News Nation Logo

ग्रेटर नोएडा के जिम्स अस्पताल में बढ़ाया गया 100 बेड, चिकित्सा शिक्षा के प्रमुख सचिव कल करेंगे उद्घाटन

जिम्स अस्पताल ग्रेटर नोएडा में ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण, एचसीएल फाउंडेशन और डॉक्टर्स फॉर यू संगठन के संयुक्त तत्वाधान में अस्पताल में बेड की संख्या को 250 से बढ़ाकर 350 किया गया है.

Written By : मनीष चौरसिया | Edited By : Avinash Prabhakar | Updated on: 09 May 2021, 09:47:18 PM
Coronavirus

प्रतीकात्मक तस्वीर (Photo Credit: File)

नोएडा:

जनपद में बढ़ते हुए कोरोना के संक्रमण को रोकने एवं कोरोना संक्रमित व्यक्तियों का प्रोटोकॉल के अनुरूप इलाज संभव कराने के उद्देश्य से कोविड-19 के नोडल अधिकारी नरेंद्र भूषण, पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह एवं जिलाधिकारी सुहास एल वाई के नेतृत्व में प्रशासन पुलिस स्वास्थ्य प्राधिकरण एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के द्वारा युद्ध स्तर पर कार्य करते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने एवं संक्रमित व्यक्तियों को इलाज उपलब्ध कराने के उद्देश्य से निरंतर स्तर पर कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है. इसी कड़ी में जिम्स अस्पताल ग्रेटर नोएडा के निदेशक डाॅ राकेश गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि जनपद में कोरोना वायरस की दूसरी लहर को दृष्टिगत रखते हुए कोविड-19 के मरीजों के लिए जिम्स अस्पताल ग्रेटर नोएडा में ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण, एचसीएल फाउंडेशन और डॉक्टर्स फॉर यू संगठन के संयुक्त तत्वाधान में अस्पताल में बेड की संख्या को 250 से बढ़ाकर 350 किया गया है.

 उन्होंने बताया कि कोविड-19 के मरीजों का इलाज एवं सुचारू रूप से कामकाज के लिए एचसीएल फाउंडेशन ने बेड की क्षमता बढ़ाने के लिए आवश्यक उपकरण और लॉजिस्टिक्स एवं डॉक्टरों की टीम भी उपलब्ध कराई गई है, जिसमें डॉक्टर नर्स और पैरामेडिकल स्टाफ शामिल है जो मरीजों की देखभाल के लिए 24 घंटे कार्य करेंगे. उन्होंने बताया कि जिम्स अस्पताल ग्रेटर नोएडा में बढ़ाए गए 100 बेड का उद्घाटन कल 10 मई 2021 को सुबह 10.30 बजे चिकित्सा शिक्षा के प्रमुख सचिव श्री आलोक कुमार के द्वारा किया जाएगा.

इससे पहले शनिवार को नोएडा स्टेडियम परिसर के शूटिंग रेंज में अस्थाई कोविड अस्पताल बनाया गया है. नोएडा प्राधिकरण की ओर से इस अस्पताल को बनवाया गया है. इसमें गंभीर मरीज भर्ती नहीं हो सकेंगे हालांकि पहले पांच वेंटिलेटर बेड भी शुरू करने का निर्णय लिया गया था. वेंटिलेटर बेड देने के लिए एक बड़ा औद्योगिक समूह भी तैयार हो गया था, लेकिन यहां पर डॉक्टरों की सेवा देने वाली संस्था ने इनकी शुरुआत करने से इंकार कर दिया. इस वजह से प्राधिकरण भी पीछे हट गया. अब जिनका ऑक्सीजन स्तर 90 या इससे ज्यादा होगा, उन्हीं को भर्ती किया जाएगा. शनिवार सुबह इस अस्पताल की शुरुआत हो गई. पहले दिन 13 मरीज पहुंचे.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 09 May 2021, 09:47:18 PM

For all the Latest States News, Uttar Pradesh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.