुए दोनों पुलिसकर्मियों के परिजन को 50-50 लाख रुपये की सहायता और प्रत्येक शहीद पुलिसकर्मी की पत्नी को असाधारण पेंशन तथा परिवार के एक आश्रित को सरकारी नौकरी दिए जाने के भी आदेश दिए हैं. विधानमण्‍डल का मानसून सत्र शुरू होने से ठीक एक दिन पहले कानून-व्‍यवस्‍था के सामने चुनौती पेश करती इन वारदात ने विपक्ष को भी सरकार पर हमले का मौका दे दिया. सपा प्रमुख एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने सूबे की भाजपा सरकार पर अपराधियों के आगे नतमस्तक होने का आरोप लगाया.

अखिलेश ने ट्वीट कर कहा 'अपराधियों के आगे नतमस्तक भाजपा सरकार में एक और नरसंहार! सोनभद्र में भू—माफियाओं द्वारा जमीन विवाद में नौ लोगों की हत्या दहशत एवं दमन का प्रतीक.' उन्होंने वारदात में मारे गये सभी लोगों के परिजन को 20—20 लाख रुपये मुआवजा देने के साथ—साथ दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करने की मांग की.

उधर, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस मामले को लेकर योगी सरकार पर हमला किया है. उन्होंने ट्वीट किया 'भाजपा राज में अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गये हैं कि दिन—दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है. सोनभद्र में भू—माफियाओं द्वारा तीन महिलाओं समेत नौ गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया.' प्रियंका ने कहा 'प्रशासन—प्रदेश मुखिया—मंत्री सब सो रहे हैं. क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश?.'

First Published : 18 Jul 2019, 01:00:00 AM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

×